पूर्व सैनिकों की चिट्ठी पर बवाल, जताया था सेना के नाम पर वोट मांगने पर ऐतराज, राष्‍ट्रपति भवन ने किया इनकार

नई दिल्ली| पुनः संशोधित शुक्रवार, 12 अप्रैल 2019 (14:45 IST)
नई दिल्ली। चुनाव प्रचार में भारतीय सेना के नाम पर राजनीति का मामला बेहद गरमा गया है। 156 से अधिक पूर्व सैनिकों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को चिट्ठी लिखकर इस पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई है। इनमें पूर्व जनरल एसएफ रोड्रिग्स, पूर्व जनरल शंकर राय चौधरी, पूर्व जनरल दीपक कपूर जैसे बड़े नाम भी शामिल है। हालांकि राष्ट्रपति भवन ने इस तरह की किसी भी चिट्ठी मिलने से इनकार किया है।

इसके अलावा इस चिट्ठी में जिन पूर्व सैनिकों का नाम शामिल है, उन्हीं में से एक रिटायर्ड एयर मार्शल एनसी सूरी ने भी कहा है कि उन्होंने इस प्रकार की किसी चिट्ठी पर हस्ताक्षर नहीं किया है। उनके अलावा जनरल एस.एफ. रोड्रिग्स ने भी इस प्रकार की चिट्ठी में अपना नाम होने से इनकार किया है।

रोड्रिग्स ने कहा कि पता नहीं ये कहां से आया है, मैं अपनी पूरी जिंदगी राजनीति से दूर रहा हूं। 42 साल के करियर में मैंने राजनीति की बात नहीं की है। मैं नहीं जानता कि किन लोगों ने इस प्रकार की गलत खबर फैलाई है।
गौरतलब है कि चुनाव में सेना और वर्दी का इस्तेमाल होने पर इन सैन्य अधिकारियों ने आपत्ति जताई थी। चिट्ठी सामने आने के बाद कांग्रेस ने भी केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा था। कांग्रेस ने ट्वीट किया था कि भले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सेना के नाम पर मांग लें, लेकिन सेना सिर्फ देश की है बीजेपी की नहीं।

 

और भी पढ़ें :