बारिश के बाद आधे घंटे में सूख जाएगा! ये विशेषताएं हैं विश्व के सबसे बड़े स्टेडियम की जिसका उद्घाटन करेंगे राष्ट्रपति

Last Updated: मंगलवार, 23 फ़रवरी 2021 (16:18 IST)
अहमदाबाद:अब मेलबोर्न नहीं,मोटेरा विश्व का नंबर वन स्टेडियम बन गया है। के साबरमती में स्थित,भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे और दिन रात्रि टेस्ट मैच के लिए नई सजावट और नवीनतम सुविधाओं से सुसज्जित है। स्टेडियम का उद्घाटन 24 फरवरी को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की विशेष उपस्थिति में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा किया जाएगा। इससे राज्य सहित पूरे देश में उत्सव का माहौल बनेगा।

मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड को पछाड़ा ने
अहमदाबाद का सरदार पटेल मोटेरा स्टेडियम 63 एकड़ में फैला है, जिसमें 1.10 लाख लोगों की बैठने की क्षमता है। वर्तमान में मेलबोर्न दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है। इसमें एक साथ में 90,000 लोग बैठ सकते हैं। गुजरात में निर्मित दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' के बाद,अब राज्य क्रिकेट में दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम का रिकॉर्ड स्थापित करने जा रहा है।

700 करोड़ की लागत में हुआ पुनर्निर्माण
अनुमानित 700 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित,इस स्टेडियम की सुंदरता अद्भुत है। स्टेडियम का निर्माण लार्सन एंड टर्बो (एलएंडटी) कंपनी द्वारा किया गया है,जिसने 5 वर्षों की बहुत कम अवधि में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का निर्माण किया था।

इन विशेषताओं के कारण है चर्चाओं में
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में 3 कॉर्पोरेट बॉक्स, ओलंपिक स्तर का स्विमिंग पूल, इंडोर अकादमी, एथलीटों के लिए चार ड्रेसिंग रूम,फूड कोर्ट और जीसीए क्लब हाउस भी शामिल किया गया हैं।स्टेडियम में छह लाल और पांच काली मिट्टी की कुल 11 पिचें तैयार की गई हैं। मुख्य और अभ्यास पिचों के लिए दोनों मिट्टी का उपयोग करने वाला यह पहला स्टेडियम है।

बारिश के बाद आधे घंटे में सूख जाएगा!
बारिश की स्थिति में, पिच को केवल 30 मिनट में सुखाया जा सकता है। अत्याधुनिक एलईडी फ्लडलाइट से वातावरण गर्म नहीं होगा और दर्शकों के साथ-साथ क्रिकेटरों को भी आराम मिलेगा। इस स्टेडियम की एक अभिनव विशेषता यह है कि नौ मीटर की ऊँचाई पर 360 डिग्री पोडियम कोनकोर्स दर्शकों की आवाजाही को सरल बनाती है, साथ ही यह किसी भी स्टैंड से दर्शकों को एक समान दृश्य प्रदान करता है। जिन कॉरपोरेट बॉक्स को डिजाइन किया गया है, उनमें प्रत्येक की बैठने की क्षमता 25 है। 150टन का एयर-कूलिंग टॉवर स्टेडियम का क्लोझ ईन हिस्सा वातानुकूलित बनाए रखेंगे।


ऑटोग्राफ गैलरी "हॉल ऑफ फ़ेम" हैं अतिरिक्त आकर्षण
दोनों टीमों के खिलाड़ियों की आवश्यकता के अनुसार विशाल ड्रेसिंग रूम बनाए हैं। दोनों टीमों के लिए अलग-अलग अत्याधुनिक जिम स्थापित किए गए हैं। खिलाड़ी और वीआईपी प्रवेश द्वार के पास एक विशेष लांज बनाया गया है। स्टेडियम में ऑटोग्राफ गैलरी में अब तक खेले गए आईपीएल और विश्व कप मैचों की टीमों के खिलाड़ियों का ऑटोग्राफ्ड बैट कलेक्शन आकर्षण का केंद्र है। विश्व प्रसिद्ध क्रिकेटरों की तस्वीरों वाला "हॉल ऑफ फ़ेम" स्टेडियम का एक नजराना बना है।

जब 2016 में इस स्टेडियम को ध्वस्त किया गया तो मोटेरा स्टेडियम में 54,000 दर्शकों की क्षमता थी। नए क्रिकेट स्टेडियम का शिलान्यास जनवरी, 2018 में गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा एक नए और अत्याधुनिक और पूरी तरह से सुसज्जित स्टेडियम के निर्माण के लिए किया गया था। दो साल के थोड़े ही समय में पूरा हुआ यह स्टेडियम गुजरात की यशकलगी में एक और पंख बन रहा है।



और भी पढ़ें :