क्या श्रीलंका को मिल गया है एक और महान स्पिनर? पहले वनडे में ही चटकाए 4 विकेट (वीडियो)

Last Updated: बुधवार, 8 सितम्बर 2021 (18:27 IST)
जैसे भारतीय टीम ने विश्वक्रिकेट को उच्चकोटि के बल्लेबाज दिए हैं, पाकिस्तान टीम ने विश्वक्रिकेट को उच्चकोटि के तेज गेंदबाज दिए हैं। वैसे ही श्रीलंका ने विश्वक्रिकेट को उच्चकोटि के स्पिन गेंदबाज दिए हैं। इसमें से सबसे पहला नाम आता है मुथैया मुरलीधरन का जिनकी ऑफ स्पिन खेलना किसी भी बल्लेबाज के लिए टेढ़ी खीर रहती थी।

उनका करियर काफी लंबा रहा। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 800 विकेट लिए और 350 वनडे में 534 विकेट झटके। इसके बाद अजंता मेंडिस टीम में शामिल हुए। हालांकि जितनी तेज शुरुआत उन्होंने की थी करियर उतनी ही जल्दी खत्म हो गया। कौन भूल सकता है साल 2008 के एशिया कप का फाइनल जहां उन्होंने सहवाग से लेकर युवराज सभी भारतीय बल्लेबाजों को अपनी धुन पर नचाया था।

फिलहाल हुई भारत से सीरीज में भी हसनारंगा ने कमाल की स्पिन गेंदबाजी से भारत को टी-20 श्रंखला में मात दी। लेकिन अब श्रीलंका टीम में एक और स्पिन गेंदबाज जुड़ गया है जिसने अपने पहले ही वनडे मैच में 4 विकेट चटका दिए हैं।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे वनडे में श्रीलंका की तरफ से पदार्पण मैच खेल रहे 21 वर्षीय ऑफ स्पिनर महीश तीक्षणा ने 10 ओवर में 37 रन देकर चार विकेट निकाले।

तीक्षणा ने अपनी पहली ही गेंद पर जानेमन मलान (18 रन)
को डिसिल्वा के हाथों कैच आउट करवाया। इसके बाद हैनरिच क्लासें को 22 रनों के व्यक्तिगत स्कोर पर पगबाधा किया। निचले क्रम में उन्होंने कगीसो रबाड़ा को फिर सिल्वा के हाथों 8 रनों के स्कोर पर आउट करवाया। अंत में उन्होंने दक्षिण अफ्रीकी कप्तान केशव महाराज को 15 रनों पर विकेटकीपर चंदीमल के हाथों कैच आउट करवा दिया।
हालांकि वह इस प्रदर्शन के बावजूद मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार नहीं जीत पाए क्योकि दुष्मंत चमीरा ने दो विकेट लिए और अपने हरफनमौला प्रदर्शन की बदौलत प्लेयर ऑफ द मैच बने। असालंका को प्लेयर ऑफ द सीरीज का पुरस्कार मिला। श्रीलंका ने पिछले 19 महीनों में अपनी यह पहली वनडे सीरीज जीती है।

यह हुआ मैच में

श्रीलंका ने मंगलवार को तीसरे और अंतिम मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को 125 रन से हराकर 19 महीने में पहली एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट श्रृंखला जीती।

कम स्कोर वाले इस मैच में गेंदबाजों का दबदबा रहा और 80 ओवर में 19 विकेट गिरे। इसमें से 16 विकेट स्पिनरों ने चटकाए जो पुरुष एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में स्पिनरों द्वारा हासिल दूसरे सबसे अधिक विकेट हैं।

श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए नौ विकेट पर 203 रन बनाए लेकिन फिर दक्षिण अफ्रीका को 30 ओवर में 125 रन पर ढेर करके 78 रन से जीत दर्ज की।

लेग स्पिनर वानिंदु हसारंगा ने 38 रन देकर दो जबकि दुष्मंता चमीरा ने 16 रन देकर दो विकेट हासिल किए। चमीरा ने 29 रन भी बनाए और उन्हें मैन आफ द मैच चुना गया।

श्रीलंका की ओर से बल्लेबाजी में चरिथ असालंका ने सर्वाधिक 47 रन बनाए। वह लगातार तीसरे अर्धशतक से चूक गए।दक्षिण अफ्रीका ने स्पिनरों ने रिकॉर्ड 40 ओवर फेंके जो पिछले रिकॉर्ड से सात अधिक हैं। कार्यवाहक कप्तान केशव महाराज ने 38 रन देकर तीन विकेट चटकाए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत बेहद खराब रही और उसने 19 रन तक ही तीन विकेट गंवा दिए थे। दक्षिण अफ्रीका ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवा और उसकी ओर से विकेटकीपर बल्लेबाज हेनरिक क्लासेन (22) के अलावा कोई बल्लेबाज 20 रन के आंकड़े को नहीं छू पाया।



और भी पढ़ें :