सोमवार, 22 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. चुनाव 2023
  2. विधानसभा चुनाव 2023
  3. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023
  4. Then what did Shivraj Singh Chouhan say on the question of becoming Chief Minister?
Written By
Last Updated :ग्वालियर , शुक्रवार, 1 दिसंबर 2023 (22:36 IST)

फिर मुख्‍यमंत्री बनने के सवाल पर क्या बोले शिवराज सिंह चौहान?

फिर मुख्‍यमंत्री बनने के सवाल पर क्या बोले शिवराज सिंह चौहान? - Then what did Shivraj Singh Chouhan say on the question of becoming Chief Minister?
Shivraj Singh Chouhan: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी राज्य विधानसभा चुनाव (state assembly elections) में शानदार जीत हासिल करेगी लेकिन वे इस सवाल का सीधा जवाब देने से बचते रहे कि क्या वे 5वीं बार मुख्यमंत्री (Chief Minister) बनेंगे? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि 'भारतीय जनता पार्टी जिंदाबाद।'
 
उनका यह बयान ज्यादातर एग्जिट पोल में मध्यप्रदेश में भाजपा को आगे बताए जाने के 1 दिन बाद आया है। 2003 के बाद यह पहली बार था कि भाजपा ने 17 नवंबर को हुए विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार पेश किए बिना चुनाव लड़ा। मतगणना इसी रविवार, 3 दिसंबर को होगी।
 
राज्य के सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहने वाले चौहान ने कहा कि भाजपा शानदार बहुमत की ओर बढ़ रही है, क्योंकि केंद्र और राज्य सरकार की योजनाएं मध्यप्रदेश के लोगों तक पहुंच गई हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) और राज्य सरकार की लाडली बहना योजना जैसी योजनाएं, जिसके तहत महिलाओं को प्रतिमाह 1,250 रुपए की वित्तीय सहायता दी जा रही है, की लोगों ने प्रशंसा की है।
 
चौहान ने कहा कि डबल इंजन सरकार ने अपनी कल्याणकारी और लाभकारी योजनाओं से लोगों का दिल जीता है और मध्यप्रदेश ने प्रगति और विकास हासिल किया है। यह पूछे जाने पर कि क्या वे 5वीं बार मुख्यमंत्री बनेंगे? उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि 'भारतीय जनता पार्टी जिंदाबाद।'
 
पिछले साल 17 मार्च को चौहान ने देश में भाजपा की ओर से सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहने का गौरव हासिल किया था। उन्होंने उस रिकॉर्ड को तोड़ दिया, जो छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के नाम था। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव में 77.15 प्रतिशत मतदान हुआ, जो 2018 के चुनाव से 1.52 प्रतिशत अधिक है।(भाषा)
 
Edited by: Ravindra Gupta
ये भी पढ़ें
मिजोरम में मतगणना 4 दिसंबर को, जानें चुनाव आयोग ने क्यों बदली तारीख?