Nisarg Cyclone: निसर्ग तूफान की जद में मध्यप्रदेश के 27 जिले, 18 जिलों में ऑरेंज अलर्ट

मौसम विभाग ने पश्चिमी मध्यप्रदेश के कई जिलों में भारी वर्षा का जताया पूर्वानुमान

Author विकास सिंह| Last Updated: बुधवार, 3 जून 2020 (14:14 IST)
भोपाल। ने महाराष्ट्र और गुजरात में अपनी दस्तक दे दी है। तूफान का महाराष्ट्र के 21 जिले और गुजरात के 16 जिलों में दिखाई दे रहा है। इन इलाकों में तेज हवाओं के साथ भारी का दौर जारी है।


वहीं दूसरी ओर निसर्ग तूफान का असर में भी दिखाई देना शुरु हो गया है। पश्चिमी मध्यप्रदेश के कई इलाकों में रूक रूक कर बौछारें और तेज हवाएं चलना शुरु हो गई है। निसर्ग तूफान के चलते मौसम विभाग ने 18 जिलों में भारी वर्षा का पूर्वानुमान जताते हुए ऑरेंज जारी किया है।
ALSO READ:
: निसर्ग तूफान मध्यप्रदेश में भी मचा सकता है तबाही, इंदौर,उज्जैन संभाग में सबसे अधिक होगा असर

वेबदुनिया से बातचीत में भोपाल मौसम केंद्र के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके शाह कहते हैं कि तूफान का असर प्रदेश में भी दिखाई दे रहा और प्रदेश के कई जिलों में भारी वर्षा होगी। तूफान के असर से प्रदेश के कई जिलों गरज चमक के साथ तेज हवाओं के साथ हल्की से भारी बारिश होने की संभावना है।

18 जिलों में ऑरेंज अलर्ट –
रायसेन, सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, बुरहानपुर, खंडवा, खरगौन, बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ, धार, देवास, छिंदवाड़ा, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़ और शाजापुर


9 से अधिक जिलों में यलो अलर्ट - भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर,जबलपुर, सागर, उज्जैन, ग्वालियर, रीवा,शहडोल और चंबल संभाग के जिलों में


वेबदुनिया से बातचीत में मौसम वैज्ञानिक पीके शाह कहते हैं कि तूफान का असर मध्यप्रदेश में पांच जून तक दिखाई देगा। वहीं तूफान का प्रदेश में मानसून आने के सवाल पर पीके शाह करते हैं कि अभी तक इसका कोई असर मानसून पर नहीं दिखाई दे रहा है। सामान्य तौरपर प्रदेश में मानसून 20 जून के आसपास दस्तक दे सकता है।

निसर्ग तूफान के असर के चलते मध्यप्रदेश में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चलाने की संभावना है जिससे पेड़, कच्चे मकानों को नुकसान पहुंच सकता है। वहीं तूफान के असर के चलते प्रदेश के कई जिलों में पारा कई डिग्री लुढ़क गया है।




और भी पढ़ें :