मंगलवार, 27 फ़रवरी 2024
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Rohit Sharma goes past Martin Guptill in terms of maximums
Written By
Last Updated : शनिवार, 24 सितम्बर 2022 (14:31 IST)

T20I के नए ‘सिक्सर किंग’ बने हिटमैन रोहित शर्मा, मार्टिन गुप्टिल को पछाड़ा

T20I के नए ‘सिक्सर किंग’ बने हिटमैन रोहित शर्मा, मार्टिन गुप्टिल को पछाड़ा - Rohit Sharma goes past Martin Guptill in terms of maximums
नई दिल्ली: भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर में शुक्रवार को खेले गए दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में अपनी नाबाद 46 रन की पारी के दौरान पहला छक्का जड़ते ही क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन गए।
 

अब तक 138 मैच खेल चुके रोहित ने 20 गेंद की अपनी पारी में चार छक्के लगाए और टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपने कुल छक्कों की संख्या 176 पर पहुंचाई जो कि नया रिकॉर्ड है।

रोहित ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल का रिकॉर्ड तोड़ा जिन्होंने 121 मैचों में 172 छक्के लगा रखे हैं। गुप्टिल अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्वकप में सातवीं बार भाग लेंगे और तब उनके और भारतीय कप्तान के बीच छक्कों की जंग भी रोचक होगी।
रोहित और गुप्टिल के अलावा फिलहाल किसी भी अन्य खिलाड़ी के इस जंग में शामिल होने की संभावना नहीं है क्योंकि टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाजों की सूची में तीसरे नंबर पर वेस्टइंडीज के क्रिस गेल काबिज हैं। वह 124 छक्कों के साथ रोहित और गुप्टिल से काफी पीछे हैं।
भारत की तरफ से रोहित के अलावा विराट कोहली (106 मैचों में 104 छक्के) ने ही टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 से अधिक छक्के लगाए हैं। विश्व के कुल 10 बल्लेबाज क्रिकेट के इस सबसे छोटे प्रारूप में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 100 से अधिक छक्के लगा चुके हैं।

हालात के अनुरूप बल्लेबाजी की : रोहित

आस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्षाबाधित दूसरे टी20 मैच में 20 गेंद में 43 रन बनाकर भारत को छह विकेट से जीत दिलाने वाले कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि इस तरह के मैचों में ज्यादा रणनीति नहीं बनाई जा सकती और हालात के अनुरूप ही खेलना होता है ।

प्लेयर आफ द मैच चुने गए रोहित ने अपनी पारी के बारे में कहा ,‘‘ मैं पिछले आठ नौ महीने से ऐसे ही खेल रहा हूं तो बहुत ज्यादा बदलाव नहीं था लेकिन इस तरह के मैचों में ज्यादा रणनीति नहीं बनाई जा सकती । हालात के अनुरूप ही खेलना होता है ।’’
उन्होंने कहा ,‘‘ जब हम गेंदबाजी कर रहे थे तो हमने हालात का पूरा फायदा उठाया । उसके बाद ओस पड़ने लगी । हम चाहते हैं कि खिलाड़ी इससे सीखे कि इन हालात में खेलना कितना कठिन होता है । बुमराह को वापसी करते देखकर अच्छा लगा और अक्षर ने उम्दा गेंदबाजी की ।’’(भाषा)
ये भी पढ़ें
क्रिकेट के बाद अब हॉकी में भी खिलाड़ी बना अध्यक्ष, दादा ही थे तिर्की की प्रेरणा