सीधी भर्ती की योजना बनाए एमपी-पीएससी : शिवराज

इंदौर| पुनः संशोधित गुरुवार, 5 मई 2016 (11:28 IST)
इंदौर। के मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग (एमपी-पीएससी) से कहा है कि वह चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के छोटे पदों पर 12वीं के अंकों की मेरिट के आधार पर सीधी भर्ती की योजना बनाए।
 
चौहान ने बुधवार रात यहां एमपी-पीएससी के नए भवन के लोकार्पण समारोह में कहा कि बड़े पदों पर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा और साक्षात्कार जरूरी है, लेकिन सूबे के विभागों में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के ऐसे कई पद हैं जिनके लिए निर्धारित शैक्षणिक योग्यता 12वीं पास होना है।
 
इन पदों पर 12वीं के अंकों की मेरिट के आधार पर सीधी भर्ती के लिए एमपी-पीएससी को योजना बनानी चाहिए। उन्होंने एमपी-पीएससी को 'राज्य सरकार का हृदय' बताते हुए कहा कि आयोग ने प्रामाणिकता और पारदर्शिता से कार्य कर सूबे का गौरव बढ़ाया है।
 
चौहान ने कहा कि मुझे गर्व है कि एमपी-पीएससी ने निष्पक्ष और पारदर्शी रूप से कार्य कर अपनी विशेष पहचान बनाई है। आयोग की कार्यप्रणाली पर किसी ने भी शंका जाहिर नहीं की है। 
 
आयोग ने पूरी ईमानदारी, प्रामाणिकता और पारदर्शिता के साथ परीक्षाओं का आयोजन किया है। इस अवसर पर एमपी-पीएससी के चेयरमैन विपिन ब्योहार और इसके सचिव मनोहर दुबे भी मौजूद थे।
 
एमपी-पीएससी का नया भवन 15 करोड़ रुपए की लागत से 6,541 वर्गमीटर पर बना है। नवीन भवन परिसर में छोटे-बड़े कुल 80 कक्ष बनाए गए हैं। (भाषा)
 



और भी पढ़ें :