रमेश पोवार फिर बने भारतीय महिला क्रिकेट टीम के मुख्य कोच, पहले कार्यकाल में हुआ था मिताली से विवाद

Last Updated: गुरुवार, 13 मई 2021 (19:55 IST)
नई दिल्ली:(बीसीसीआई) ने पूर्व भारतीय ऑफ स्पिनर को फिर से का मुख्य कोच नियुक्त किया है। पोवार इससे पहले जुलाई -नवंबर 2018 तक भारतीय महिला टीम के कोच रहे थे। ने गुरूवार को यह जानकारी दी।

बीसीसीआई ने इस पद के लिए विज्ञापन निकाला था और इसके लिए उसे 35 आवेदन मिले थे। सुलक्षणा नायक, मदन लाल और रूद्र प्रताप सिंह की तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति ने आवेदकों का साक्षात्कार किया था और वे सर्वसम्मति से पॉवर के नाम पर सहमत हो गए।

साल 2004 में पाकिस्तान दौरे के लिए टीम इंडिया में पहली बार सिलेक्ट हुए पूर्व भारतीय खिलाड़ी पोवार ने भारत के लिए दो टेस्ट और 31 वनडे खेले हैं। अपने खेलने के करियर के बाद वह क्रिकेट कोचिंग में आये और ईसीबी लेवल 2 प्रमाणित कोच बने। वह बीसीसीआई=एनसीए लेवल 2 कोचिंग कोर्स में भी शामिल हुए।

पोवार दूसरी बार महिला टीम के कोच बने हैं। वह इससे पहले जुलाई -नवंबर 2018 तक महिला टीम के कोच थे। उनके कोच रहते भारत आईसीसी टी 20 महिला विश्व कप 2018 के सेमीफाइनल तक पहुंचा था और उसने लगातार 14 टी 20 मैच जीते थे।

उन्होंने हाल में मुंबई सीनियर टीम को कोचिंग दी थी जिसने विजय हजारे ट्रॉफी जीती थी। पोवार नेशनल क्रिकेट अकादमी में गेंदबाजी कोच के रूप में भी काम कर चुके हैं।

पहला कार्यकाल रहा था विवादों से भरा

एक समय भारतीय बल्लेबाज मिताली राज और मुख्य कोच रमेश पोवार के बीच का विवाद बेहद खराब शक्ल अख्तियार करता जा रहा था और पोवार ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को दी गई अपनी आधिकारिक रिपोर्ट में कहा था कि मिताली ने धमकी दी थी कि यदि उन्हें ओपनिंग नहीं करने दी गई तो वह विश्वकप के बीच से ही हट जाएंगी और संन्यास ले लेंगी।

मिताली राज ने आरोप लगाया था कि पोवार उन्हें बर्बाद करना चाहते हैं जबकि कोच रमेश पोवार ने उनके रवैए पर सवाल उठाए थे। पोवार की नियुक्ति जुलाई-2018 में हुई थी जब तुषार अरोठे ने सीनियर खिलाड़ियों के साथ मतभेद के कारण पद छोड़ दिया था।
(वार्ता)



और भी पढ़ें :