0

Friendship Day Quotes : मित्र के तीन लक्षण कौन से हैं, जानिए फ्रेंडशिप डे पर अनमोल वचन

शनिवार,जुलाई 31, 2021
0
1
रणछोड़ दास पागी एक ऐसा ही नाम है जो थे तो महज भेड़, बकरी और ऊंट पालने वाले एक सामान्‍य से व्‍यक्‍ति, लेकिन जब भारत की पाकिस्‍तान के साथ 1965 और 1971 के युद्ध की बात होती है तो उनका योगदान सबसे ज्‍यादा नजर आता है।
1
2
दोस्ती एक ऐसा आकाश है जिसमें प्यार का चंद्र मुस्कुराता है, रिश्तों की गर्माहट का सूर्य जगमगाता है और खुशियों के नटखट सितारे झिलमिलाते हैं। एक बेशकीमती पुस्तक है दोस्ती, जिसमें अंकित हर अक्षर, हीरे, मोती, नीलम, पन्ना, माणिक और पुखराज की तरह है, ...
2
3
स्‍कूल जा रहे बच्‍चों को अपनी लाइफ में कॉलेज लाइफ का ब्रेसबी से इंतजार रहता है। क्‍योंकि वहां पर वह आजादी महसूस करते हैं, पढ़ना हो तो पढ़ो वरना नहीं, कभी क्‍लास बंक मार दी और दोस्‍तों के साथ घुमने निकल पड़ते हैं। लेकिन कॉलेज लाइफ ऐसा पड़ाव होता है ...
3
4
व्हाट्सएप ने अमेरिका के कैलिफोर्निया के एक न्यायालय में इस सॉफ्टवेयर को बनाने वाली इजरायली कंपनी एनएसओ के खिलाफ मुकदमा दायर किया था। आपको यह भी याद होगा कि तत्कालीन सूचना तकनीक मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अक्टूबर 2019 में ही बाजाब्ता ट्विटर पर ...
4
4
5
आज हिन्दी के ख्यात साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद की जयंती है। उन्होंने कई उपन्यास, कविताएं और लेख लिखे हैं। प्रेमचंद बेहतरीन भारतीय लेखकों में से एक हैं। यहां पढ़ें खास सामग्री एक साथ...
5
6
31 जुलाई को प्रेमचंद जयंती है। अपनी लेखनी के माध्यम से समाज सुधार का प्रचार करने और उसे आत्मसात करने वाले वरिष्ठ साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद की लेखनी आज भी उतनी ही प्रासंगिक है। यहां उनकी जयंती के उपलक्ष्य में सुधी पाठकों के लिए प्रस्तुत है उनकी यादों ...
6
7
सूरज क्षितिज की गोद से निकला, बच्चा पालने से- वही स्निग्धता, वही लाली, वही खुमार, वही रोशनी। मैं बरामदे में बैठा था। बच्चे ने दरवाजे से झांका। मैंने मुस्कुराकर पुकारा।
7
8
रामधन अहीर के द्वार एक साधू आकर बोला- बच्चा तेरा कल्याण हो, कुछ साधू पर श्रद्धा कर। रामधन ने जाकर स्त्री से कहा- साधू द्वार पर आए हैं, उन्हें कुछ दे दे।
8
8
9
आज भी देशभर के तमाम रेलवे स्‍टेशनों के बुक स्‍टॉल्‍स पर सबसे सबसे ज्‍यादा मुंशी प्रेमचंद की किताबें रखी नजर आ जाएगीं। हिंदी लेखन के लिए प्रसिद्ध हुए मुंशी जी के बारे में शायद बहुत कम लोग जानते हैं कि उन्‍होंने अपने लिखने की शुरुआत उर्दू से की थी।
9
10
एक शाम एक सम्राट अपने महल में प्रवेश कर रहा था तो उनने देखा की बड़े से द्वार पर एक बूढ़ा प्रहरी खड़ा है और पुरानी तथा पतली सी वर्दी उसने पहन रखी है और वह भी सर्दी के दिन में।
10
11
समय बड़ा बलवान होता है। समय की कीमत नहीं समझने वाले उतने ही हैं जितने समय की कीमत समझते हैं। आओ जानते हैं कि समय को क्यों महत्व देना चाहिए।
11
12
आपकी चाहता आपकी खुशी से जुड़ी है। आपकी खुशी या प्रसन्नता से ही आपकी चाहता या इच्छा पूर्ण होती है। आपको यह रहस्य समझना चाहिए। यदि आप यह समझ गए तो सफल हो जाएंगे।
12
13
हर कोई जल्दी से जल्दी सक्सेस होना चाहता है परंतु वह ऐसा कर पाने में सक्षम नहीं हो पाता है तो इसके कुछ कारण हो सकते हैं। यदि आपको सफलता नहीं मिल रही है तो कहीं ना कहीं आप गलत दिशा में प्रयास कर रहे होंगे। आओ जानते हैं जल्दी से सक्सेस होने के 10
13
14
मैं कभी ऐसा लेखक नहीं रहा जिसे तुम सीने से लगाओ। अगर तुम हिंदीवाले हो तो तुम्हें सीने से प्रेमचंद, रेणु और मुक्तिबोध को ही लगाना चाहिए; मुझे नहीं।
14
15
आज सारी दुनिया मानसिक स्वास्थ्य के संकट की चपेट में है, विश्व में अवसाद, चिंता और गहन तनाव से ग्रस्त लोगों की संख्या बढ़ रही है, ऐसे में अधिक से अधिक लोग अपने सवालों का जवाब भीतर तलाश रहे हैं। एक ऐसी यात्रा पर जाने के लिए जो आत्मा की तरह अमूर्त है, ...
15
16
1995 में डिंपल कैप्‍टन विक्रम बत्रा से मि‍लीं, 1996 में विक्रम सेना में चले गए। 1999 में वि‍क्रम कारगिल वॉर में शहीद हो गए। इन पांच सालों में कुछ ही वक्‍त डिंपल और विक्रम साथ में रहे। लेकिन विक्रम ने जहां देश की सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहराकर देश ...
16
17
रिश्तों में स्पष्ट संचार और वार्तलाप बेहद आवश्यक है, मस्ती-मजाक, रूठना-मनाना भी रिश्तों को मजबूती देता है, एक-दूसरे को समय देना और एक-दूसरे की निजता का भी सम्मान करना ज़रूरी है... लेकिन क्या इसकी आड़ में हर बात पर ‘अबोला’ सही है?
17
18
1971 का साल था। भारत की पाकिस्‍तान के साथ ऐतिहासिक जंग हो रही थी, इस जंग में पाकिस्‍तान ने इंडियन एयरफोर्स (आईएएफ) के बेस पर लगातार करीब 14 दिनों तक बम बरसाए थे। इस आपॅरेशन को पाकिस्‍तान ने ऑपरेशन चंगेज खां नाम दिया था। लेकिन भारतीय वायु सेना के ...
18
19
बम के धमाकों के बीच उस समय जो नाम देश में सबसे ज्‍यादा गूंज रहा था वो नाम था कैप्‍टन विक्रम बत्रा का।
19