नंगे पैर व मोदी साड़ी पहनकर अमित शाह की गोपनीय बैठक में पहुंचीं कानपुर की मेयर

अवनीश कुमार| Last Updated: शनिवार, 13 अप्रैल 2019 (19:45 IST)
कानपुर। राजनीति में नेताओं को क्या-क्या नहीं करना पड़ता है, इसका जीता-जागता उदाहरण उस वक्त देखने को मिला जब कानपुर के 5 सितारा होटल में की में शामिल होने के लिए कानपुर की मेयर प्रमिला पांडे नंगे पैर व मोदी पोस्टर बनी साड़ी पहनकर पहुंच गईं तो वे वहां पर मौजूद अन्य नेताओं के आकर्षण का केंद्रबिंदु बन गईं।
इसी बीच जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि मोदी की साड़ी पहनकर क्यों आई हैं? तो उन्होंने बड़ी ही बेबाकी से कहा कि मेरा मन है कि मैं मोदी साड़ी पहनूं और इतना कहकर बैठक में शामिल होने के लिए वे होटल के अंदर चली गईं, लेकिन होटल के बाहर वे चर्चा का केंद्रबिंदु बनी रहीं। इसी बीच भाजपा के एक नेता ने मजाक-मजाक में कह डाला कि नंगे पैर वे साड़ी पहनकर इसलिए आई हैं कि वे राष्ट्रीय अध्यक्ष की नजरों में आ सके, आखिरकार पक्की नेता जो हैं वे।
बताते चलें कि लोकसभा चुनाव में पार्टी की स्थिति जानने के लिए अमित शाह वाराणसी के बाद शनिवार को शहर आ गए। यहां पर अमित शाह पदाधिकारियों के साथ गोपनीय बैठक कर कानपुर व बुंदेलखंड की सभी 10 सीटों पर जीत का मंथन कर रहे हैं। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश प्रभारी जेपी नड्डा, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र पांडेय भी मौजूद हैं।
शाह ने बनाया जीत का चक्रव्यूह : कानपुर के एक नामचीन होटल के अंदर पदाधिकारियों के साथ चुनावी जीत के मंथन को लेकर अमित शाह ने एक गोपनीय बैठक की। शाह ने कानपुर की लोकसभा की 10 सीटों को लेकर बारीक से बारीक जानकारियां पदाधिकारियों से ली। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश प्रभारी जेपी नड्डा, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र पांडेय मौजूद थे।

कानपुर-बुंदेलखंड की 10 लोकसभा सीटों में पिछली बार मोदी लहर में भाजपा 9 सीटें जीतने में सफल रही लेकिन अबकी बार सपा, बसपा और रालोद का गठबंधन है। यह गठबंधन ग्रामीण क्षेत्रों की सीटों में भाजपा को काफी हद तक टक्कर दे रहा है। इसके बावजूद भाजपा किसी प्रकार का जोखिम नहीं लेना चाहती जिसके चलते भाजपा अध्यक्ष अमित शाह वाराणसी दौरे के बाद कानपुर आए। बैठक पूरी तरह से गोपनीय रखी गई। बैठक में कानपुर-बुंदेलखंड के उम्मीदवार भी मौजूद थे।

 

और भी पढ़ें :