मध्यप्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर मतदान शुरू, कोरोना संक्रमित मतदाता अंतिम घंटे में डाल सकेंगे वोट

कोरोना से बचाव के लिए पोलिंग बूथों पर विशेष इंतजाम

Author विकास सिंह| Last Updated: मंगलवार, 3 नवंबर 2020 (07:24 IST)
मध्यप्रदेश में 19 जिलों के 28 विधानसभा क्षेत्रों में सुबह 7 बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरु हो गई है। 28 विधानसभा क्षेत्रों में 9
हजार 361 मतदान केन्द्रों वोटर कुल 355 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम की बटन दबाकर कर रहे है। मतदान के लिये 13 हजार 115 बैलेट यूनिट, 13 हजार 115 कंट्रोल यूनिट एवं 14 हजार 50 वीवीपेट जिलों में उपलब्ध कराई गई हैं। आयोग द्वारा मतदाताओं को मतदान पर्ची उपलब्ध कराई गई है।

मतदान शुरू होने से पहले उम्मीदवारों के पोलिंग एजेंटों की उपस्थिति में मॉकपोल की प्रक्रिया संपन्न कराई गई। प्रदेश की सभी 28 विधानसभा सीटों पर शाम 6 बजे तक मतदान होगा। कोरोना के चलते इस बार एक घंटे से अधिक वोटिंग होगी।
कोरोना से बचाव के लिए विशेष इंतजाम - कोविड-19 से बचाव की सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई हैं। कोविड-19 से सुरक्षित मतदान के लिये मतदान केन्द्रों पर मास्क, सैनिटाइजर, साबुन, पानी, तापमान की जांच व्यवस्था के साथ सामाजिक दूरी आदि का ध्यान रखा जा रहा है। कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए मतदान का समय एक घंटे बढ़ाया गया है। मतदान केन्द्रों पर अधिक भीड़ नहीं हो इसके लिये सहायक मतदान केन्द्रों की व्यवस्था की गई है।

मतदान केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिये 6 फीट की दूरी पर गोले बनायें जायेंगे। यदि तापमान दो बार मापने पर भी निर्धारित मापदंड के ऊपर आता है, तो मतदाता को कोविड-19 के निवारक उपायों का पालन करते हुए, मतदान के अंतिम घंटे में आकर मतदान करना होगा। कोविड संदिग्ध या क्वॉरेंटीन मतदाता मतदान केन्द्र के अन्दर एक बार में एक ही मतदाता प्रवेश करेंगे।

मतदाताओं में कोविड-19 का भ्रम दूर करने के लिये मतदान केन्द्रों पर कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया है। मतदान केन्द्र का आवश्यक सैनिटाइजेशन कराया गया है। मतदान कर्मियों को पीपीई किट प्रदान की गई है।

शांतिपूर्वक मतदान के लिए चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा- ग्वालियर-चंबल की 16 विधानसभा सीटों समेत सभी 28 सीटों पर
सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। पुलिस, मजिस्ट्रेट, मोबाइल टीमें तैनात की गई हैं। इसके साथ ही 38 विधानसभा क्षेत्रों में पैरामिलिट्री फोर्स की 84 कंपनियां तैनात की गई है। शांतिपूर्वक चुनाव कराने के लिए
एक लाख 58
हजार 361 हथियार जमा कराये जा चुके हैं। इसके साथ ही 3 हजार 645 हथियार जब्त और 163 लायसेंस रद्द किए गए हैं।
प्रदेश में जिन 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे है उनमें 16 सीटें ग्वालियर-चंबल इलाके की है और यहां शांतिपूर्ण मददान कराना प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है, चुनाव से ठीक पहले ग्वालियर-चंबल में हिंसा को लेकर खुफिया रिपोर्ट आने के बाद सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी कर दी गई है।



और भी पढ़ें :