0-1 से पीछे चल रही Team India क्या पिछली गलतियों से सबक सीखेगी?

Last Updated: मंगलवार, 17 दिसंबर 2019 (17:39 IST)
विशाखापत्तनम। भारत और वेस्टइंडीज के बीच में खेले जाने वाले दूसरे में टीम इंडिया अपनी गेंदबाजी संयोजन में सुधार कर वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत हासिल कर सीरीज में वापसी के लिए तमाम कौशल झोंक देगी।
उल्लेखनीय है कि 3 वनडे मैचों की इस सीरीज में भारतीय टीम 0-1 से पीछे चल रही हैं। सीरीज का दूसरा मुकाबला बुधवार को विशाखापत्तनम में खेला जाएंगा। मैच से पूर्व कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि हम पिछले मैच में हुई गलतियों फिर से दौहराना नहीं चाहेंगे।

यहां सीरीज जीतने से बतौर कप्तान कीरोन पोलार्ड का कद बढेगा लेकिन बल्लेबाजों की ऐशगाह इस पिच पर विराट कोहली या रोहित शर्मा को रोकना उनके लिए आसान नहीं रहेगा।
भारतीय गेंदबाजी चेन्नई में पहले मैच में खराब नहीं थी लेकिन धीमी पिच पर 287 रन बनाने के बावजूद जीत नहीं पाने से टीम प्रबंधन के सामने कुछ सवाल उठ खड़े हुए हैं।

यहां एसीए वीडीसीए स्टेडियम पर 320 रन का स्कोर अच्छा माना जा रहा है लिहाजा 5वें गेंदबाजी विकल्प को उतारा जा सकता है। पिछले मैच में शिमरोन हेटमायेर और शाइ होप के शतकों की मदद से वेस्टइंडीज ने लक्ष्य आसानी से हासिल कर लिया था।

स्पिनर रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव उस मैच में नाकाम रहे जिन्होंने 10-10 ओवरों में क्रमश: 58 और 45 रन दे डाले और उन्हें विकेट भी नहीं मिले।
होप और हेटमायर ने गेंदबाजी की बखिया तो नहीं उधेड़ी लेकिन जोखिम लिए बिना बीच के ओवरों में 103 रन जोड़े। शिवम दुबे ने 7.5 ओवरों में 68 रन दिए जिससे साबित होता है कि गेंदबाजी में उसे और मेहनत करनी होगी।

भारत के पास रिजर्व खिलाड़ियों में सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल हैं लेकिन रोहित और केएल राहुल के शानदार फॉर्म को देखते हुए उनके खेलने की संभावना कम ही है। मनीष पांडे मध्यक्रम के बल्लेबाज हैं जो 6ठे नंबर पर केदार जाधव की ही जगह ले सकते हैं। जाधव ने हालांकि चेन्नई में 33 गेंद में 40 रन बनाए।

विशेषज्ञ 5वें गेंदबाज के रूप में विकल्प तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर या लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल हैं। इनमें से एक को चुनने पर दोनों हरफनमौलाओं दुबे या रविंद्र जडेजा में से एक को बाहर किया जा सकता है।

दुबे पिछले मैच में 8वें नंबर पर उतरे थे। उनकी जगह शार्दुल को मौका दिया जा सकता है क्योंकि जडेजा का अनुभव किसी रूप में काम आएगा। वेस्टइंडीज की उम्मीदें हेटमायेर पर टिकी होंगी। कैरेबियाई तेज गेंदबाजों शेल्डन कोटरेल और अलजारी जोसेफ ने अच्छा प्रदर्शन किया। कीमो पाल समेत वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों ने विविधता का प्रदर्शन किया।

टीमें इस प्रकार है : टीम इंडिया - विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, ऋषभ पंत, शिवम दुबे, केदार जाधव, रविंद्र जडेजा, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, दीपक चाहर, मोहम्मद शमी और शार्दुल ठाकुर।

वेस्टइंडीज टीम - कीरोन पोलार्ड (कप्तान), सुनील अंबरीश, शाई होप, खैरी पियरे, रोस्टन चेस, अल्जारी जोसेफ, शेल्डन कोटरेल, ब्रैंडन किंग, निकोलस पूरन, शिमरान हेटमायर, एविन लुईस, रोमारियो शेफर्ड, जेसन होल्डर, कीमो पाल और हेडन वाल्श जूनियर।




और भी पढ़ें :