0

लाइट, कैमरा, एक्शन और 'एक चीख' : ये है बॉम्बे मेरी जान

शनिवार,सितम्बर 26, 2020
child trafficking
0
1
पार्टी का उम्‍मीदवार अपने चुनाव मुख्‍यालय में लैपटॉप पर बैठकर ट्व‍िटर और फेसबुक पर नजर रखेगा।
1
2
ये जो छोटी मछलियां-बड़ी मछलियां तड़पती दिखाई दे रही हैं दरअसल ये सब बॉलीवुड के गीले-सूखे कचरे हैं जिन्हें हमें खुद उठाकर सावधानी से कचरा गाड़ी में डालना है।
2
3
1981 के आसपास लिखी गई इस किताब में एक संक्रमण का जिक्र है और इसे वुहान 400 का ही नाम दिया गया है। यानी आज से करीब 40 साल पहले उस वायरस के बारे में लिए किताब में जिक्र कर दिया गया था। एक अमेरिकी की यह कृति शुरु तो एक ऐसी मां से होती है जो अपने बच्चे ...
3
4
बि‍लकिस बानो जिसे टाइम ने अपनी सूची में शामिल किया है।
4
4
5
वे तमाम लोग जो नीतिपरक (एथिकल) पत्रकारिता की मौत और चैनलों द्वारा परोसी जा रही नशीली खबरों को लेकर अपने छाती-माथे कूट रहे हैं, उन्हें हाल में दूसरी बार राज्यसभा के उपसभापति चुने गए खाँटी सम्पादक-पत्रकार हरिवंश नारायण सिंह को लेकर मीडिया में चल रही ...
5
6
ड्रग मामले में नारकोटि‍क्‍स ब्‍यूरो ने दीपि‍का पादुकोण, सारा अली खान, श्रद्धा कपूर और रकुलप्रीत सिंह को तलब किया है।
6
7
एक जया संसद में बचाव के कमजोर तर्क रखती है और एक जया एनसीबी के सामने एक से बढ़कर एक नाम उगलती है... जया से लेकर जया तक हर किसी के दिल धड़क रहे हैं... हर कोई अपने-अपने विक्टिम कार्ड खोज रहा है, बचाव के गलियारे तलाश रहा है और आम जनता, मध्यम वर्गीय ...
7
8
दिनकर के साहित्यिक जीवन की विशेषता यह थी कि शासकीय सेवा में रहकर राजनीति से संपृक्त रहते हुए भी वे निरंतर स्वच्छंद रूप से साहित्य सृजन करते रहे। उनकी साहित्य चेतना राजनीति से उसी प्रकार निर्लिप्त रही, जिस प्रकार कमल जल में रहकर भी जल से निर्लिप्त ...
8
8
9
रात यों कहने लगा मुझसे गगन का चाँद, आदमी भी क्या अनोखा जीव है! उलझनें अपनी बनाकर आप ही फँसता, और फिर बेचैन हो जगता, न सोता है।
9
10
इन विधेयकों के द्वारा भारतीय जनता पार्टी की सरकार भले ही युगान्तरकारी तथा किसानों की समृद्धि का द्वार खोलने का दावा करती है
10
11
ग्रीष्म के दिनों में आम, जाड़े के दिनों में जाम, बाग में खिले कुसुम मंद-मंद बहती समीर
11
12
टॉप मॉडल के साथ ही बड़े नेताओं के बेटों को लग चुकी है ड्रग्‍स की लत
12
13
आखि‍र क्‍या हुआ था इन 10 लोगों के साथ, कोई नहीं जानता सच!
13
14
नया संसद भवन समय के साथ प्रासंगिक है। हो भी क्यों न जब 2026 में संसदीय क्षेत्रों का नए सिरे से परिसीमन होगा
14
15
जर्मनी की सड़कों पर साठ लाख यहूदियों के निस्‍तेज और ठंडे शव। करीब 15 लाख बच्‍चों की खून से सनी बे-हरकत लाशें। इसकी गंध कई दशकों तक पसरी रहेगी।
15
16
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिवस के अवसर पर आज देश भर में अनेक समारोह आयोजित किए जा रहे हैं। इसी क्रम में नई दिल्ली में केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता फग्गनसिंह कुलस्ते ने ‌'महानायक मोदी' शीर्षक से प्रकाशित एक ...
16
17
इशकरण को सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्‍ध मौत के मामले में चर्चा करते हुए कई न्‍यूज चैनल्‍स पर ड‍िबेट करते देखा जा सकता है।
17
18

हिन्दी कविता : अजन्मी का जन्म

शुक्रवार,सितम्बर 18, 2020
रोजगार ढूंढता पति, वो ससुराल में है पड़ी कैसे चले घर का खर्च ये आफत भी आन पड़ी,शर्म नहीं आई ऐसे में, हो गई गर्भवती तू
18
19
सहज जिज्ञासा है कि लोग पूछ रहे हैं: 'अब क्या करना चाहिए?’ एक विशाल देश और उसके एक दूसरे से लगातार अलग किए जा रहे नागरिक जिस मुक़ाम पर आज खड़े हैं, वे जानना चाह रहे हैं कि उन्हें अब किस दिशा में आगे बढ़ना चाहिए?
19