मध्यप्रदेश में यूजी-पीजी के फाइनल ईयर के एग्जाम अब ओपनबुक प्रणाली से,घर बैठे ही परीक्षा दे सकेंगे स्टूडेंट

NEET Examination
Author विकास सिंह| पुनः संशोधित शनिवार, 17 अप्रैल 2021 (19:35 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के लगातार बढ़ते हुए मामलों के बाद अब यूनिवर्सिटी और कॉलेज के फाइनल ईयर के स्टूडेंट की इस साल भी फाइनल ईयर के एग्जाम ओपन बुक प्रणाली से देंगे। उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि इस साल की यूजी और पीजी की जो परीक्षाएं क्लास में बैठकर होने वाली थी,उसको अब बदल दिया गया। नए फैसले के मुताबिक स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं की परीक्षा ओपन बुक प्रणाली से कराने का फैसला विभाग ने किया है।
उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव के मुताबिक अब छात्र-छात्राओं को उनके लॉगिन आईडी तथा निर्धारित वेबसाइट पर प्रश्नपत्र ऑनलाइन उपलब्ध कराए जाएंगे, जिसका उत्तर परीक्षार्थी अपने घर में बैठकर लिख सकेंगे। स्टूडेंट अपने-अपने यूनिवर्सिटी के निर्धारित कार्यक्रम के जरिए परीक्षा देने के बाद उत्तर पुस्तिका संग्रहण केन्द्र में जमा करना होगी। इसके लिये
संग्रहण केन्द्र स्थापित किए जाएंगे। प्रदेश में इस साल ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुशन में 19 लाख स्टूडेंट शामिल होंगे।

इससे पहले पिछले दिनों उच्च शिक्षा विभाग ग्रेजुशन में फर्स्ट ईयर एवं सेकंड ईयर और स्नातकोत्तर (पोस्ट ग्रेजुशन) के द्वितीय सेमेस्टर को स्टूडेंट की परीक्षा ओपन बुक प्रणाली से कराने का फैसला ले चुका है। स्नातक स्तर पर इस बार 14 लाख 88 हजार स्टूडेंट ओपन बुक प्रणाली तरीके से पेपर देंगे वहीं पोस्ट ग्रेजुशन में 1 लाख 35 हजार स्टूडेंट शामिल होंगे।



और भी पढ़ें :