गुलाबी गेंद से कैसा रहा है भारत-इंग्लैंड टीम का टेस्ट रिकॉर्ड?

Last Updated: मंगलवार, 23 फ़रवरी 2021 (15:57 IST)
अहमदाबाद: आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के लिए और की टीमों में रस्साकशी सीरीज को 1-1- की बराबरी पर ले आई है। में खेले जाने वाले दो टेस्ट के बाद यह तय हो जाएगा कि लॉर्डस् में न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 जून को टेस्ट मैच में कौन उतरता है, भारत या इंग्लैंड।
चौथे टेस्ट में जाने से पहले दोनों ही टीमों को तीसरे टेस्ट में से दो दो हाथ करना होगा जो आसान नहीं होने वाला है क्योंकि दोनों ही टीमों का गुलाबी गेंद से अनुभव कम रहा है।

इंग्लैड की टीम ने भारत से ज्यादा दिन रात्रि के टेस्ट खेले हैं लेकिन गुलाबी गेंद से रिकॉर्ड भारत का रिकॉर्ड जो रूट की टीम से बेहतर है।

अब तक खेले 3 टेस्ट में इंग्लैंड की टीम ने सिर्फ 1 टेस्ट जीता है और 2 टेस्ट हारे हैं। इन मैचों में इंग्लैंड की जीत और हार दोनों ही काफी बड़ी रही है। साल 2017 में इंग्लैंड ने अपना पहला वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला और उसे इस में पारी और 209 रनों से बड़ी जीत मिली। इसके बाद इंग्लैंड अब तक गुलाबी गेंद से जीत ढूंढ रहा है।

दिसंबर 2017 में इंग्लैंड का मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से हुआ जो अब तक गुलाबी गेंद से खेला गया एक भी टेस्ट नहीं हारी है। इस मैच में कंगारुओं ने इंग्लैंड की टीम को 120 रनों से पटखनी दी। अगले साल इंग्लैंड की टीम ने न्यूजीलैंड से पिंक बॉल टेस्ट खेला। यह मैच इंग्लैंड पारी और 49 रन से हार गई।

वहीं भारत ने अब तक दो डे नाइट टेस्ट खेले हैं। इनमें से एक में उसे जीत और एक में हार मिली है। पहला मैच इडन गार्डन्स में साल 2019 में भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ खेला। भारत ने यह मैच आसानी से तीन दिन के अंदर 1 पारी और 46 रनों से जीत लिया।

वहीं दूसरा टेस्ट भारत ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के साथ एडिलेड ओवल में खेला था। इस मैच को भारत ने 8 विकेट सें गंवा दिया था। यह मैच भारत के 36 रनों पर आउट होने के लिए जाना गया।

दोनों ही टीमों में इस संदर्भ में एक दिलचस्प बात है। दोनों ही टीमें अपने घरेलू मैदान पर पिंक बॉल टेस्ट में अविजित रही हैं। भारत और इंग्लैंड दोनों ही टीम कमतर टीमों से ही जीत पाई है। विदेशी जमीन पर खेले गए डे नाइट टेस्ट में दोनों ही टीम अपना खाता नहीं खोल पाई हैं।

यह बात भारत के पक्ष में जा सकती है क्योंकि अहमदाबाद का भारत का घरेलू मैदान है। दो टेस्ट में से 1 जीत भारत का आईसीसी विश्व टे्ट चैंपियनशिप का टिकट पक्का कर देगी। हालांकि टीम इंडिया को चौथे टेस्ट में ड्रॉ या जीत सुनिश्चित करना होगा। अगर चौथे टेस्ट में हार मिली तो करे कराए पर पानी फिर सकता है और फाइनल का टिकट इंग्लैड या ऑस्ट्रेलिया को मिल सकता है।(वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :