मछलियां बेचने वाले नितिन ने किया कमाल, भोपाल नौका हादसे में बचाई 8 लोगों की जान

Last Updated: रविवार, 15 सितम्बर 2019 (08:13 IST)
भोपाल। भोपाल में गणपति विसर्जन के दौरान हुए नौका हादसे के दौरान 8 लोगों की जान बचाने वाले 28 वर्षीय को जिला प्रशासन ने शनिवार को 50 हजार रुपए इनाम प्रदान किया।
वीरता पुरस्कार के लिए फुटपाथ पर मछलियां बेचने वाले इस बहादुर युवक के नाम की सिफारिश की गई है।

भाजपा ने नितिन के इस साहसिक कदम के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से नितिन बाथम को वीरता पुरस्कार एवं नौकरी दिलाए जाने की मांग की थी। इसके कुछ ही घंटे बाद भोपाल जिला प्रशासन ने नितिन बाथम को 50,000 रुपए का इनाम देकर सम्मानित किया और उसे वीरता पुरस्कार देने की सिफारिश की। प्रशासन ने इसके अलावा नितिन को सरकारी नौकरी दिलाने का वादा भी किया।
इस तरह बचाई 8 की जान :नितिन बाथम ने कहा कि मैंने आठ लोगों की जान बचाई। काश मैं कुछ और लोगों की भी जान बचा पाता तो कितना अच्छा होता।’ बाथम ने कहा कि हादसे के वक्त मैं छोटा तालाब के किनारे पर था और वहां गणपति प्रतिमाओं को विसर्जित करने के कार्यक्रम को देख रहा था। इसी बीच, नाव डूबने लगी और चीख-पुकार मचने लगी। लोग बचाने की गुहार लगा रहे थे। लोगों को डूबते देख मैं वहां मौजूद एक नाव चलाकर मौके पर पहुंचा और छटपटा रहे युवक मेरी नाव में सवार हो गए। मैंने आठ लोगों की जान बचाई।
कौन हैं नितिन बाथम :
बाथम ने कहा कि वह गरीब परिवार से आते हैं और शहर के छोला इलाके में फुटपाथ पर मछलियां बेचने का काम करते हैं। छोला इलाका हादसा स्थल छोटा तालाब से करीब पांच किलोमीटर दूर है। उन्होंने कहा कि मैंने बचपन में ही तैरना सीख लिया था और नाव चलाना भी मुझे आता है।

मध्यप्रदेश भाजपा प्रवक्ता राहुल कोठारी ने ट्विटर पर नितिन बाथम की फोटो शेयर करते हुए लिखा कि भोपाल हादसे में आठ लोगों की जान बचाने वाले ये हैं ‘नितिन बाथम’। दूसरी नाव से लटककर बाकी लोगों को सहारा देकर मिनटों में बचाया।

उन्होंने लिखा कि आदरणीय नरेन्द्र मोदी जी एवं कमलनाथ जी से अनुरोध है कि इन्हें वीरता पुरस्कार एवं नौकरी देकर हौसला बढ़ाएं। इस ट्वीट के कुछ ही घंटे बाद भोपाल जिले के कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने नितिन बाथम को यहां 50,000 रुपए का इनाम देकर सम्मानित किया। नितिन को यह राशि चेक के जरिए दी गई।
इसी बीच मध्यप्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि नितिन बाथम को सरकारी नौकरी दिये जाने के लिए राज्य सरकार को एक प्रस्ताव भी भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि वीरता पुरस्कार के लिए उसके नाम की सिफारिश भी की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि भोपाल स्थित छोटे तालाब के खटलापुरा घाट पर शुक्रवार तड़के भगवान गणेश की एक विशाल प्रतिमा के विसर्जन के दौरान दो नावों के पलटने से 11 लोगों की डूबने से मौत हो गई। ये सभी पिपलानी इलाके के सौ क्वार्टर बस्ती के रहने वाले थे। बाथम ने इस दौरान आठ लोगों की जान बचाई थी।

 

और भी पढ़ें :