ईडन गार्डन में खेला जा सकता है पहला डे-नाइट टेस्ट, BCCI ने बांग्लादेश के सामने रखा प्रस्ताव

Last Updated: सोमवार, 28 अक्टूबर 2019 (16:18 IST)
नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने के सामने आगामी भारत दौरे में कोलकाता टेस्ट डे-नाइट प्रारूप में खेलने का प्रस्ताव रखा है, हालांकि बीसीबी की ओर से इस पर अभी किसी प्रकार का जवाब नहीं आया है।
बीसीबी के क्रिकेट संचालन प्रमुख अकरम खान ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा, बीसीसीआई ने हमारे सामने दिन-रात्रि टेस्ट खेलने का प्रस्ताव रखा है और हम इस बारे में विचार करने के बाद उन्हें जवाब देंगे।

उन्होंने कहा, हमें दो-तीन दिन पहले ही पत्र मिला था और हम इस बारे में सोचने के बाद ही कोई फैसला लेंगे। हम अपने निर्णय के बारे में उन्हें एक या दो दिन में जवाब दे देंगे। यदि बांग्लादेशी टीम अपनी सहमति प्रदान कर देती है तो यह भारत की मेज़बानी में पहला दिन-रात्रि टेस्ट होगा।

भारत और बांग्लादेश के बीच 2 टेस्टों की सीरीज़ का पहला मैच 14 नवंबर को इंदौर में जबकि दूसरा मैच 22 नवंबर को कोलकाता के मैदान पर आयोजित होना है।

उल्लेखनीय है कि बीसीसीआई के नए अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने हाल ही में गुलाबी गेंद से टेस्ट खेले जाने की पैरवी की थी और कहा था कि भारतीय कप्तान विराट कोहली से भी उन्होंने इस बारे में चर्चा की जिन्होंने इस प्रारूप पर अपनी स्वीकृति दी है।

टेस्ट को लोकप्रिय बनाने के उद्देश्य से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद पिछले लंबे समय से गुलाबी गेंद से टेस्ट खेलने की पैरवी कर रहा है, लेकिन अब तक भारत ने ही इस पर अपनी सहमति नहीं जताई है। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच नवंबर 2015 में एडिलेड ओवल में पहला डे-नाइट टेस्ट खेला गया था।

भारत और बांग्लादेश के बीच टेस्ट सीरीज़ से पूर्व तीन टी-20 मैचों की सीरीज़ भी खेली जानी है जिसकी शुरूआत 3 नवंबर से होगी।



और भी पढ़ें :