1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Indian pacers trounce Lankan batsmen in Twilight
Written By
Last Updated: शनिवार, 12 मार्च 2022 (21:51 IST)

भारतीय तेज गेंदबाजों का गुलाबी गेंद से कहर, श्रीलंका के गिराए 6 विकेट

पहले दो सत्र अगर श्रीलंका के स्पिन गेंदबाजों के नाम रहे तो दूधिया रोशनी में गुलाबी गेंद से भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी ने लंकाई बल्लेबाजों के नाक में दम कर दिया। लंका ने बेंगलूरू टेस्ट के पहले दिन का खेल खत्म होने तक 86 रनों पर 6 विकेट गंवा दिए।

श्रेयस अय्यर (92) मात्र आठ रन से अपना शतक बनाने से चूक गए लेकिन उनकी इस शानदार पारी की बदौलत भारत स्पिन की मददगार पिच पर शनिवार को यहां दूसरे पिंक बॉल टेस्ट क्रिकेट मैच के पहले दिन श्रीलंकाई स्पिनरों की फिरकी में फंस कर पहली पारी में 59.1 ओवर में 252 रन पर सिमट गया। लेकिन जसप्रीत बुमराह (15 रन पर तीन विकेट) की घातक गेंदबाजी के सामने मेहमान टीम लड़खड़ा गयी और उसने स्टंप्स तक अपने छह विकेट मात्र 86 रन पर खो दिए। श्रीलंका अभी भारत के स्कोर से 166 रन पीछे है।

बुमराह ने तीन, नोहम्मद शमी ने दो और लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल ने एक विकेट लेकर श्रीलंका को घुटनों के बल ला दिया। श्रीलंका की पारी में एंजेलो मैथ्यूज ने एकतरफा संघर्ष करते हुए 85 गेंदों में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से सर्वाधिक 43 रन बनाये। स्टंप्स के समय निरोशन डिकवेला 13 और लसिथ एम्बुलदेनिया खाता खोले बिना क्रीज पर थे।

इससे पहले श्रेयस अय्यर ने श्रीलंकाई गेंदबाजों को चुनौती दी तथा एक छोर पर टिके रहे और 10 चौकों और चार छक्कों के दम पर 98 गेंदों पर 92 रन की शानदार पारी खेली, जिसने भारत को 252 के स्कोर तक पहुंचाया। वह हालांकि अपने शतक से चूक गए। वहीं विकेटकीपर ऋषभ पंत ने भी ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते सात चौकों की मदद से 26 गेंदों पर 39 रन बनाए। इन दोनों बल्लेबाजों को छोड़ कर अन्य सभी बल्लेबाज श्रीलंका के स्पिनरों के खिलाफ संघर्ष करते दिखे।

भारत ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी चुनी, लेकिन शीर्ष क्रम की बल्लेबाजी फ्लॉप रहने के कारण चायकाल तक 29 ओवर में 93 के स्कोर पर चार विकेट खो दिए। कप्तान रोहित शर्मा सहित मयंक अग्रवाल, विराट कोहली और हनुमा विहारी, रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल सभी बल्लेबाजों को श्रीलंका के स्पिनरों के खिलाफ मशक्कत करनी पड़ी। लसित एम्बुलदेनिया और प्रवीण जयविक्रमा ने तीन-तीन, जबकि धनंजय डीसिल्वा ने दो और सुरंगा लकमल ने एक विकेट लिया।

मयंक के रूप में 10 के स्कोर पर भारत का पहला विकेट गिरा। मयंक को रन आउट होकर महज चार के स्कोर पर पवेलियन लौटना पड़ा। उनके बाद रोहित ने 29 के स्कोर पर अपना विकेट खाे दिया। वह लेफ्ट आर्म स्पिनर लसित एम्बुलदेनिया का शिकार बने और 15 रन बना कर आउट हो गए।

फिर हालांकि विहारी और विराट ने पिछले मैच की तरह साझेदारी बनाने की कोशिश की, लेकिन एक और लेफ्ट आर्म स्पिनर प्रवीण जयविक्रमा ने 76 के स्कोर पर विहारी को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ दिया। इसके बाद पार्ट टाइम स्पिनर धनंजय डीसिल्वा ने 86 के स्कोर पर विराट को पगबाधा आउट कर दिया। विराट ने दो चौकों की मदद से 48 गेंदों पर 23 रन बनाए, जबकि विहारी चार चौकाें के सहारे 81 गेंदों पर 31 रन बना कर आउट हुए।
इस बीच पंत और अय्यर ने टीम को संकट से उबारने की कोशिश की।

दोनों के बीच पांचवें विकेट के लिए 40 रन की साझेदारी हुई ही थी कि पंत ने आक्रामक शाॅट खेलने के चलते 126 के स्कोर पर अपना विकेट खो दिया। एम्बुलदेनिया ने उन्हें बोल्ड किया। इसके बाद लगातार भारत के विकेट गिरते रहे। 148 के स्कोर पर जडेजा के रूप में छठा, 183 के स्कोर पर अश्विन के रूप में सातवां, 215 के स्कोर पर अक्षर के रूप में आठवां, 229 के स्कोर पर मोहम्मद शमी के रूप में नौंवा और 252 के स्कोर पर अय्यर के रूप में दसवां और आखिरी विकेट खोया। अय्यर के आउट होते ही भारतीय पारी भी निपट गयी।
ये भी पढ़ें
FIH Pro League: पेनल्टी शूटआउट में जर्मनी से 1-2 से हारा भारत