शनिवार, 20 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. चुनाव 2024
  2. लोकसभा चुनाव 2024
  3. लोकसभा चुनाव समाचार
  4. loksabha election : bjp plan on 80 seats of Uttar Pradesh
Last Updated : शुक्रवार, 1 मार्च 2024 (11:50 IST)

यूपी की 80 सीटों के लिए क्या है भाजपा का चुनावी प्लान, RLD को देगी कितनी सीटें?

सहयोगी दलों के 6 सीटें दे सकती है भाजपा

यूपी की 80 सीटों के लिए क्या है भाजपा का चुनावी प्लान, RLD को देगी कितनी सीटें? - loksabha election : bjp plan on 80 seats of Uttar Pradesh
Loksabha election 2024 : उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों के लिए भाजपा ने चुनावी प्लान तैयार कर लिया है। कहा जा रहा है ‍कि पार्टी राज्य में रालोद, सुभासपा, निषाद पार्टी और अपना दल के लिए 6 सीटें छोड़ सकती है।
 
दिल्ली में गुरुवार को हुई भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में उत्तर प्रदेश की सीटों पर भी मंथन हुआ। कहा जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में भाजपा जयंत चौधरी की राष्ट्रीय लोकदल को 2 सीटें दे सकती है। अपना दल पार्टी भी 2 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। निषाद पार्टी और ओम प्रकाश राजभर की सुभासुपा के लिए एक-एक सीट छोड़ी जा सकती है। 
 
बैठक में उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश, राजस्थान, त्रिपुरा, गोवा, उत्तराखंड, गुजरात, असम, झारखंड, तमिलनाडु, पुद्दुचेरी, अंडमान निकोबार, ओडिशा, दिल्ली, मणिपुर, जम्मू-कश्मीर की सीटों पर भी मंथन हुआ।
 
बताया जा रहा है कि पार्टी 1-2 दिन में लोकसभा चुनावों के लिए अपनी पहली सूची जारी कर सकती है। पार्टी ने 300 सीटों के लिए पैनल तैयार कर लिया है। 
 
उल्लेखनीय है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 78 सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से 62 सीटों पर पार्टी को कामयाबी मिली थी। सहयोगी अपना दल भी 2 सीटें जीतने में सफल रही थी। बसपा 10 सीटें जीती थी तो समाजवादी पार्टी को 5 सीटें मिली तो कांग्रेस केवल 1 ही सीट जीतने में सफल रही।
 
इस चुनाव में राजग में भाजपा और अपना दल (एस) एक साथ मिलकर लड़े थे। भाजपा को 49.98 प्रतिशत और अपना दल (एस) को 1.21 प्रतिशत वोट शेयर मिला था। वहीं बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी, और राष्ट्रीय लोकदल को 39.23 प्रतिशत वोट शेयर मिला था। कांग्रेस को इस चुनाव में मात्र 6.36 वोट शेयर मिला था।
Edited by : Nrapendra Gupta 
ये भी पढ़ें
वन97 कम्युनिकेशंस ने Paytm पेमेंट्स बैंक के साथ अंतर कंपनी समझौते किए खत्म