गुरुवार, 18 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. मध्यप्रदेश
  4. 5 lakh devotees will come to seek the blessings of Mahakal
Written By
Last Updated : शनिवार, 31 दिसंबर 2022 (16:00 IST)

नए साल में महाकाल का आशीर्वाद लेने के लिए 5 लाख श्रद्धालुओं के उज्जैन आने की संभावना

नए साल में महाकाल का आशीर्वाद लेने के लिए 5 लाख श्रद्धालुओं के उज्जैन आने की संभावना - 5 lakh devotees will come to seek the blessings of Mahakal
उज्जैन। मध्यप्रदेश के उज्जैन में प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर में नए साल के अवसर पर महाकाल का आशीर्वाद लेने के लिए शनिवार से सोमवार तक 3 दिनों में करीब 5 लाख श्रद्धालुओं के आने की संभावना है। महाकालेश्वर देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह मंदिर पवित्र शिप्रा नदी के किनारे स्थित है।
 
मंदिर के सहायक प्रशासनिक अधिकारी आरके तिवारी ने कहा कि हम शनिवार, रविवार और सोमवार को महाकालेश्वर मंदिर में 5 लाख श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद कर रहे हैं, क्योंकि लोग भगवान महाकाल का आशीर्वाद लेकर अपने नए साल की शुरुआत करना चाहते हैं। महाकालेश्वर देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह मंदिर पवित्र शिप्रा नदी के किनारे स्थित है।
 
तिवारी ने कहा कि दुनिया के विभिन्न हिस्सों से श्रद्धालु इस मंदिर में आते हैं। भक्तों को प्रसाद के रूप में दिए जाने वाले 'बेसन के लड्डू' का उत्पादन दोगुना करने के लिए मंदिर प्रशासन दिन-रात काम कर रहा है। उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं को मंदिर में आसानी से प्रवेश और निकास मिले, इसके लिए विशेष व्यवस्था की गई है।
 
तिवारी ने कहा कि इसके अलावा मंदिर और उसके आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। भक्तों को परामर्श देने के लिए 6 सहायता केंद्र बनाए गए हैं। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए चिकित्सा टीम और एम्बुलेंस का प्रबंध किया गया है।
 
उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं को अपने जूते, मोबाइल, बैग आदि चीजें रखने की सुविधा देने के लिए मंदिर के बाहर काउंटर बढ़ा दिए गए हैं। भक्तों के लिए पेयजल और शौचालय की व्यवस्था भी की गई है। महाकालेश्वर मंदिर में तड़के 4 से सुबह 6 बजे तक भस्म आरती का आयोजन किया जाता है। मंदिर रात 10 बजे तक श्रद्धालुओं के प्रवेश के लिए खुला रहता है और पूजा के बाद रात को 11 बजे बंद हो जाता है।(भाषा)
 
Edited by: Ravindra Gupta
ये भी पढ़ें
पूर्व कैथोलिक पोप बेनेडिक्ट का निधन