सचिन तेंदुलकर का जलवा बरकरार, बने 21वीं सदी के सबसे महान बल्लेबाज

Last Updated: शनिवार, 19 जून 2021 (23:11 IST)
मुंबई: क्रिकेट लीजेंड 21 वीं सदी सबसे महान बल्लेबाज बन गए हैं। सचिन को श्रीलंका के महान बल्लेबाज कुमार संगकारा से कड़ी टक्कर मिली। दोनों खिलाड़ियों के एक बराबर अंक रहे लेकिन ज्यादा जूरी सदस्यों की सूची में आने के कारण सचिन विजेता बन गए।आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच यहां एजिस बॉल में खेले जा रहे फ़ाइनल में दूसरे दिन शनिवार को चायकाल के दौरान यह घोषणा की गयी।

भारत के प्रमुख खेल प्रसारक स्टार स्पोर्ट्स ने आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल से पहले टेस्ट क्रिकेट में ऐतिहासिक पलों का जश्न मनाने के लिए टेस्ट क्रिकेट में 21वीं सदी के अब तक के सबसे महान खिलाड़ी को चुनने की एक अनूठी पहल की थी । इस पहल के पीछे स्टार स्पोर्ट्स का उद्देश्य दिग्गज क्रिकेटरों से लेकर दुनिया भर के वरिष्ठ खेल पत्रकारों, प्रसारकों, सांख्यिकीविदों, विश्लेषकों, एंकरों और पूरे क्रिकेट समुदाय एक साथ लाना था।
स्टार स्पोर्ट्स की ओर से चार श्रेणियों बल्लेबाज, गेंदबाज, ऑलराउंडर और कप्तान में से एक महान खिलाड़ी को चुना जाएगा। इसके लिए बल्लेबाज श्रेणी में सचिन तेंदुलकर, स्टीवन स्मिथ, कुमार संगकारा, जैक कैलिस , गेंदबाज श्रेणी में मुथैया मुरलीधरन, शेन वार्न, डेल स्टेन, ग्लेन मैग्राथ, ऑलराउंडर श्रेणी में जैक कैलिस , बेन स्टोक्स, एंड्रयू फ्लिंटॉफ, रविचंद्रन अश्विन और कप्तान श्रेणी में स्टीव वा , ग्रीम स्मिथ, रिकी पोंटिंग, विराट कोहली को नामित किया गया है।
इन नामित खिलाड़ियों में से महान खिलाड़ियों को चुनने के लिए स्टार स्पोर्ट्स ने 50 सदस्यीय जूरी का गठन किया है, जिसमें दिग्गज क्रिकेटर सुनील गावस्कर, इयान बिशप, हरभजन सिंह, शेन वॉटसन, स्कॉट स्टायरिस, गौतम गंभीर और प्रसिद्ध खेल पत्रकार और कोच शामिल हैं। प्रसारक ने प्रशंसकों को भी जूरी का हिस्सा बनने का मौका दिया है। क्रिकेट प्रेमी ट्विटर पर 15 जून को बल्लेबाज और गेंदबाज, जबकि 17 जून को अपने पसंदीदा कप्तान और आलराउंडर को चुनने के लिए वोट कर पाएंगे।
महान खिलाड़ी को चुनने की प्रक्रिया की बात करें तो इसमें पूरी पारदर्शिता सुनिश्चित की गई है। चारों श्रेणियों में केवल एक जनवरी 2000 से या उसके बाद के आंकड़ों के हिसाब से ही खिलाड़ियों को नामित किया गया है। सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज श्रेणी के मानदंड के मुताबिक खिलाड़ी के 10 हजार से ज्यादा रन , 50 से ज्यादा की औसत और 25 से ज्यादा शतक होने चाहिए, गेंदबाज श्रेणी के मानदंड में गेंदबाज की घरेलू मैदानों और विदेशी जमीन पर औसत 30 से कम और उसके नाम 15 बार पांच विकेट होने चाहिए, ऑलराउंडर के 2500 से ज्यादा रन, 150 से ज्यादा विकेट और बल्लेबाजी और गेंदबाजी औसत में सकारात्मक अंतर होना चाहिए, जबकि कप्तान के लिए घरेलू और विदेशी मैदानों पर कम से कम 10 जीत और मैच जीत या ड्रा प्रतिशत 70 से अधिक होना चाहिए।(वार्ता)



और भी पढ़ें :