स्मृति मंधाना का धमाका, टी-20 और वनडे दोनों रैंकिंग में लगाई छलांग!

Smriti Mandhana
Last Updated: मंगलवार, 20 सितम्बर 2022 (18:33 IST)
हमें फॉलो करें
दुबई: भारत की स्टार सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना के खिलाफ अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर आईसीसी की महिला क्रिकेट की नवीनतम विश्व रैंकिंग में टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ दूसरे जबकि वनडे में सातवें स्थान पर पहुंच गई।

बाएं हाथ की बल्लेबाज मंधाना ने इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी20 श्रृंखला में 111 रन बनाए थे। इस प्रदर्शन के दम पर वह दो पायदान आगे बढ़ने में सफल रही।

वनडे में पूर्व में नंबर एक पर काबिज रह चुकी मंधाना ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में 91 रन की मैच विजेता पारी खेली थी जिससे उन्हें तीन स्थान आगे बढ़ने में मदद मिली।
अन्य भारतीय खिलाड़ियों में कप्तान हरमनप्रीत कौर एकदिवसीय मैचों में चार पायदान ऊपर नौवें स्थान पर जबकि ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा एक स्थान के फायदे से 32वें स्थान पर पहुंच गई हैं।

होव में भारत की सात विकेट से जीत में अर्धशतक जड़ने वाली विकेटकीपर बल्लेबाज यास्तिका भाटिया आठ पायदान की छलांग लगाकर 37वें स्थान पर पहुंच गई हैं।दीप्ति गेंदबाजों की सूची में भी छह पायदान के फायदे से 12वें स्थान पर पहुंच गई हैं।
टी20 रैंकिंग में हरमनप्रीत बल्लेबाजों की सूची में एक पायदान ऊपर 14वें जबकि गेंदबाजों में रेणुका सिंह तीन स्थान आगे 10वें और स्पिनर राधा यादव चार पायदान चढ़कर 14वें स्थान पर पहुंच गई हैं।ऑलराउंडर की सूची में स्नेह राणा और पूजा वस्त्राकर संयुक्त 41वें स्थान पर हैं।

यह श्रृंखला झूलन दी के नाम है: मंधाना

भारत की पहले वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ बड़ी जीत की सूत्रधार सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने कहा कि उनकी टीम दिग्गज तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी को शानदार विदाई देना चाहती है जो तीन मैचों की इस श्रृंखला के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह देंगी।

झूलन ने 20 साल के अपने करियर में भारत की तरफ से 12 टेस्ट (44 विकेट), 202 वनडे (253 विकेट) और 68 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच (56 विकेट) खेले हैं।
पहले वनडे में 99 गेंदों पर 91 रन बनाकर भारत को सात विकेट से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाली मंधाना ने मैच के बाद कहा, ‘‘मैं कहना चाहती हूं कि यह श्रृंखला झुलु दी (झूलन गोस्वामी) के नाम है। उनकी गेंदबाजी शानदार रही। इस श्रृंखला में हमारे सारे प्रयास झुलु दी के लिए होंगे।’’

गोस्वामी ने 10 ओवर में 20 रन देकर एक विकेट लिया। उनकी किफायती गेंदबाजी के कारण भारत ने इंग्लैंड को सात विकेट पर 227 रन पर रोक दिया था।मैच की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुनी गई मंधाना ने स्वीकार किया कि टी20 की तुलना में वनडे में वह अधिक नैसर्गिक बल्लेबाजी करती हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘वनडे मेरे लिए अधिक नैसर्गिक है। टी20 में मुझे स्ट्राइक रेट बरकरार रखने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होते हैं। मुझे खुशी है कि मैंने टीम के लिए अच्छी नींव रखी।’’मंधाना ने कहा कि अगर वह नाबाद रहती तो उन्हें अधिक खुशी होती। भारत जब लक्ष्य से 30 रन पीछे था तब मंधाना आउट हो गई थी।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं खुश थी कि हरमन (हरमनप्रीत कौर) ने टॉस जीता। मैंने इंग्लैंड की पारी में पिच का आकलन किया और खुद से कहा कि बैक फुट पर कम खेलना है, लेकिन में स्वयं को बड़ी देर तक नहीं रोक पाई।’’(भाषा)



और भी पढ़ें :