एशेज की हार के बाद सब पर गिरी गाज, पर बच गई इंग्लैड के कप्तान जो रूट की कुर्सी

पुनः संशोधित सोमवार, 7 फ़रवरी 2022 (14:22 IST)
हमें फॉलो करें
लंदन:एशेज मे करारी हार के बाद बोर्ड ने 3 बड़े नामों पर गाज गिरायी लेकिन के खिलाफ कोई भी बड़ा फैसला लेने में नाकाम रही। एशेज में ऑस्ट्रेलिया के हाथों 0-4 से मिली हार का ख़ामियाजा ग्राहम थोर्प को भी चुकाना पड़ा है। थोर्प को भी की ही तरह उनके पद से हटा दिया गया है, इससे पहले प्रबंध निदेशक के पद से एश्ले जाइल्स ने भी इस्तीफा दे दिया था, लेकिन जो रूट आगामी वेस्टइंडीज़ दौरे के लिए इंग्लैंड के कप्तान बने रहेंगे।इसका सीधा सा मतलब है कि एशेज की 0-4 की हार के बाद सिर्फ रूट की कुर्सी बच गई है।

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड के अंतरिम निदेशक एंड्रीयू स्ट्रॉस ने इसकी जानकारी दी। बुधवार को ही स्ट्रॉस ने अंतरिम क्रिकेट निदेशक का पदभार संभाला है और इसके बाद गुरुवार को उन्होंने इंग्लैंड के मुख्य कोच सिल्वरवुड को भी बर्ख़ास्त कर दिया था। लॉर्ड्स में मीडिया से मुख़ातिब होते हुए स्ट्रॉस ने कहा, "एशेज में 0-4 से मिली हार के बाद रूट बेहद निराश हैं, क्योंकि दूसरी बार उनकी कप्तानी में टीम को इस तरह ऑस्ट्रेलिया में हार मिली है।"

ALSO READ:

एशेज में करारी हार के बाद इंग्लैंड के मुख्य और सहायक कोच की हुई छुट्टी

हालांकि रूट का समर्थन करते हुए स्ट्रॉस ने कहा, "रूट की ऊर्चा और सभी खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने का जज़्बा शानदार है, वह दूसरे खिलाड़ियों की इज़्ज़त भी करते हैं लिहाज़ा वह टीम के कप्तान बने रहेंगे।" रूट ने 2021 में कमाल का प्रदर्शन किया था, जहां उन्होंने 61 की औसत से 1708 टेस्ट रन बनाए थे जिसमें छह शतक भी शामिल हैं।

दूसरी तरफ़ थोर्प तीसरे ऐसे व्यक्ति हैं जिनपर हार की गाज गिरी है, इसके पीछे सिर्फ़ टीम का ख़राब प्रदर्शन नहीं बल्कि मैदान के बाहर उनकी शराब पीने की आदत और ख़राब फ़िटनेस को माना जा रहा है। 24 फ़रवरी को इंग्लैंड को वेस्टइंडीज़ के लिए रवाना होना है, लिहाज़ा इन तीन हफ़्तों के अंदर किसी अंतरिम कोच के नाम का ऐलान होने की उम्मीद की जा रही है। राष्ट्रीय चयनकर्ता एड स्मिथ को हटाए जाने के बाद सिल्वरवुड की भूमिका टीम चयन में भी हुआ करती थी। स्ट्रॉस ने इस पर भी कहा है कि वेस्टइंडीज़ दौरे के लिए टीम चयन पैनल द्वारा किया जाएगा।अंतरिम कोच की दौड़ में एलेक स्टीवर्ट और रिचर्ड डॉसन का नाम आ रहा है, डॉसन इस समय अंडर-19 क्रिकेट टीम के साथ वेस्टइंडीज़ में ही हैं।

स्ट्रास ने कहा,"जब आप एशेज हारते हैं तो इंग्लैंड के कप्तान होने के नाते आपकी कुर्सी डगमगा जाती है, मुझे मालूम है जो रूट भी ऐसा ही सोच रहे होंगे। लेकिन मैं ये आश्वस्त करना चाहता हूं कि इस समय इंग्लैंड की टेस्ट टीम के लिए रूट ही सबसे सही कप्तान हैं, मुझे उम्मीद है कि वह टीम को क़ामयाबी की तरफ़ लेकर जाएंगे।"


मुख्य कोच के तौर पर ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज जस्टिन लैंगर के नाम पर भी चर्चा ज़ोरों पर है, स्ट्रॉस ने लैंगर के नाम पर कहा कि वह इस विकल्प को ख़ारिज नहीं कर रहे लेकिन और भी कई नाम हैं जिनपर विचार किया जा रहा है।स्ट्रॉस ने कहा, "क्या हम अलग-अलग कोच चाहते हैं या सिर्फ़ एक कोच? हर फ़ॉर्मेट में कैसी ज़रूरते हैं, हम उस हिसाब से फ़ैसला लेंगे। लिहाज़ा लैंगर की बात करें, तो मैं उन्हें अच्छे से जानता हूं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए कमाल का प्रदर्शन किया है, इसलिए मैं उनको ख़ारिज कर ही नहीं सकता। लेकिन मैं ये भी बताना चाहूंगा कि उनके अलावा भी और कई ऐसे हैं जिनपर हम विचार कर रहे हैं।"

बल्लेबाजी के कारण जमे रहे रूट

जो रूट का पिछला साल बतौर बल्लेबाज खासा अच्छा रहा था इस कारण चयनकर्ता संभवत: उनसे कप्तानी से हटने के लिए नहीं कर पाए।

साल 2021 में इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने 1708 रनों का पहाड़ खड़ा किया। इस साल की शुरुआत में ही उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ शतक लगाया था। इसके बाद भारत के खिलाफ चेन्नई में पहले ही टेस्ट में दोहरा शतक जड़ दिया था। यह टेस्ट जो रूट का 100वां टेस्ट भी था। इसके बाद जब भारत इंग्लैंड के दौरे पर आयी तो लगातार 3 शतक लगाए थे। हालांकि एशेज में वह एक भी शतक लगाने में नाकाम रहे। वह एक कैलेंडर वर्ष में सर्वाधिक रन बनाने वाले कप्तान भी बने।जो रूट का साल 2021 में सर्वाधिक टेस्ट स्कोर 228 का रहा। इस साल उन्होंने 6 शतक और 4 अर्धशतक जड़े।

हालांकि जब उनकी टीम को उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी तब वह कुछ खास नहीं कर पाए। बतौर कप्तान तो जो रूट की एशेज में आलोचना हुई ही सही लेकिन बतौर बल्लेबाज वह एशेज में अपना पहला शतक लगाने में भी विफल रहे।



और भी पढ़ें :