मंगलवार, 31 जनवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Virat Kohli and Cheteshwar Pujara at the crease as India lose 2 wickets
Written By
Last Updated: बुधवार, 29 दिसंबर 2021 (17:01 IST)

बॉक्सिंग डे टेस्ट में गेंद और बल्ले के बीच रोमांचक मुकाबला, भारत की बढ़त पहुंची 209 रनों तक

सेंचुरियन:भारतीय टीम ने सुबह के सत्र में दो विकेट गंवाने के बावजूद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन बुधवार को यहां लंच तक तीन विकेट पर 79 रन बनाकर अपनी बढ़त 209 रन पर पहुंचा दी।

लंच के समय कप्तान विराट कोहली 18 और चेतेश्वर पुजारा 12 रन पर खेल रहे थे। भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के सामने 300 से अधिक रन का लक्ष्य रखने की कोशिश करेगी।

पुजारा का भाग्य ने साथ दिया क्योंकि लुंगी एनगिडी की गेंद पर कैगिसो रबाडा ने शार्ट मिडविकेट पर उनका आसान कैच छोड़ा। कोहली हालांकि अच्छी लय में दिख रहे हैं और अभी तक चार चौके लगा चुके हैं।

सेंचुरियन में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रिकार्ड इंग्लैंड के नाम पर है जिसने 2000-01 में चौथी पारी में 251 रन बनाकर जीत दर्ज की थी। दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी मजबूत नहीं है और उनके लिये इस पिच पर जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और मोहम्मद सिराज जैसे गेंदबाजों के सामने बल्लेबाजी करना आसान नहीं होगा।

भारत ने पहले सत्र में 63 रन जोड़े। उसने नाइटवाचमैन शार्दुल ठाकुर (10) के रूप में पहला विकेट गंवाया जिन्होंने रबाडा की गेंद पर दूसरी स्लिप में वियान मुल्डेर को कैच दिया।

पहली पारी में शतक जड़ने वाले केएल राहुल (74 गेंदों पर 23 रन) ने संयम से काम लिया। उन्होंने ऑफ स्टंप से बाहर की कई गेंदों को छोड़ा। इस बीच एनगिडी की तेजी से उठती एक गेंद उनकी उंगलियों पर लगी जिसके लिये उन्हें चिकित्सा मदद लेनी पड़ी।

इससे उनकी एकाग्रता भंग हुई और एनगिडी की ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंद पर उन्होंने पहली स्लिप में खड़े कप्तान डीन एल्गर को कैच दे दिया। मयंक अग्रवाल को जानसेन ने विकेटकीपर कॉक के हाथों कैच आउट करवाया था।
गौरतलब है कि दूसरा दिन बारिश के कारण धुलने के कारण अब इस टेस्ट में कुल 2 दिन बचे हैं। भारत को अगर नतीजा अपने पक्ष में करना है तो कम से कम 325 से लेकर 350 रनों का लक्ष्य मेजबान दक्षिण अफ्रीका को देना होगा। ताकि अंतिम दिन भारतीय गेंदबाजों के सामने 10 विकेट लेने के लिए पर्याप्त समय बचे।

मौसम की भी भूमिका पांचवे दिन अहम रहने वाली है क्योंकि पांचवे दिन बारिश का अंदेशा है।