ऑटो पर लिखे ‘दि अलकेमिस्ट’ नाम ने ऑटो चालक को रातोंरात सुर्खियों में ला दिया...

पुनः संशोधित सोमवार, 6 सितम्बर 2021 (19:37 IST)
कोच्चि। के ऑटोरिक्शा चालक प्रदीप ने कभी सोचा भी नहीं था कि ऑटोरिक्शा पर अंग्रेजी में पाउलो कोएल्हो और मलयालम में उनकी सबसे चर्चित कृतियों में से एक ‘दि अलकेमिस्ट’ लिखना उन्हें प्रसिद्ध व्यक्ति बना देगा, लेकिन स्वयं पाउलो कोएल्हो ने अपने ट्विटर हैंडल से प्रदीप के ऑटोरिक्शा की तस्वीर साझा कर उन्हें प्रसिद्ध बना दिया है।

कोएल्हो का उनके ट्विटर हैंडल पर करीब डेढ़ करोड़ प्रशंसक अनुकरण करते हैं। ब्राजीलियाई लेखक पाउलो कोएल्हो ने ट्वीट किया, ‘केरल, भारत (इस तस्वीर के लिए बहुत बहुत धन्यवाद)।’ प्रदीप (55) ने बताया, ‘मैंने उनकी कई किताबें पढ़ी हैं। उनकी हर किताब में कम से कम एक चीज होती है जिसका अनुकरण अपने जीवन में किया जा सकता है।’
यहां की सड़कों पर करीब दो दशक से ऑटोरिक्शा चला रहे प्रदीप ने कहा कि उन्हें पाउलो कोएल्हो के ट्वीट की जानकारी रविवार को उनके एक दोस्त से मिली।
गौरतलब है कि प्रदीप ने करीब 10 साल पहले अपने ऑटोरिक्शा का नाम ‘दि अलकेमिस्ट’ रखा था। यह नाम उन्होंने इस किताब के मलयालम संस्करण को पढ़ने के बाद रखा था। उन्होंने कई बार अपने वाहन को बदला, लेकिन उसका नाम नहीं बदला। अब उनकी इच्छा लेखक से मिलने की है।
क्या है दि अलकेमिस्ट : यह ब्राजील के लेखक पाउलो कोएल्हो का एक उपन्यास है, जो पहली बार 1988 में प्रकाशित हुआ था। मूल रूप से पुर्तगाली भाषा में लिखा गया था, यह उपन्यास अंतरराष्ट्रीय बेस्टसेलर बन गया।



और भी पढ़ें :