0

अपनी जासूसी किए जाने से नाराज़ क्यों नहीं हैं नागरिक?

बुधवार,अगस्त 4, 2021
0
1
मां तुम जो रंगोली दहलीज पर बनाती हो उसके रंग मेरी उपलब्धियों में चमकते हैं तुम जो समिधा सुबह के हवन में डालती हो उसकी सुगंध मेरे जीवन में महकती है तुम जो मंत्र पढ़ती हो वे सब के सब मेरे मंदिर में गुंजते हैं
1
2
मां मेरे हिस्से बहुत कम आती है..! शिकायत नहीं, बस एक हकीकत है. मां हूं, पर मां की मुझे भी ज़रूरत है. देहरी लांघने से बेटी क्या बेटी नहीं रह जाती है?
2
3
मैथिलीशरण गुप्त का जन्म झांसी के समीप चिरगांव में 3 अगस्त, 1886 को हुआ। बचपन में स्कूल जाने में रूचि न होने के कारण इनके पिता सेठ रामचरण गुप्त ने इनकी शिक्षा का प्रबंध घर पर ही किया था
3
4
जीवन में आदमी की हजारों चीजों में से कुछ ही चीजें काम आती हैं। कई लोग उन चीजों को छोड़कर फालतू की चीजों पर अपना समय और पैसा बर्बाद करते रहे हैं। ऐसे में जब उन्हें असफलता हाथ लगती है तो वे भाग्य और ईश्वर को दोष देते रहते हैं जबकि वे असल में समझ नहीं ...
4
4
5
रणछोड़ दास पागी एक ऐसा ही नाम है जो थे तो महज भेड़, बकरी और ऊंट पालने वाले एक सामान्‍य से व्‍यक्‍ति, लेकिन जब भारत की पाकिस्‍तान के साथ 1965 और 1971 के युद्ध की बात होती है तो उनका योगदान सबसे ज्‍यादा नजर आता है।
5
6
बीते बरस प्राकृतिक आपदाओं के कारण दुनियाभर में बेघर हुए लोगों की संख्या 10 बरसों में सबसे ज्यादा रही। जहां साढ़े 5 करोड़ लोग अपने ही देशों में विस्थापित हुए वहीं ढ़ाई करोड़ से ज्यादा दूसरे देशों में शरणागत हुए।
6
7
मित्र के तीन लक्षण हैं-अहित से हटाना, हित में लगाना, मुसीबत में साथ न छोड़ना,धन के अभाव में विश्व में जो लोग मित्रों का कार्य करते हैं उन्हें ही मित्र समझता हूं...अच्छी स्थिति वाले व्यक्ति की वृद्धि में कौन साथ नहीं देता।
7
8
दोस्ती एक ऐसा आकाश है जिसमें प्यार का चंद्र मुस्कुराता है, रिश्तों की गर्माहट का सूर्य जगमगाता है और खुशियों के नटखट सितारे झिलमिलाते हैं। एक बेशकीमती पुस्तक है दोस्ती, जिसमें अंकित हर अक्षर, हीरे, मोती, नीलम, पन्ना, माणिक और पुखराज की तरह है, ...
8
8
9
स्‍कूल जा रहे बच्‍चों को अपनी लाइफ में कॉलेज लाइफ का ब्रेसबी से इंतजार रहता है। क्‍योंकि वहां पर वह आजादी महसूस करते हैं, पढ़ना हो तो पढ़ो वरना नहीं, कभी क्‍लास बंक मार दी और दोस्‍तों के साथ घुमने निकल पड़ते हैं। लेकिन कॉलेज लाइफ ऐसा पड़ाव होता है ...
9
10
व्हाट्सएप ने अमेरिका के कैलिफोर्निया के एक न्यायालय में इस सॉफ्टवेयर को बनाने वाली इजरायली कंपनी एनएसओ के खिलाफ मुकदमा दायर किया था। आपको यह भी याद होगा कि तत्कालीन सूचना तकनीक मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अक्टूबर 2019 में ही बाजाब्ता ट्विटर पर ...
10
11
आज हिन्दी के ख्यात साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद की जयंती है। उन्होंने कई उपन्यास, कविताएं और लेख लिखे हैं। प्रेमचंद बेहतरीन भारतीय लेखकों में से एक हैं। यहां पढ़ें खास सामग्री एक साथ...
11
12
31 जुलाई को प्रेमचंद जयंती है। अपनी लेखनी के माध्यम से समाज सुधार का प्रचार करने और उसे आत्मसात करने वाले वरिष्ठ साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद की लेखनी आज भी उतनी ही प्रासंगिक है। यहां उनकी जयंती के उपलक्ष्य में सुधी पाठकों के लिए प्रस्तुत है उनकी यादों ...
12
13
सूरज क्षितिज की गोद से निकला, बच्चा पालने से- वही स्निग्धता, वही लाली, वही खुमार, वही रोशनी। मैं बरामदे में बैठा था। बच्चे ने दरवाजे से झांका। मैंने मुस्कुराकर पुकारा।
13
14
रामधन अहीर के द्वार एक साधू आकर बोला- बच्चा तेरा कल्याण हो, कुछ साधू पर श्रद्धा कर। रामधन ने जाकर स्त्री से कहा- साधू द्वार पर आए हैं, उन्हें कुछ दे दे।
14
15
आज भी देशभर के तमाम रेलवे स्‍टेशनों के बुक स्‍टॉल्‍स पर सबसे सबसे ज्‍यादा मुंशी प्रेमचंद की किताबें रखी नजर आ जाएगीं। हिंदी लेखन के लिए प्रसिद्ध हुए मुंशी जी के बारे में शायद बहुत कम लोग जानते हैं कि उन्‍होंने अपने लिखने की शुरुआत उर्दू से की थी।
15
16
एक शाम एक सम्राट अपने महल में प्रवेश कर रहा था तो उनने देखा की बड़े से द्वार पर एक बूढ़ा प्रहरी खड़ा है और पुरानी तथा पतली सी वर्दी उसने पहन रखी है और वह भी सर्दी के दिन में।
16
17
समय बड़ा बलवान होता है। समय की कीमत नहीं समझने वाले उतने ही हैं जितने समय की कीमत समझते हैं। आओ जानते हैं कि समय को क्यों महत्व देना चाहिए।
17
18
आपकी चाहता आपकी खुशी से जुड़ी है। आपकी खुशी या प्रसन्नता से ही आपकी चाहता या इच्छा पूर्ण होती है। आपको यह रहस्य समझना चाहिए। यदि आप यह समझ गए तो सफल हो जाएंगे।
18
19
हर कोई जल्दी से जल्दी सक्सेस होना चाहता है परंतु वह ऐसा कर पाने में सक्षम नहीं हो पाता है तो इसके कुछ कारण हो सकते हैं। यदि आपको सफलता नहीं मिल रही है तो कहीं ना कहीं आप गलत दिशा में प्रयास कर रहे होंगे। आओ जानते हैं जल्दी से सक्सेस होने के 10
19