JNU हिंसा पर केजरीवाल का बड़ा बयान, ऐसे में दिल्ली पुलिस क्या कर सकती है

पुनः संशोधित गुरुवार, 9 जनवरी 2020 (16:17 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि में कानून-व्यवस्था बनाए रखने की पूरी क्षमता है लेकिन उसे निर्देश मिला था कि चुपचाप खड़े रहो, कोई कार्रवाई मत करो।उन्होंने सवाल किया कि ऐसे में दिल्ली पुलिस क्या कर सकती है।

केजरीवाल ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय और जामिया मिल्लिया इस्लामिया में हाल ही में हुई हिंसा के संदर्भ में यह बात कही।
उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों में हिंसा नहीं रोकने में दिल्ली पुलिस की गलती नहीं है क्योंकि वे सिर्फ ऊपर से मिले आदेश का पालन कर रहे थे।
केजरीवाल ने कहा कि अगर दिल्ली पुलिस को ऊपर से आदेश मिलता है कि कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए आपको कुछ नहीं करना है, ऐसे में दिल्ली पुलिस क्या कर सकती है।

दिल्ली के सीएम ने कहा कि जब हम सत्ता में आए थे, उस वक्त अस्पतालों और स्कूलों की हालत खराब थी। हमने डॉक्टरों या शिक्षकों को नहीं बदला क्योंकि वे बहुत क्षमतावान थे। राजनीतिक इच्छाशक्ति की जरूरत थी। जब आपको ऊपर से आदेश मिले कि हिंसा रोकने के लिए कुछ नहीं करना है, तो ऐसे में वह आदेश मानने के लिए मजबूर हैं।


और भी पढ़ें :