ऋषभ पंत ने की विश्व रिकॉर्ड की बराबरी, तोड़ने से चूके

Last Updated: सोमवार, 10 दिसंबर 2018 (19:53 IST)
एडिलेड। भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सोमवार को संपन्न हुए पहले टेस्ट मैच में 11 कैच लपकने के की बराबरी कर ली, हालांकि वे एक कैच टपका बैठे जिससे वे यह रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए।

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को यहां में पहले टेस्ट के अंतिम दिन 31 रनों से हराया। इस जीत से भारत ने 4 टेस्टों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। हालांकि भारत की इस जीत में 21 साल के पंत ने व्यक्तिगत तौर पर विकेट के पीछे अपने प्रदर्शन से नया कीर्तिमान हासिल कर लिया।

पंत ने पहली पारी में जहां 6 कैच लपककर पारी में सर्वाधिक कैच लपकने के मामले में पूर्व टेस्ट खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के रिकॉर्ड की बराबरी की थी वहीं दूसरी पारी में उन्होंने 5 विकेट लपके और 1 मैच में कुल 11 कैच लपकने के मामले में जैक रसेल और एबी डीवीलियर्स के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।
भारतीय विकेटकीपर ने ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में मैच के आखिरी दिन जैसे ही मोहम्मद शमी की गेंद पर मिशेल स्टार्क को विकेट के पीछे लपका, उन्होंने मैच में अपने 11 कैच पूरे कर विश्व रिकॉर्ड बना दिया। हालांकि पंत इस विश्व रिकॉर्ड को तोड़ने से उस समय चूक गए, जब उन्होंने नैथन लियोन का कैच छोड़ दिया। जसप्रीत बुमराह की गेंद पर पंत के हाथों से लियोन का कैच छूट गया था, उस समय लियोन का स्कोर 7 रन और ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 8 विकेट पर 242 रन था।
(इंग्लैंड), (ऑस्ट्रेलिया), रिद्धिमान साहा (भारत) के नाम 1 टेस्ट में 10-10 कैच लपकने का रिकॉर्ड है। इसके बाद 11-11 कैच के साथ रसेल और डीवीलियर्स के बाद अब इस सूची में पंत का नाम दर्ज हो गया है। पंत के इस प्रदर्शन पर पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर और ऑस्ट्रेलिया के दिग्गजों ने भी उनकी जमकर प्रशंसा की है।
पंत अब एकमात्र भारतीय विकेटकीपर हैं जिनका नाम शीर्ष पर है और उन्होंने साहा (10 कैच) को पीछे छोड़ दिया है। टेस्ट टीम के नियमित विकेटकीपर साहा कंधे की चोट के कारण टीम से बाहर हैं। साहा ने जनवरी में केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में 10 कैच लपके थे। (वार्ता)


और भी पढ़ें :