टेस्ट के बाद अब वनडे में भी भारत को मात देना चाहता है द.अफ्रीका, बावुमा ने बताई अहमियत

Last Updated: सोमवार, 17 जनवरी 2022 (17:00 IST)
हमें फॉलो करें
केपटाउन:हाल ही में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 2-1 से टेस्ट सीरीज हराई। इस जीत में कीगन पीटरसन को मैन ऑफ द मैच और सीरीज का अवार्ड मिला। वहीं कप्तान एल्गर की कप्तानी और दूसरे टेस्ट में खेली गई 96 रनों की नाबाद पारी को भी याद किया गया।

हालांकि एक बल्लेबाज जिसने सभी पारी में दोहरा आंकड़ा छुआ उसे नजरअंदाज कर दिया गया वह थे मध्यक्रम बल्लेबाज टेम्बा बावुमा। टेम्बा ने 3 मैचों में 73 की शानदार औसत के साथ 221 रन बनाए थे जिसमें 2 अर्धशतक शामिल थे। सीरीज का निर्णायक चौका भी उनके बल्ले से ही आया।

ALSO READ:

आर अश्विन ने ट्वीट कर ऐसे दिया पूर्व कप्तान कोहली को ट्रिब्यूट

दक्षिण अफ्रीका के सीमित ओवरों के कप्तान टेम्बा बावुमा का मानना है कि भारत के खिलाफ तीन मैचों की आगामी एकदिवसीय श्रृंखला में जीत से घरेलू टीम के आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होगी।

भारतीय टीम ने पिछली बार 2018 में दक्षिण अफ्रीका का दौरा किया था और छह मैचों की श्रृंखला में 5-1 से जीत दर्ज की थी। यह दक्षिण अफ्रीका में एकदिवसीय श्रृंखला में भारत की पहली जीत थी।
डेली मेवरिक’ के मुताबिक बावुमा ने कहा, ‘‘ हमें भारत के खिलाफ अगली वनडे सीरीज में चीजों को ठीक करना होगा। 2018 की श्रृंखला में जो हुआ मैं उससे बहुत चिंतित नहीं हूं। मैं अपनी खेल शैली को स्थापित करने और अपनी रणनीति को अच्छे प्रभाव से लागू करने के बारे में अधिक चिंतित हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ भारत के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला जीत से हमें काफी आत्मविश्वास मिलेगा। इससे आने वाले मैचों के लिए टीम बेहतर लय हासिल कर सकेगी। ’’

बावुमा ने कहा कि 2021 आईसीसी टी20 विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका के अभियान ने टीम के तरीके और नजरिये को बदलने में मदद की।यूएई में हुए टी20 विश्व कप में पांच मैचों में चार जीत के बाद भी दक्षिण अफ्रीका की टीम नेट रन रेट में पिछड़ने के कारण सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सकी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘दक्षिण अफ्रीका की सफेद गेंद वाली इस टीम के बारे में धारणाएं बदल रही हैं। पहले कहा जाता था कि हमारे पास स्पिन का मुकाबला करने की क्षमता नहीं है और हमने विदेशी परिस्थितियों में संघर्ष किया। मुझे ऐसा लगता है कि हमने टी20 विश्व कप में कई लोगों को गलत साबित किया है। ’’
उन्होंने कहा कि एकदिवसीय टीम को संयुक्त अरब अमीरात में हुए विश्व कप के दौरान टी20 टीम के प्रदर्शन से सीख लेनी चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘ हमारी टी20 टीम ने हाल के दिनों में जो हासिल किया है, उस पर ध्यान देना चाहिए। उस टीम ने नतीजों पर ज्यादा जोर नहीं दिया, बल्कि प्रक्रिया पर ध्यान दिया।’’



और भी पढ़ें :