इंग्लैंड की जमीन पर विराट कोहली का पहला शतक, दूसरी पारी में इंग्लैंड का पहला विकेट गिरा

Last Updated: शुक्रवार, 3 अगस्त 2018 (01:16 IST)
बर्मिंघम। कप्तान विराट कोहली ने शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की नाकामी के बीच धैर्य, संयम और कौशल का बेजोड़ नमूना पेश करते हुए 149 रन की कप्तानी की जिम्मेदारी भरी पारी खेलकर भारत का इंग्लैंड के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को सम्मान बचा लिया।
 
 
भारत ने इंग्लैंड के 287 रन के जवाब में 274 रन बनाए। इंग्लैंड को पहली पारी में मात्र 13 रन की बढ़त हासिल हुई। इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक एक विकेट खोकर नौ रन बना लिए हैं और उसकी कुल बढ़त 22 रन की हो गई है।
 
पहली पारी में चार विकेट लेने वाले ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने जैसे ही ओपनर एलेस्टेयर कुक को बोल्ड किया, दिन का खेल समाप्त हो गया। अश्विन ने पहली पारी में भी कुक को बोल्ड किया था। स्टंप्स के समय कीटन जेनिंग्स 5 रन बनाकर क्रीज पर थे।
 
मैच का दूसरा दिन पूरी तरह विराट के नाम रहा जिन्होंने अपने करियर का 22वां शतक बनाते हुए 2014 के पिछले दौरे की तमाम बुरी यादों को एक झटके में पीछे छोड़ दिया। विराट का इंग्लैंड की जमीन पर यह पहला शतक है।
 
भारतीय कप्तान 225 गेंदों में 22 चौकों और एक छक्के की मदद से 149 रन बनाकर आखिरी बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। उन्होंने अपनी पारी का एकमात्र छक्का लेग स्पिनर आदिल राशिद की गेंद पर मारा लेकिन अगली गेंद पर स्टुअर्ड ब्रॉड को कैच दे बैठे और इसके साथ ही भारतीय पारी 76 ओवर में समाप्त हो गई।
 
विराट इस शतक के साथ इंग्लैंड की जमीन पर शतक बनाने वाले पांचवें भारतीय कप्तान बन गए हैं और इंग्लिश जमीन पर किसी भारतीय कप्तान का यह दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 1990 में मैनचेस्टर में 179 रन बनाए थे। विराट ने पिछले दौरे में पांच टेस्टों की 10 पारियों में कुल 134 रन बनाए थे लेकिन इस बार उन्होंने 149 रन ठोंक डाले।
 
विराट इंग्लैंड के पिछले दौरे में एक अर्धशतक भी नहीं बना पाए थे लेकिन यहां उन्होंने टेस्ट सीरीज की शुरुआत 'विराट शतक' के साथ की। भारत के आठ विकेट 182 रन तक गिर गए थे लेकिन विराट ने ईशांत शर्मा (5) के साथ नौंवें विकेट के लिए 35 रन और उमेश यादव (1) के साथ आखिरी विकेट के लिए 57 रन की बेशकीमती साझेदारी की। इस साझेदारी ने इंग्लैंड को ज्यादा बढ़त मिलने से रोक दिया।
 
ईशांत ने अपने पांच रन के लिए 17 गेंद और यादव ने एक रन के लिए 16 गेंदें खेलीं। विराट ने आखिरी दो विकेट के लिए 92 रन जोड़कर भारत का सम्मान बचा लिया। ईशांत अपनी पारी के दौरान दो बार डीआरएस लेकर भी बचे।
 
इंग्लैंड के बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ सैम करेन ने 17ओवर में 74 रन पर चार विकेट लेकर भारत के शीर्ष क्रम को झकझोरा। करेन ने लंच से पहले तीन विकेट निकले और चायकाल से पहले एक और विकेट ले लिया। बेन स्टोक्स ने 19ओवर में 73 रन पर दो विकेट लिए। जेम्स एंडरसन ने चायकाल के बाद दो विकेट निकाले। एंडरसन ने 22 ओवर में 41 रन पर दो विकेट लिए। राशिद ने आठ ओवर में 31 रन देकर दो विकेट लिए।
 
भारत ने लंच से पहले तीन और लंच से चायकाल के बीच तीन विकेट गंवाए। भारतीय पारी के अंतिम चार विकेट अंतिम सत्र में गिरे। मुरली विजय 20, शिखर धवन 26, लोकेश राहुल 4, उपकप्तान अजिंक्य रहाणे 15, विकेटकीपर दिनेश कार्तिक शून्य और आलराउंडर हार्दिक पांड्या 22 रन बनाकर आउट हुए। चायकाल के बाद अश्विन 10 और मोहम्मद शमी दो रन बनाकर आउट हुए। ईशांत नौंवें और विराट आखिरी बल्लेबबाज के रूप में आउट हुए।
 
भारत ने इंग्लैंड को पहली पारी में 287 रन पर समेटने के बाद अच्छी शुरुआत की और पहले विकेट के लिए 50 रन जोड़े। लेकिन इसके बाद करेन ने मात्र नौ रन के अंतराल में मुरली विजय, लोकेश राहुल और शिखर धवन के विकेट झटक लिए। विजय 45 गेंदों में चार चौकों की मदद से 20 रन, राहुल 4 रन और शिखर 46 गेंदों में तीन चौकों के सहारे 26 रन बनाकर आउट हुए। शिखर इस दौरे में एक बार फिर अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में नहीं बदल पाए।
 
अपना दूसरा टेस्ट खेल रहे करेन ने विजय को पगबाधा किया। राहुल को बोल्ड किया और शिखर को स्लिप में डेविड मलान के हाथों कैच करा दिया। लंच के समय कप्तान विराट 9 और अजिंक्या रहाणे 8 रन बनाकर क्रीज पर थे। विराट और रहाणे ने चौथे विकेट के लिए 41 रन की साझेदारी की और जब ऐसा लग रहा था कि भारत संभल चुका है, स्टोक्स ने 100 के स्कोर पर भारत को दो झटके दे दिए।
 
स्टोक्स ने रहाणे को तीसरी स्लिप में कीटन जेनिंग्स के हाथों कैच करा दिया। रहाणे ने 34 गेंदों पर 15 रन में एक चौका लगाया। स्टोक्स ने अपने अगले ओवर में कार्तिक को बोल्ड कर दिया। कार्तिक चार गेंद खेल कर अपना खाता नहीं खोल सके।
 
भारत ने अपना पांचवां विकेट 100 के स्कोर पर गंवा दिया। विराट ने पांड्या के साथ छठे विकेट के लिए 48 रन जोड़े लेकिन पटरी पर लौटती भारतीय पारी को करेन ने फिर झटका दे दिया। करेन ने पांड्या के चायकाल से पहले पगबाधा कर दिया। पांड्या ने रेफरल लिया लेकिन अंपायर का फैसला बरकरार रहा।
 
चायकाल के बाद एंडरसन ने अश्विन और शमी के विकेट लेकर भारत को संकट में डाल दिया लेकिन विराट ने ईशांत और यादव के सहयोग से इंग्लैंड को बड़ी बढ़त बनाने से रोक दिया।
 
इससे पहले तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद शमी ने आखिरी विकेट चटकाते हुए इंग्लैंड को सुबह के सत्र में 287 रन पर समेट दिया। इंग्लैंड ने कल के नौ विकेट पर 285 रन से आगे खेलना शुरू किया और 1.4 ओवर में दो रन का इजाफा करने के बाद उसकी पहली पारी समाप्त हो गई। शमी ने 90वें ओवर की चौथी गेंद पर सैम करेन को विकेटकीपर दिनेश कार्तिक के हाथों कैच करा दिया। करेन ने 24 रन बनाए। जेम्स एंडरसन दो रन पर नाबाद रहे।
 
शमी ने 19.4 ओवर में 64 रन पर तीन विकेट लिए। ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को 62 रन पर चार विकेट मिले जबकि उमेश यादव को 56 रन पर एक विकेट और ईशांत शर्मा को 46 रन पर एक विकेट मिला। इंग्लैंड की जमीन पर विराट कोहली का पहला शतक, भारतीय पारी 274 पर सिमटी।



और भी पढ़ें :