गांधी परिवार भ्रष्टाचार करे और एजेंसियां जांच के लिए बुला भी नहीं सकती : भाजपा

पुनः संशोधित गुरुवार, 2 जून 2022 (17:40 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने गुरुवार को आरोप लगाया कि गांधी परिवार भारत ही नहीं बल्कि दुनिया का सबसे बड़ा भ्रष्टाचारी परिवार है और कहा कि यह उनका जन्मसिद्ध अधिकार नहीं है कि वे करें और जांच एजेंसियां उन्हें कानून के मुताबिक जांच के लिए भी नहीं बुला सकतीं।
भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने पार्टी मुख्यालय में कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर पलटवार करते हुए यह आरोप लगाए। ज्ञात हो कि से जुड़े धनशोधन के एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी नेता राहुल गांधी को समन जारी किए जाने के बाद कांग्रेस नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया था कि एक कायराना षड्यंत्र के तहत राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को निशाना बनाया जा रहा है और इसके लिए केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है।

कांग्रेस ने कहा है कि वह राजनीतिक बदले की भावना से की गई कार्रवाई के खिलाफ झुकने वाली नहीं है। भाटिया ने पलटवार में कहा कि भ्रष्ट लोगों को कानून का भय होना ही चाहिए। राजनीतिक बदले की कार्रवाई के कांग्रेस के आरोपों को खारिज करते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि न ही किसी उच्च न्यायालय और न ही उच्चतम न्यायालय ने इस आधार पर कोई भी मामला समाप्त किया है।

उन्होंने कहा कि वह चाहे सोनिया गांधी हों या राहुल गांधी हों, कोई भी कानून से ऊपर नहीं है और कानून सबके लिए बराबर है। कांग्रेस द्वारा केंद्रीय एजेंसियों पर भाजपा के इशारे पर विपक्षी नेताओं को निशाना बनाने के आरोपों पर भाटिया ने कहा कि कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों में तो जांच एजेंसियों के प्रमुखों को तलब कर लिया जाता था और उनकी रिपोर्ट बदलवा दी जाती थी।

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस के राज में भेदभावपूर्ण कार्रवाई की जाती थी। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस को देश को यह बताना चाहिए कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी दोनों भ्रष्टाचार के एक मामले (नेशनल हेराल्ड) में जमानत पर हैं जबकि सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा जमीन घोटाले में अग्रिम जमानत पर हैं। उन्होंने आरोप लगाया, भारत ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचारी परिवार अगर कोई है तो वो गांधी परिवार है।

भाटिया ने कहा कि देश की जनता एक परिवार को उम्मीद की निगाह से देख रही थी लेकिन उसने देश को लूटने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि दिल्ली उच्च न्यायालय ने 2015 में इस मामले में कार्रवाई खत्म करने की गांधी परिवार की याचिका को खारिज कर दिया था और उच्चतम न्यायालय ने भी इसमें हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया था।

सोनिया गांधी (75) को ईडी ने आठ जून को मध्य दिल्ली के अपने मुख्यालय में पेश होने को कहा है, वहीं राहुल गांधी को दो जून को पेश होने को कहा गया है। राहुल गांधी ने ईडी को पत्र लिखकर पेशी की तारीख आगे बढ़ाने का आग्रह किया है। वह इन दिनों विदेश में हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :