लोकसभा चुनाव 2019 के अंतिम चरण में 59 सीटों पर मतदान, कई दिग्गजों का भाग्य EVM में होगा बंद

पुनः संशोधित शनिवार, 18 मई 2019 (23:24 IST)
नई दिल्ली। 7 चरणों में हो रहा लोकसभा चुनाव अपने अंतिम चरण में रविवार को 59 सीटों पर मतदान के साथ संपन्न हो जाएगा। वाराणसी सीट पर भी 19 मई को ही मतदान होगा, जहां से खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक बार फिर उम्मीदवार हैं। मतगणना 23 मई को होगी।
7वें चरण में पंजाब में 13, उत्तरप्रदेश में 13, पश्चिम बंगाल में 9, बिहार और मध्यप्रदेश में 8-8, हिमाचल प्रदेश में 4, झारखंड में 3 और चंडीगढ़ की एकमात्र लोकसभा सीट पर मतदान होगा। इस चरण में 10.01 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे और वे 918 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला करेंगे। निर्वाचन आयोग ने मतदान सुगम तरीके से संपन्न कराने के लिए 1.12 लाख मतदान केंद्र बनाए हैं।
रविवार को ही पणजी विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव होगा, जो पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद रिक्त हो गई थी। इसके साथ ही तमिलनाडु की 4 विधानसभा सीटों- सुलूर, अरवाकुरुचि, ओत्तापिदरम (सुरक्षित) और तिरुपरंकुंद्रम पर भी रविवार को उपचुनाव होगा। लोकसभा चुनाव के पिछले 6 चरणों में औसतन 66.88 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

उत्तरप्रदेश में सभी की निगाहें वाराणसी सीट पर हैं, जहां मोदी के मुख्य प्रतिद्वंद्वियों में कांग्रेस के अजय राय, सपा-बसपा महागठबंधन की उम्मीदवार शालिनी यादव शामिल हैं। इस सीट पर कुल 25 उम्मीदवार मैदान में हैं। केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा और उत्तरप्रदेश भाजपा के मुखिया महेंद्र नाथ पांडेय क्रमश: गाजीपुर और चंदौली से फिर से जीत की उम्मीद कर रहे हैं।
इस चरण में भाजपा उत्तरप्रदेश में 11 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है, वहीं इसका सहयोगी दल अपना दल (सोनेलाल) 2 सीटों- मिर्जापुर और रॉबर्ट्सगंज से चुनाव लड़ रहा है। मिर्जापुर से फिलहाल केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल सांसद हैं।

पंजाब में शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल तथा हरदीप सिंह पुरी सहित 278 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला भी रविवार को होगा। 6 लाख मतदाताओं वाली चंडीगढ़ लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद एवं भाजपा उम्मीदवार किरण खेर के खिलाफ पूर्व रेलमंत्री एवं कांग्रेस उम्मीदवार पवन कुमार बंसल चुनाव मैदान में हैं।
अभिनेता से नेता बने सनी देओल, पंजाब कांग्रेस के मुखिया सुनील जाखड़ और आप की पंजाब इकाई के प्रमुख भगवंत मान अन्य चर्चित उम्मीदवार हैं। पंजाब में 13 में से ज्यादातार सीटों पर शिअद-भाजपा गठबंधन और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला प्रतीत हो रहा है।

पश्चिम बंगाल की 9 सीटों- कोलकाता उत्तर और कोलकाता दक्षिण, दमदम, बारासात, बशीरहाट, जाधवपुर, डायमंड हार्बर, जयनगर (सुरक्षित) और मथुरापुर (सुरक्षित) पर 1,49,63,064 मतदाता 111 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला करेंगे।
बिहार में 7वें चरण के मतदान में 4 केंद्रीय मंत्रियों- रविशंकर प्रसाद, रामकृपाल यादव, आरके सिंह और अश्विनी कुमार चौबे सहित 157 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होगा। राज्य में जिन 8 सीटों पर रविवार को मतदान होगा, उनमें से 7 सीटें पिछली बार राजग ने जीती थीं। इनमें से 5 सीटें भाजपा और 2 सीटें अब महागठबंधन का हिस्सा बन चुके आरएलएसपी ने जीती थीं। 1 सीट जदयू ने जीती थी जिसने उस समय अपने बूते चुनाव लड़ा था। जदयू अब राजग में वापस आ गया है। इसके अलावा राज्य की डेहरी विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव होगा।
बिहार में सबकी नजरें पटना साहिब पर हैं, जहां से नरेन्द्र मोदी कैबिनेट के सबसे प्रमुख सदस्यों में एक रविशंकर प्रसाद कांग्रेस उम्मीदवार एवं भाजपा के टिकट पर 2 बार इस सीट पर जीत चुके शत्रुघ्न सिन्हा के खिलाफ मैदान में हैं।

झारखंड में रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री शिबू सोरेन सहित 42 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला होगा। झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) प्रमुख और 8 बार सांसद रहे सोरेन दुमका सीट से फिर चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा ने उनके खिलाफ सुनील सोरेन को मैदान में उतारा है।
मध्यप्रदेश में देवास, उज्जैन, मंदसौर, रतलाम, धार, इंदौर, खरगोन और खंडवा सीटों पर मतदान होगा, वहीं हिमाचल प्रदेश में आज 4 लोकसभा सीटों पर 45 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला होगा। (भाषा)

 

और भी पढ़ें :