देश में 24 विश्वविद्यालय फर्जी घोषित, सबसे ज्यादा 8 यूपी में

Last Updated: मंगलवार, 3 अगस्त 2021 (12:10 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने लोकसभा में बताया कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी ने 24 'स्वयंभू' संस्थानों को फर्जी घोषित किया है। इसके अलावा दो और संस्थानों पर नियमों के उल्लंघन का आरोप है।
जिन विश्‍वविद्यालयों को फर्जी घोषित किया गया है उनमें उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 8 हैं। वाराणसी का वाराणसी संस्कृत विश्वविद्यालय, महिला ग्राम विद्यापीठ इलाहाबाद, गांधी हिंदी विद्यापीठ इलाहाबाद, नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ इलेक्ट्रो कॉम्प्लेक्स होम्योपैथी कानपुर, नेताजी सुभाष चंद्र बोस मुक्त विश्वविद्यालय अलीगढ़, उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय मथुरा, महाराणा प्रताप शिक्षा निकेतन विश्वविद्यालय प्रतापगढ़ और इंद्रप्रस्थ शिक्षा परिषद नोएडा शामिल है।
दिल्ली में भी 7 फर्जी विश्वविद्यालय पाए गए हैं। इसमें वाणिज्यिक विश्वविद्यालय लिमिटेड, संयुक्त राष्ट्र विश्वविद्यालय, व्यावसायिक विश्वविद्यालय, एडीआर केंद्रित न्यायिक विश्वविद्यालय, भारतीय विज्ञान और इंजीनियरिंग संस्थान, स्वरोजगार के लिए विश्वकर्मा मुक्त विश्वविद्यालय और आध्यात्मिक विश्वविद्यालय शामिल हैं।

फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची में ओडिशा और पश्चिम बंगाल के 2-2 विश्वविद्यालय हैं। कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, पुडुचेरी और महाराष्ट्र में एक-एक फर्जी विश्वविद्यालय हैं।



और भी पढ़ें :