श्रीनगर में घुसे TRF के 9 आतंकवादी, तलाशी अभियान तेज

सुरेश एस डुग्गर| पुनः संशोधित बुधवार, 17 मार्च 2021 (16:00 IST)
जम्मू। शोपियां के उस रावलपोरा इलाके में फिर से आतंकी दिखने के बाद व्यापक तलाशी अभियान छेड़ा गया है, जहां 72 घंटों की मशक्कत के बाद जैश के खतरनाक आतंकी सज्जाद अफगानी को 2 दिन पहले मार गिराया गया था। इसके साथ ही में भी द रजिस्टेंस फ्रंट फोर्स (TRF) के 9 आतंकियों के घुस आने की खबरों के बाद तलाशी तेज की गई है।
सुरक्षाबलों ने बुधवार को दक्षिण कश्मीर के रावलपोरा शोपियां में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर बुधवार को एक बार फिर घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। रावलपोरा में ही गत शनिवार से सोमवार शाम तक चली मुठभेड़ में सज्जाद अफगानी समेत दो आतंकी मारे गए थे।

स्थानीय सूत्रों ने बताया कि सुरक्षाबलों ने गांव की घेराबंदी दोपहर सवा बारह बजे के करीब की और उसके बाद उन्होंने घर-घर तलाशी शुरु की। अन्य विवरण प्रतीक्षारत हैं। इससे पूर्व बुधवार सुबह सुरक्षाबलों ने उत्तरी कश्मीर के अजस बांडीपोरा में भी एक तलाशी अभियान चलाया था।
गौरतलब है कि दक्षिण कश्मीर के जिला शोपियां के रावलपोरा में गत शनिवार से लेकर सोमवार तीन दिन हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद का शीर्ष कमांडर विलायत लोन उर्फ सज्जाद अफगानी ढेर कर दिया गया था। करीब 72 घंटों से भी अधिक समय तक चली इस मुठभेड़ में दो आतंकवादियों को मार गिराने में सफलता मिली थी।

इस बीच, ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए द रजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) कमाडर अब्बास शेख समेत करीब 9 आतंकियों घुसने की सूचना है। इस सिलसिले में पुलिस ने बीते सप्ताह से ही अलर्ट जारी कर सुरक्षा का कड़ा प्रबंध किया हुआ है। इन आतंकियों के पोस्टर भी जारी किए गए हैं।
मंगलवार की दोपहर को पुलिस और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने लाल चौक के साथ सटे कोर्ट रोड, मैसूमा और हब्बाकदल में अचानक घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया। सुरक्षाबलों ने इस दौरान कई लोगों की तलाशी ली। उनके पहचानपत्रों की जाच की। वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बंद रखी गई, लेकिन आतंकियों का पता नहीं चला।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आतंकी संगठन श्रीनगर शहर में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। वह श्रीनगर में कोई बड़ा हमला कर यहा सुधरते हालात में खलल डालने का मौका खोज रहे हैं। आतंकियों के मंसूबों को नाकाम बनाने और उन्हें पकड़ने के लिए ही पूरे शहर में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है। आतंकियों के सभी संभावित ठिकानों पर लगातार दबिश दी जा रही है।



और भी पढ़ें :