कर्जमाफी पर सच्चे-झूठे की सियासत जारी, शिवराज ने भाई की कर्जमाफी को बताया झूठा

Shivraj Singh Chauhan
भोपाल। मध्यप्रदेश में कर्जमाफी पर सियासत तेज हो गई है। सरकार की किसानों की कर्जमाफी पर सवाल उठाने वाली भाजपा अब इस मुद्दे को लेकर बैकफुट पर नजर आ रही है। कांग्रेस ने कर्जमाफी को लेकर जो सूची जारी कि है उसमें दावा किया है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के दो रिश्तेदारों के नाम भी शामिल हैं।
ग्वालियर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी सभा में शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोलते हुए मंच से ही मुख्यमंत्री से कर्जमाफी वाले किसानों की सूची में शामिल नाम बताने को कहा जिस पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सिंह चौहान के भाई रोहित सिंह और सगे चाचा के बेटे निरंजन सिंह का भी कर्जा माफ होने की बात कही थी। इसके बाद राहुल गांधी ने हमला बोलते हुए कहा कि शिवराज जी इतना झूठ नहीं बोलिए आपके भाई का भी कर्ज माफ हुआ है।
शिवराज का पलटवार : वहीं कांग्रेस के आरोपों पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा पलटवार किया है, शिवराज ने कहा कि उनके भाई ने कभी कर्ज के लिए आवेदन भरा ही नहीं तो उन पर इतनी दया क्यों कर रहे हैं। शिवराज ने साफ कहा कि उनके भाई का को कोई भी कर्ज माफ नहीं हुआ है और रोहित सिंह चौहान आयकरदाता हैं। कांग्रेस को जब कुछ नहीं मिलता है तो मेरे परिवार को लेकर आ जाती है और इसके लिए रातोंरात षड्यंत्र रचा गया लेकिन हड़बड़ी में कांग्रेस गड़बड़ी कर गई।

कांग्रेस सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव से पहले वचन पत्र में सभी किसानों का कर्ज माफ करने की बात कही थी, लेकिन सरकार बनने के बाद किसानों का कर्ज माफ नहीं किया, वहीं कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि उल्टा मुझे आई ड्रॉप, बादाम, च्यवनप्राश भेजा, ताकि मैं देख सकूं कि कितने किसानों का कर्ज माफ हुआ है।

शिवराज सिंह ने कांग्रेस पर आरोप लगाया की किसान कर्जमाफ़ी कांग्रेस सरकार का सबसे बड़ा झूठ है और मुख्यमंत्री कमलनाथ एमपी के किसानों को मूर्ख समझते हैं। जब तक बैंक किसानों को कर्ज माफी का प्रमाण पत्र नहीं देता तब तक कर्ज माफी नहीं मानी जाएगी। शिवराज ने कांग्रेस पर किसानों को बेवकूफ बनाने का आरोप लगाया।

 

और भी पढ़ें :