0

ईश्‍वर से ‘मिलाप’ और ‘कन्‍वर्सेशन’ का तरीका है मुरालाला की लोक गायकी

गुरुवार,फ़रवरी 20, 2020
muralala marwada
0
1
सोशल मीडिया पर कुछ लोग इसे बिहार चुनाव के प्रचार के स्‍टंट के तौर पर भी देख रहे हैं, लेकिन सच्‍चाई यह है कि यह प्रधानमंत्री का अपना एक अलग अंदाज है।
1
2
यह कहानी ओशो रजनीश ने अपने किसी प्रवचन में सुनाई थी। यह सूफी संत मंसूर अल हल्लाज और उसके गुरु जुन्नैद की है। कहते हैं कि मंसूर पारसी से मुसलमान बन गया था। उसके गुरु जन्नैद ने उसे ज्ञान की शिक्षा दी थी।
2
3
यूनान में एक प्रसिद्ध दार्शनिक हुए डायोनीज, जो सुकरात के शिष्य थे। उसकी अपनी जरूरतें बहुत ही कम थीं। वह भिक्षा लेकर अपना निर्वाह करते थे और जहां भी शरण मिल जाती थी वहीं रात गुजार लेते थे।
3
4
आज के समय में संस्कृत पढ़ने वालों की संख्या कम हो रही है, लोगों का झुकाव अंग्रेजी की तरफ हो रहा है। ऐसे में संस्कृत में शोध कार्य करना और पीएचडी की उपाधि प्राप्त करना एक सराहनीय प्रयास है।
4
4
5
जर्मन दार्शनिक फ्रेडरिक नीत्शे ने कहा- शक्‍ति की आकांक्षा जहां-जहां दिखाई देती है उनमें एक है- समाज और व्‍यक्‍ति। मूल सिद्धांत सिर्फ व्‍यक्‍ति ही स्‍वयं को जिम्‍मेदार मानते हैं। समूह इसलिए बनाए गए है ताकि वे काम किए जाएं जिन्‍हें करने का साहस ...
5
6
परदे के बेताज बादशाह अमिताभ बच्‍चन की यह हालत अमर सिंह से देखी नहीं गई और उन्‍होंने बच्‍चन की आर्थिक मदद की। तब से सिनेमा और राजनीति के दो धुरंदरों की इस दोस्‍ती की चर्चा मुंबई की गलियों आम हो गई थी।
6
7
जिस एक्‍सिबिशन में फ्रेडी के किमोनो रखे जाएंगे, उसे किमोनो: क्‍योटो टू कैटवॉक नाम दिया गया है। यह प्रदर्शनी 29 फरवरी को शुरू होगी।
7
8
भारतीय दार्शनिक जे. कृष्णमूर्ति कहते हैं- किसी भी चीज की गहरे तक समझ और चीज की त्वरित समझ। यहां तक कि समझने के लिए ध्यान पूर्वक सुनना। कई मर्तबा आप सिर्फ देखते हैं, मगर सुनते नहीं। कुछ सीखने के बाद आप वैसा करने लगते हैं, इसका मतलब हुआ जब सीखने की ...
8
8
9
देश के मुखिया से सीधा निवेदन कि आपके मन की बात आप प्रायः करते हैं और हम सुनते, समझते व सराहते भी हैं। लेकिन मोदी जी, अब आप एक मां का मन सुनिए और समझिए। जिस मां की बेटी के साथ इतना बड़ा अन्याय हुआ, उसे न्याय दिलाइए।
9
10
एक बार ओशो ने एक बड़ी ही रोचक कहानी सुनाई। राजमहल के निकट से कुछ बच्‍चे खेलते हुए निकले। एक बच्‍चे ने पत्‍थर उठा लिया और महल की खिड़की की तरफ फेंका। वह पत्‍थर ऊपर उठने लगा। उस पत्‍थर की जिंदगी में यह नया अनुभव था। यह अभूतपूर्व घटना थी, पत्‍थर का ऊपर ...
10
11
इतने साफ और स्‍पष्‍ट अपराध के बावजूद निर्भया की ‘आशा’ आखिर क्‍यों बार-बार टूट जाती है।
11
12
यह कहानी महान दार्शनिक सुकरात की है। ओशो रजनीश ने अपने किसी प्रवचन में यह कहानी सुनाई थी। आप भी इसे पढ़ें और समझें।
12
13
भाजपा जिस तरह से साल 2018 से विधानसभा चुनावों में हार का सामना करते हुए राज्यों से सिमटती चली जा रही है, वह भाजपा के लिए चिंताजनक है।
13
14
अगर मैं दो लोगों के साथ चल रहा हूं तो दोनों से ही सीखूंगा। एक की अच्छी बातें समझकर उनका अनुसरण करूंगा तो दूसरे की खराब बातों को जानकर खुद में सुधार कर लूंगा। हमारी कामयाबी कभी न गिरने में नहीं, बल्कि गिरकर खड़े होने और फिर चलने में है।
14
15
मोहल्ला स्तर के नेताओं तक ने सरकारी योजनाओं के गुलाब जामुन खाए और अपनों को खिलाए। फिर बात चाहे आवास योजना की हो, शिक्षा की हो या फिर बीपीएल कार्ड या कामकाजी महिला कार्ड की।
15
16
आरंभ से ही पूरा चुनाव आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल की ओर एकपक्षीय लग रहा था।
16
17
यह कहानी ऐसे कर्मों के फल भी है जिसे आपने कभी नहीं किया। फिर भी आपको कैसे यह दोष लगा? जानिए महाभारत की दिलचस्प कहानी।
17
18
यह कहानी ओशो ने अपने किसी प्रवचन में सुनाई थी। जीवन में सुख है तो दुख भी है और इसके अलावा भी बहुत कुछ होता है। सभी को स्वीकार करना जरूरी है।
18
19
प्यार के कोमल स्वरूप को सहेजे जाने की जरूरत है। जहां शब्द अनावश्यक हो जाए और अभिव्यक्ति बस आंखों ही आंखों में एक से दूजे तक पहुंच जाए। एहसास की एक ऐसी भीगी बयार, जो एक-दूजे के पास ना रहने पर भी दोनों को आत्मा का गहरा संदेश दे जाए। जी हां, बस.. प्यार ...
19