मंगलवार, 31 जनवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Rohit Sharma voices his concern for the lacklustre death Indian bowling
Written By
Last Updated: सोमवार, 3 अक्टूबर 2022 (14:37 IST)

19वें ओवर में फिर गए 26 रन, डेथ ओवर की गेंदबाजी दे रही कप्तान रोहित को सिरदर्द

गुवाहाटी: भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में रोमांचक जीत के बाद कहा है कि डेथ ओवर की गेंदबाजी भारत के लिये चिंता का विषय नहीं है, लेकिन टीम को इसमें सुधार करने की जरूरत है।कुल हर्षल पटेल और अर्शदीप सिंह ने मिलकर 100 से ज्यादा रन दिए हैं। ऐसे में सिर्फ डेथ ओवर की गेंदबाजी ही नहीं कुल आंकड़ा भी रोहित शर्मा को सिरदर्द दे रहा है।

भारत ने रविवार को यहां खेले गये मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 237 रन बनाये। दक्षिण अफ्रीका लक्ष्य का पीछा करते हुए 221 रन तक ही पहुंच सकी, हालांकि इनमें से 151 रन आखिरी 10 ओवरों में आये।

रोहित ने मैच के बाद कहा, “ टीम एक निश्चित तरीके से खेलना और गेंदबाजी करना चाहती। हम उन्हें वह आत्मविश्वास देना चाहते हैं। हां, हमने पिछले पांच या छह मैचों में डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी नहीं की है। हम विपक्ष के खिलाफ भी (बल्ले से) ऐसा ही कर रहे हैं। अंतिम ओवरों में गेंदबाजी करना और बल्लेबाजी करना बहुत कठिन है। यहीं से खेल का फैसला होता है। यह चिंता का विषय नहीं है, लेकिन हमें इसमें सुधार करने की जरूरत है।”

भारत के शीर्ष चार बल्लेबाजों ने हालांकि एक बार फिर ठोस प्रदर्शन किया। लोकेश राहुल (57) और सूर्यकुमार यादव (61) ने जहां अर्द्धशतक जड़े, वहीं रोहित ने 43 और विराट कोहली ने 49 रन का योगदान दिया। रोहित ने कहा कि टीम अपने आक्रामक बल्लेबाजी दृष्टिकोण को जारी रखना चाहेगी।

उन्होंने कहा, “ हम सभी ने एक साथ आकर तय किया है कि हम एक टीम के रूप में क्या करना चाहते हैं। यह योजना कई बार सफल नहीं होती, लेकिन हम इस पर टिके रहना चाहते हैं।”रोहित ने कहा, “ मैंने पिछले 8-10 महीनों में जो देखा है, वह यह है कि खिलाड़ी खुद आगे आकर टीम के लिए काम कर रहे हैं। कम अनुभवी खिलाड़ियों ने भी ऐसा किया है।”

गौरतलब है कि बेहतरीन शुरुआत करने वाले अर्शदीप सिंह ने 19वें ओवर में 26 रन लुटाए। इसके कारण उनका कुल आंकड़ा 4 ओवर में 2 विकेटों पर 62 रन हो गया। वहीं हर्षल पटेल ने 4 ओवरों में 45 रन दिए और खाली हाथ रहे। दीपक चाहर ही सबसे किफायती गेंदबाज रहे जिन्होंने 4 ओवरों में 24 रन दिए।



इसी बीच, दक्षिण अफ्रीका के कप्तान टेम्बा बावुमा ने गेंदबाजी में हुई गलतियां स्वीकार कीं।उन्होंने कहा,यह हमारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं था। परिस्थितियां अलग थीं। हम योजनाओं को अंजाम नहीं दे सके। बल्ले से आक्रामक होने में देर हुई। मेरे अनुसार हम 220 के लक्ष्य तक पहुंच सकते थे, लेकिन 240 बहुत अधिक था।”

डेविड मिलर ने दक्षिण अफ्रीका के लिए एकतरफा प्रयास करते हुए 47 गेंदों में 106 रनों की नाबाद पारी खेली, जिसमें आठ चौके और सात छक्के शामिल थे।

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ने कहा, "मिलर अच्छे दिख रहे हैं और हम उनके प्रदर्शन से काफी आत्मविश्वास हासिल कर सकते हैं। यह दिखाता है कि डेविड मिलर सर्वश्रेष्ठ टी20 बल्लेबाजों में से एक क्यों है। उनके गेंदबाजों ने गेंद को शुरुआत में स्विंग कराया और एक बार जब स्विंग होना बंद हो गयी, तो हमने देखा कि बल्लेबाजी करना कितना आसान था।भारत का अगला मुकाबला चार अक्टूबर को इंदौर में तीसरे और अंतिम टी20 मैच में दक्षिण अफ्रीका से होगा।
ये भी पढ़ें
शोएब ने सुनाई पाक टीम को खरी खरी, ऐसे तो टी-20 विश्वकप के पहले ही दौर में (Video)