सरदार पटेल स्टेडियम में एलईडी लाइट से एक दम साफ दिखेगी गुलाबी गेंद

पुनः संशोधित बुधवार, 17 फ़रवरी 2021 (21:24 IST)
अहमदाबाद: मोटेरा के में एलईडी फ्लडलाइट लगायी गयी है जिससे नये लुक के इस स्टेडियम में भारत और इंग्लैंड के बीच 24 फरवरी से शुरू हो रहे आगामी दिन-रात्रि टेस्ट के दौरान हवा में गेंद को आसानी से देखा जा सकेगा।
गुजरात क्रिकेट संघ के संयुक्त सचिव अनिल पटेल ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में 11 सेंटर पिचें हैं और इसके साथ जिम सहित चार ड्रेसिंग रूम हैं।में व्यापक पुर्ननिर्माण का काम किया गया जो तब शुरू हुआ था जब मौजूदा बीसीसीआई सचिव जय शाह राज्य क्रिकेट इकाई के अध्यक्ष थे।

भारत बनाम इंग्लैंड का तीसरा टेस्ट नवनिर्मित सरदार पटेल स्टेडियम में खेला जाना है। जिसकी सारी टिकटें बिक चुकी हैं। आमतौर पर स्टेडियम में फ्लड लाइट होती है और डे नाइट टेस्ट के दौरान बल्लेबाज को गुलाबी गेंद को देखने में दिक्कत आती है लेकिन यहां एलईडी लाइट से खिलाड़ियों को यहां ऐसी कोई भी दिक्कत नहीं आने वाली है। भारत और इंग्लैंड इस सीरीज में 1-1 की बराबरी है और इन दोनों टीमों की भिड़ंत देखने लायक होगी।
क्रिकेट में दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम होने का गौरव अब के सरदार पटेल स्टेडियम के पास है। इससे पहले विश्व का सबसे बड़ा स्टेडियम ऑस्ट्रेलिया का मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) था जिसकी दर्शक क्षमता लगभग 1,00,024 थी। सरदार पटेल स्टेडियम में करीब 1 लाख 10 हजार लोग बैठकर मैच का लुत्फ उठा सकते हैं। एमसीजी के मुकाबले में इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता करीब 20 हजार ज्यादा है। दिलचस्प बात यह है कि जिस आर्किटेक्ट कंपनी ने एमसीजी की डिजाइन तैयार की थी, उसी कंपनी ने सरदार पटेल स्टेडियम की भी डिजाइन तैयार की है।
जीसीए के संयुक्त सचिव पटेल ने कहा, ‘‘यह दुनिया में एकमात्र स्टेडियम हैं जिसमें मुख्य मैदान पर 11 सेंटर पिचें हैं। साथ ही हम दुनिया में एकमात्र स्टेडियम है जिसमें अभ्यास और सेंटर पिच के लिये एक ही मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। हमने बेहतर दृश्यता और परछाई को दूर करने के लिये पूरी गोलाकर छत पर एलईडी लाइट लगायी हैं। ’(भाषा)



और भी पढ़ें :