0

वागर्थ

मंगलवार,अप्रैल 14, 2009
0
1

हेल्थ प्लस

बुधवार,अप्रैल 8, 2009
6. ‍िदल एक असीम दौलत 16 हृदय रोगी का नबी से इलाज 17 स्वीट कासनी 19 जादुई- अर्जुन की छाल 20 वसा पर रखें नियंत्रण 21 पंचकर्मा- पति 23 वायुगोला का घरेलू इलाज 25 बवासीर से मुक्ति पाएँ 45 शरीर के वेगों को न रोकें 47 मुँह के छालों को करें ...
1
2

नया ज्ञानोदय

गुरुवार,अप्रैल 2, 2009
सिनेमा, नया सिनेमा सुभाष शर्मा : स्लमडॉग मिलियनेयर - जनसाधारण की असाधारण कहानी कुणाल सिंह : देव.डी-देवदास का इमोशनल अत्याचार, शहरयार : इन्दौर विलास गुप्ते : प्लास्टिक सर्जरी का शिकार इन्दौर त्रिवेणी अजामिल : मैं नहीं स्पर्श बोलेगा, ...
2
3

समकालीन साहित्य समाचार

शुक्रवार,मार्च 20, 2009
अपनी धरती अपने लोग : रामविलास शर्मा, सिखों का इतिहास : खुशवंत सिंह, रसीदी टिकट : अमृता प्रीतम, बुनियाद अली की बेदिल दिल्ली : द्रोणवीर कोल्ही , तत्वदर्शी : खलील जिब्रान अनु. : विजयलक्ष्मी शर्मा, शाल्मली : नासिरा शर्मा, अंतर्मिलन की कहानी : देवेंद्र ...
3
4

वागर्थ : मार्च 2009

शुक्रवार,मार्च 13, 2009
संपादकीय : समय की हिन्दी उर्फ़ हिन्दी का समय चिन्तन धर्मपाल : हम किसी और के संसार में रहने लगे हैं विचार किशन पटनायक : आधुनिक विज्ञान और तकनीक का दम्भ विजय बहादुर सिंह : औरों से अलग हटकर लिखना पिछले पन्नों से भवानी प्रसाद मिश्र : ये किसी ...
4
4
5

योग संदेश : जनवरी 2009

सोमवार,फ़रवरी 16, 2009
अनुक्रम * संपादकीय : क्रांतिकारी और स्वतंत्र भारत * अनुभूति आपकी *विदारी कंद : गुणधर्म एवं लाभ *स्वामी रामदेव : व्यक्तित्व और कृतित्व *शाश्वत प्रज्ञा *सुख के साधन *लकवे का प्राकृतिक उपचार *असाध्य रोगों का प्राकृतिक उपचार *स्वामी ...
5
6

वागर्थ : जनवरी 2009

शनिवार,जनवरी 17, 2009
वागर्थ , संपादकीय सोजे वतन और हिन्द स्वराज दस्तावेज महादेव हरिभाई देसाई : हिन्द स्वराज के बारे में आलेख कमलकिशोर गोयनका : बंग भंग आन्दोलन ....
6
7

समकालीन साहित्य समाचार

शुक्रवार,नवंबर 21, 2008
शब्द का उदय : विकास एवं अनुप्रयोग : दयानंद पंत आखिरी अढ़ाई दिन मधुप शर्मा : डायरी : अंतर्जीवन के लक्ष्य संपादन : हिमांशु जोशी तट के बंधन विष्णु प्रभाकर मेरे साक्षात्कार : परमानंद श्रीवास्तव ओम निश्चल मोहब्बत का पेड़ : प्रिया आनंद राही ...
7
8

शुभतारिका

शनिवार,नवंबर 15, 2008
मणि मोहन चवरे 'निमाड़ी' : लोकचित्र परंपरा : सांजाफूली डॉ. शरद पगारे : निमाड़ की लोक आस्था के प्रमुख तीर्थ गोविंद कुमार 'गुंजन' : मालवा-निमाड़ की लोकोक्तियाँ और कहावतें महेश श्रीवास्तव : भरहुत बौद्ध स्तूप ,महेश श्रीवास्तव : सफेद शेरों का ...
8
8
9

नया ज्ञानोदय

शुक्रवार,नवंबर 14, 2008
नोबेल पुरस्कार : ले. क्लेज़िओ एडम स्मिथ : अमेरिका और यूरोप कर्ज़दार हैं। टेलिफोनिक बातचीत बुकर पुरस्कार : अरविंद अडिगा विजय शर्मा : व्हाइट टाइगर, काली दुनिया दुर्लभ पृष्ठ: नागार्जुन : एक कविता स्मरण : वेणुगोपाल नरेंद्र मोहन : दु:स्वप्न को ...
9
10

वागर्थ : नवंबर 2008

सोमवार,नवंबर 10, 2008
यह मुलक हमारा भी है क्या विजेंद्र की कविता में चरित्र : तस्वीरन अब बड़ी हो चली तथा अन्य कविताएँ, बतरस-विदेशी धरती पर हमारे मंदिरों के ठाठ स्मरण -वेणु गोपाल : हवाएँ चुप भी रहती हैं : संपादकीय टिप्पणी, प्रभा खेतान : एक और आकाश की खोज में उनका ...
10
11

दस्तावेज़ 119

मंगलवार,अक्टूबर 14, 2008
विचारक जैनेंद्र:संपादकीय अवचेतन:जैनेंद्र और प्रेमचंद्र :कुछ नोट्‍स:गोविंद मिश्र जैनेंद्र और हम : प्रभाकर श्रोत्रिय ,हमारे समय में जैनेंद्र कुमार के शब्द : अरविंद त्रिपाठी ,स्त्री विमर्श के संदर्भ में जैनेंद्र के तीन उपन्यास : रीतारानी ...
11
12

संबोधन

सोमवार,अक्टूबर 13, 2008
कविता : त्रिलोक महावर की पाँच कविताएँ साक्षात्कार : वरिष्ठ गीतकार डॉ. बुद्धिनाथ मिश्र से/ जयप्रकाश मानस की बातचीत डायरी : त्रिलोचन की कविता का पेथॉस/ विष्णुचंद्र शर्मा आलेख : नए सौंदर्यशास्त्र की तलाश / भगवान सिंह आत्म कथ्‍य : कारवाने ...
12
13

शुभ तारिका

शनिवार,अक्टूबर 11, 2008
व्यंग्य पी.दयाल श्रीवास्तव आत्मा का भोजन मुकेश जैन 'पारस' कहानी नहीं सत्य सुखदर्शन ठाकुर कविताएँ निर्मला जौहरी, ए. कीर्तिवर्द्धन, तपेश भौमिक सत्य पाल, रामसनेही लाल, प्रबोध कुमार गोविल देवेंद्र कुमार मिश्रा, वीरेंद्र गोयल, डॉ. ...
13
14

तद्‍भव

सोमवार,अक्टूबर 6, 2008
विश्वनाथ प्रसाद तिवारी : जीवन के नैरंतर्य का साक्षात्कार ए.अरविन्दाक्षन : शब्दों के बीच एक सूखा अश्रु अजय वर्मा : संकटग्रस्त समय का प्रतिरोध परमानंद श्रीवास्तव : स्मृति, इतिहास और आख्यान शम्भु गुप्त : यथार्थ के आगे बेबस लेखक विजय बहादुर सिंह ...
14
15

शुभ तारिका

सोमवार,अक्टूबर 6, 2008
लेख : संसारचंद्र : चंडीगढ़ में आबाद होने की कहानी आदित्य प्रकाश : चंडीगढ़ में पैदल चलने वालों की स्वप्ननगरी जय प्रकाश : चंडीगढ़ एक आखंड प्रवास पर्व रमेश कुंतल मेघ : चंडीगढ़ का क्या कहना चंद्र त्रिखा : भीड़ में अकेलापन...
15
16

अक्षरम् संगोष्ठी

बुधवार,अक्टूबर 1, 2008
साक्षात्कार राजी सेठ से रमेश दवे की बातचीत कहानी : उस पार अर्चना पेन्यूली (डेनमार्क) बदल जाती है जिन्दगी कहानी : इस पार नारायन दास वर्मा 'मानव' : आँसू का रिश्ता स्मरण प्रकाश मनु : देवेंद्र सत्यार्थी की जन्मशती पर विशेष लेख
16
17

समकालीन साहित्य समाचार

बुधवार,सितम्बर 24, 2008
प्रभाकर श्रोत्रिय : हिंदी कल आज और कल भोलानाथ तिवारी : भाषा विज्ञान प्रवेश एवं हिंदी भाषा केदारनाथ सिंह : विज्ञापन की भाषा कविता के लिए चुनौती यात्रा के पन्ने : राहुल सांस्कृत्यायन
17
18

पहल 89

सोमवार,सितम्बर 22, 2008
सुलभा कोरे : एक आहत कवि हृदय सुखदेव सिंह : ग़ैरों की जमीन को अलविदा अनुवाद - सत्यपाल सहगल : लालसिंह दिल की कविताएँ
18
19

नया ज्ञानोदय

बुधवार,सितम्बर 17, 2008
स्मरण : महमूद दरवेश कृष्णकुमार रत्तू : मैं बहुत दूर हो जाता हूँ, कि अपनी धरती के पास लौट सकूँ अज्ञेय : हीलीबोन की बत्तख़ें दूधनाथ सिंह : तू फ़ू (नई कहानी) दूधनाथ सिंह : नपनी (प्रतिनिधि कहानी)
19
20

अक्षरम संगोष्ठी

बुधवार,अगस्त 13, 2008
इस अंक में...चिट्ठियाँ संपादकीय सिंघवीजी और अरुणाजी का जाना.../ नरेश शांडिल्य दृष्टि हिंदी भाषी निशाने पर/ अनिल जोशी साक्षात्कार उमेश अग्निहोत्री से अलका सिन्हा की बातचीत कहानी : उस पाररौनी/ उषा वर्मा
20
21
प्रेमचंद का पत्रकार रूप : राजेन्द्र परदेसी प्रेमचंद के ग्राम्य जीवन की प्रासंगिकता : राजेंद्रसिंह गहलौत वाङ्‍गमय संस्कृत के अनियमित नाटकों की परंपरा और हनुमन्नाटक : रामचंद्र सरोज डायरी के पृष्ठ अजात शत्रु : रामदरश मिश्र
21
22

नया ज्ञानोदय (जून 2008)

गुरुवार,जून 12, 2008
स्मरण : किशन महाराज - इंदु जैन व्योमेश शुक्ल : कठिन का अखाड़ेबाज पद्‍मा सचदेव : मिठबोलड़ी इंदु दुर्लभ पत्र विजयदेव नारायण साही : दोस्तो मेरा काम इस संसार में खत्म हुआ, अब जा रहा हूँ
22
23

बाल पत्रिका स्नेह

मंगलवार,जून 10, 2008
आदत, फैशन - ओमप्रकाश बजाज हाथी - घनश्याम मैथिल 'अमृत' मछली - सुगनचंद्र 'नलिन' चंदा मामा - श्याम बिहारी सक्सेना बालरंग बाल समाचार प्रश्न मंच परछाई पहचानो सुदोकू रास्ता खोजो रंग भरो
23
24

नया ज्ञानोदय

मंगलवार,मई 20, 2008
जन्मशती : दिनकर का दुर्लभ पत्र रामधारीसिंह दिनकर : संसद में जाने से मेरी मुसीबतें बढ़ी ही हैं स्मरण : बच्चन सिंह विजयमोहन सिंह : 'सरोज स्मृति पढ़ाते हुए रोते और रुलाते थे कालजयी : जलालुद्दीन रूमी
24
25
भारत तब से अब तक/भगवान सिंह काश, मैं राष्ट्रद्रोही होता - राजेंद्र यादव सिने-सितारों के अनछुए प्रसंग- शीला झुनझुनवाला देविका- मनोरमा जफ़ा कुछ अलग- पुष्पा राही एक और ययाति- कृष्णचंद्र शर्मा 'भिक्खु'
25
26

नया ज्ञानोदय

सोमवार,अप्रैल 28, 2008
नईम : कौन नहीं, व्यर्थ के उत्पात, उबे उबे से, चाँदी-सी रातें सुधांशु उपाध्याय : दो हंसों के जोड़े वाली, उम्र के फूल, भला लगे या बुरा लगे 10 रविशंकर पाण्डेय
26
27

शेष (जनवरी-मार्च 2008)

शनिवार,अप्रैल 26, 2008
गुज़ारिश : कुछ गुज़ारिश के बारे में ख़िराजे-अक़ीदत : स्मृति शेष मुईन अहसन ‘जज्बी’/प्रेम कुमार यादनामा : 1. जोश व फ़िराक की चंद यादें/ फ़ैज़ अहमद फ़ैज़
27
28

समकालीन साहित्य समाचार

सोमवार,मार्च 31, 2008
अभी शेष है/ महीप सिंह सफलता का रहस्य/ जगतराम आर्य पत्रकारिता में अनुवाद की समस्याएँ/ भोलानाथ तिवारी : जितेन्द्र गुप्त दैनिक जीवन में आयुर्वेद/ विनोद शर्माफूल और तितलियाँ/ निरंकार देव सेवक
28
29

व्यंग्य यात्रा

शनिवार,मार्च 15, 2008
स्वयं प्रकाश - आप धर्म से नहीं लड़ सकते प्रेज- परसाई की खोज शेरजंग गर्ग- हिन्दी के दुग्ध-मुग्ध मजनूँ द्रोणवीर कोहली- दीर्घायु हरि जोशी- शरद जोशी, लक्ष्मीकांत वैष्णव और मैं आशा रावत - मेरे आदरणीय गुरु गफूर तायर- सब कुछ गलत के विरुद्ध
29
30

उद्‍भावना

सोमवार,जून 4, 2007
भूमंडलीकरण और संस्कृति - एजाज अहमद सामाजिक कार्यकर्ताओं के लिए कुछ जरूरी नोट्‍स भूमंडलीकरण के संदर्भ में भारतीय साहित्य मे राष्ट्रीयता - रविभूषण
30
31

संबोधन (त्रैमासिक)

सोमवार,जून 4, 2007
स्वयंप्रकाश पर केंद्रित अंक जनवरी-मार्च 2007 चकाचौंध में एक किरण- डॉ. असगर वजाहत एक महत्वपूर्ण पत्रिका - डॉ. दुर्गाप्रसाद अग्रवाल पत्र- कुशेश्वर
31
32

वीणा (जन. 2007)

रविवार,जून 3, 2007
नए बरस पर उनको, अपना प्रणाम कहना - सुखदेवसिंह कश्यप गजल/गजल - भगवानदास जैन/राजा चौरसिया .... कि अपनी भूमि बंजर है - चंद्रभान भारद्वाज
32