0

Monsoon : बरसों बाद पहले आया मानसून वो भी झूम के

सोमवार,जून 14, 2021
0
1
पिता! एक निश्‍चिंतता का नाम है पिता। पिता छत है, पिता आकाश है। पिता वह सुरक्षा कवच भी है, जो अपनी छाती पर तूफान झेलकर संतान की रक्षा करता है। पिता के होते संतान को ज्यादा चिंता नहीं होती, उसे पता होता है 'पिता सब संभाल लेंगे।' डाँटेंगे-डपटेंगे, ताना ...
1
2
अमेरिकी महिलाओं ने 122 करोड़ बार सर्च किया कि -मदद करो, वो मुझे नहीं छोड़ेगा। 1.07 करोड़ बार सर्च किया - वह मुझे मार डालेगा. 32 करोड़ बार–वह मुझे मारता है। और अमेरिकी पुरुष सर्च कर रहे थे - 16.5 करोड़ बार - पत्नी को कैसे काबू करें? उन्हें प्रताड़ित ...
2
3
ऐसी विकट परिस्थितियों में शत्रु और विरोधी ज्यादा तीखा प्रहार करते हैं क्योंकि उन्हें मालूम है कि इस माहौल में उनकी बातों को समर्थन मिलेगा। इसमें सच और झूठ को अलग करने का सामूहिक विवेक कमजोर पड़ता है। जब कोरोना प्रकोप चरम पर था तो विदेशी मीडिया में ...
3
4
महाराणा प्रताप की मृत्यु का समाचार सुनकर अकबर की आंखों में भी प्रताप की अटल देशभक्ति को देखकर आंसू छलक आए थे। मुगल दरबार के कवि अब्दुर रहमान ने लिखा है, 'इस दुनिया में सभी चीज खत्म होने वाली है। धन-दौलत खत्म हो जाएंगे लेकिन महान इंसान के गुण हमेशा ...
4
4
5
जनता अपने प्रधानमंत्री से यह कहने का साहस नहीं जुटा पा रही है कि उसे उनसे भय लगता है।जनता उनसे उनके 'मन की बात', उनके राष्ट्र के नाम संदेश, चुनावी सभाओं में दिए जाने वाले जोशीले भाषण सब कुछ धैर्यपूर्वक सुन लेती है, पर अपने दिल की बात उनके साथ शेयर ...
5
6
सामाजिक संस्था "गूंज" के संस्थापक अंशु गुप्ता.... जो इस महामारी में न केवल लोगों के लिए दिन-रात खड़े हैं उनकी हर संभव मदद भी कर रहें हैं। अंशु पिछले 22 साल से देश के तकरीबन 27 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में अनवरत लगे हुए हैं।
6
7
सती, सावित्री, सीता एवं अनुसुइया जैसे नारी चरित्र जो हजारों वर्षों से भारतीय समाज के समक्ष आदर्श बने रहे हैं, क्या धर्म-निरपेक्षता के इस युग में आकर नकार दिए जाने चाहिए ? क्या ये पौराणिक युग के नारी चरित्र भारतीय नारियों की कमजोरी के प्रतीक हैं ?
7
8
आम नागरिकों, जनप्रतिनिधियों और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की बात सुनने और उनकी समस्याओं के निदान की दिशा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बेहद संवेदनशील हैं। काम हो ना हो, मुख्यमंत्री उनसे मिलने पहुंचे व्यक्ति को संतुष्ट तो कर देते हैं।
8
8
9
भारतीय बैंक घोटाले के सबसे बड़े घोटालेबाज मेहुल चैकसी और उसके भांजे नीरव मोदी पर 13, 578 करोड़ रुपयों की बैंक धोखाधड़ी के आरोप हैं जिसमें 11, 380 करोड़ रुपयों के फर्जी और बेजा लेने-देन हैं। पीएनबी बैंक घोटाला 7 साल चलता रहा किसी को भनक तक नहीं लगी। ...
9
10
वही पद्मविभूषण और बनारस घराने के गायक पंडित छन्नूलाल मिश्र कोरोना से अपनी पत्नी और बेटी की मौत के बाद लाचार हैं। वे उत्तर प्रदेश सरकार के सामने घुटने टेक कर अस्पताल में अपनी बेटी के इलाज के मामले की जांच चाहते हैं, लेकिन देश में जब चारों तरफ एंबुलस ...
10
11
इसी पोहे पर सेंव वालों, नुक्‍त‍ी वालों, प्‍याज वालों, नींबू वालों और जीरावन वालों की लाइफ लाइन जुड़ी हुई है। एक पोहा ही वो इंजन है जो इन सबके जीवन के ड‍िब्‍बों को आगे खींचता है। इसलिए इंदौर में पोहे का मतलब स‍िर्फ स्‍वाद ही नहीं, किसी का पेट भी है। ...
11
12
पर्यावरण संरक्षण के लिए गठित मन्त्रालयों, संगठनों और संस्थानों ने जिस प्रकार से कागजी फाईलों में पर्यावरण संरक्षण किया है, उसे देखकर कोई भी आश्चर्यचकित हो जाता है। हम सनातनी भारतीय जो प्रकृति पूजक के रुप में सदा से जाने जाते रहे हैं। उसे हमने ...
12
13
प्रकृति ने जल और जंगल के रूप में मनुष्य को 2 ऐसे अनुपम उपहार दिए हैं जिनके सहारे कई दुनिया में कई सभ्यताएं विकसित हुई हैं, लेकिन मनुष्य की खुदगर्जी के चलते इन 2 नों ही उपहारों का तेजी से क्षय हो रहा है। पानी के संकट को स्पष्ट तौर पर दुनियाभर में ...
13
14
हाल ही में मेलिंडा-गेट्स का टूटा रिश्ता भी इसी की कहानी कह रहा है। हम उस समाज में रह रहे हैं जहां मानव सभ्यता, समाचारों में तलाकों और वैवाहिक संबंध विच्छेदों को प्रमुखता से प्रचारित कर उनके महंगे सस्ते होने का गणित लगा कुंठातुष्टि कर्री नजर आती है। ...
14
15
हमें अब एक ऐसे परिदृश्य की कल्पना करना प्रारंभ कर देना चाहिए जिसमें वे सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स (फ़ेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप, इंस्टा. आदि), जिनका कि हम आज धड़ल्ले से उपयोग कर रहे हैं, या तो हमसे छीन लिए जाएंगे या उन पर व्यवस्था का कड़ा नियंत्रण ...
15
16
छोटा-सा तुलसी बिरवा। नन्ही-सी हरी कच एक नाजुक पत्ती। जब रोपा तो एक साथ कई स्वर उठे 'नहीं पनपेगा', 'जड़ नहीं पकड़ेगा'। मन का प्रबल विश्वास 'चेतेगा, पनपेगा, जरूर पनपेगा।' आत्मा की हर भावुक लहर से उसे सिंचित किया। संपूर्ण एकाग्रता से पोषित किया। बिरवे ...
16
17
सांसों का संघर्ष हमें प्रकृति का श्राप क्यों नहीं लगता? भविष्य के लिए चेतना जरुरी है। धरती सजाइए, उसके कर्ज से मुक्ति के रास्ते निकालिए। इसकी शुरुवात अपने घरों से कीजिये। अपने बच्चों से जो आने वाले कल के कर्णधार होंगे।
17
18
टाइम पत्रिका ने लिखा कि पहली बार भारत में पाया गया कोरोना वायरस के बी 1.617 वैरीअंट से विश्वभर को खतरा पैदा हो गया है। यह 44 देशों में पाया जा चुका है। ब्रिटेन के चीफ मेडिकल ऑफिसर क्रिस व्हिटी का बयान है कि भारत में मिला वैरीअंट ज्यादा संक्रामक है। ...
18
19
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की 2018 की एक रिपोर्ट में जीका, इबोला और सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम यानी सार्स कोरोनो वायरस सरीखी एक नई अज्ञात बीमारी ‘डिजीज एक्स’ की भी चर्चा थी। यहां ध्यान रखना होगा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 2018 में ...
19