तमिलनाडु ने 14 साल बाद जीती सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी, बड़ौदा को 7 विकेट से दी मात

पुनः संशोधित सोमवार, 1 फ़रवरी 2021 (10:32 IST)
हमें फॉलो करें
अहमदाबाद: युवा लेफ्ट आर्म स्पिनर मणिमारन सिद्धार्थ (20 रन पर चार विकेट) की घातक गेंदबाजी और सलामी बल्लेबाज हरि निशांत की 35 और बाबा अपराजित की नाबाद 29 रन की सधी हुई पारियों के दम पर तमिलनाडु ने बड़ौदा को रविवार को सात विकेट से हराकर 14 साल के अंतराल के सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया।

तमिलनाडु ने नवनिर्मित में खेले गए फ़ाइनल को अपनी शानदार गेंदबाजी और बल्लेबाजी से एकतरफा बना दिया। तमिलनाडु ने खिताबी मुकाबले में बड़ौदा को नौ विकेट पर 120 रन के मामूली स्कोर पर रोक दिया और फिर 18 ओवर में तीन विकेट पर 123 रन बनाकर घरेलू टी-20 का बादशाह बनाने का गौरव हासिल कर लिया। मणिमारन सिद्धार्थ को उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया।
तमिलनाडु ने 2006-07 में मुश्ताक अली ट्रॉफी शुरू होने पर पंजाब को हराकर खिताब जीता था। तमिलनाडु की टीम 2019-20 के सत्र में भी फाइनल में पहुंची थी लेकिन तब उसे कर्नाटक से हार का सामना करना पड़ा था। दिनेश कार्तिक की कप्तानी में तमिलनाडु ने इस बार पूरे टूर्नामेंट में अपराजित रहते हुए खिताब अपने नाम किया।

फाइनल में तमिलनाडु ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का सही फैसला किया और शुरुआत में बड़ौदा की पारी को झकझोरते हुए उसका स्कोर नौंवें ओवर तक छह विकेट पर 36 रन कर दिया। इनमें से चार विकेट तो सिद्धार्थ के हिस्से में गए। सिद्धार्थ ने बड़ौदा के कप्तान केदार देवधर (16), स्मित पटेल (1), अभिमन्यु राजपूत (2) और कार्तिक काकड़े (4) को पवेलियन भेजा। देवधर ने 10 गेंदों पर 16 रन में तीन चौके लगाए।
इस नाजुक हालत में विष्णु सोलंकी ने अतीत सेठ के साथ सातवें विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी कर बड़ौदा को संभाला। सेठ ने 30 गेंदों पर 29 रन में दो छक्के लगाए। इस सत्र में अपनी बल्लेबाजी से प्रभावित करने वाले सोलंकी ने 55 गेंदों पर एक चौके और दो छक्कों की मदद से 49 रन की पारी खेली।

सोलंकी आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद पर रन आउट हुए और अर्धशतक बनाने से मात्र एक रन से चूक गए। भार्गव भट्ट ने पांच गेंदों पर नाबाद 12 रन में एक चौका और एक छक्का लगाया। भट्ट की दोनों बॉउंड्री आखिरी ओवर में लगी। बड़ौदा के चार बल्लेबाज ही फ़ाइनल में दहाई की संख्या में पहुंच पाए।
तमिलनाडु की तरफ से सिद्धार्थ के चार विकेटों के अलावा बाबा अपराजित, सोनू यादव और एम मोहम्मद ने एक-एक विकेट लिया। बड़ौदा के दो बल्लेबाज रन आउट हुए।

बड़ौदा का स्कोर इतना बड़ा नहीं था कि उसके गेंदबाज तमिलनाडु के बल्लेबाजों के सामने कोई परेशानी खड़ी कर पाते। हरि निशांत और एन जगदीशन ने पहले विकेट के लिए 26 रन जोड़कर टीम को ठोस शुरुआत दी। जगदीशन ने 12 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 14 रन बनाये।
निशांत ने 38 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 35 रन की सधी हुई पारी खेली। निशांत 12वें ओवर में टीम के 67 के स्कोर पर आउट हुए। तमिलनाडु के कप्तान दिनेश कार्तिक ने आने के साथ ही तेज-तर्रार पारी खेली। कार्तिक ने 16 गेंदों पर 22 रन में तीन चौके लगाए। कार्तिक 17वें ओवर की पहली गेंद पर आउट हुए और उस समय में स्कोर 101 रन था।

बाबा अपराजित और कार्तिक ने तीसरे विकेट के लिए 34 रन जोड़े। बाबा ने फिर शाहरुख़ खान के साथ तमिलनाडु को खिताबी मंजिल पर पहुंचा दिया। बाबा ने 35 गेंदों पर नाबाद 29 रन में एक चौका लगाया जबकि शाहरुख़ ने सात गेंदों पर नाबाद 18 रन में दो चौके और एक छक्का लगाया। शाहरुख़ ने 18वें ओवर में दूसरी गेंद पर चौका, पांचवीं गेंद पर छक्का और आखिरी गेंद पर चौका लगाकर मैच समाप्त कर दिया।(वार्ता)



और भी पढ़ें :