IndvsNz : नहीं चले कोहली-पुजारा, न्यूजीलैंड के‍ खिलाफ पहले टेस्ट में बैकफुट पर टीम इंडिया

Last Updated: रविवार, 23 फ़रवरी 2020 (16:40 IST)
वेलिंगटन। टेस्ट बल्लेबाजी लाइनअप के दो मजबूत स्तंभों विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा की लगातार दूसरी पारी में नाकामी से रविवार को यहां के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में बैकफुट पर चला गया।
भारत ने पहली पारी में 183 रन से पिछड़ने के बाद तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में 4 विकेट पर 144 रन बनाए हैं और वह अभी न्यूजीलैंड से 39 रन पीछे है। भारत का दारोमदार अब अंजिक्य रहाणे (67 गेंदों पर नाबाद 25) और हनुमा विहारी (70 गेंदों पर नाबाद 11) पर टिका है।

इससे पहले भारत के 165 रन के जवाब में न्यूजीलैंड ने पुछल्ले बल्लेबाजों के उपयोगी योगदान से अपनी पहली पारी में 348 रन बनाए थे।
सुबह अगर न्यूजीलैंड के निचले क्रम के बल्लेबाजों ने भारतीय गेंदबाजों को निराश किया तो दूसरे और तीसरे सत्र में ट्रेंट बोल्ट ने भारत को झटके दिए। बोल्ट ने अब तक 27 विकेट पर 3 विकेट लिए हैं जिनमें पुजारा और कोहली के विकेट भी शामिल हैं।
पुजारा (81 गेंदों पर 11) को अत्याधिक रक्षात्मक रवैया अपनाने का खामियाजा भुगतना पड़ा। वे बीच में 28 गेंद तक 6 रन पर अटके रहे और आखिर में अपनी इसी नकारात्मक बल्लेबाजी के जाल में फंस गए। उन्होंने चाय के विश्राम से पहले आखिरी गेंद पर बल्ला उठा दिया लेकिन गेंद उनका ऑफ स्टंप थर्रा गई।

कोहली (43 गेंदों पर 19) ने सकारात्मक शुरुआत की लेकिन बोल्ट की शॉर्ट पिच गेंद पर पुल करने की जल्दबाजी में वे चूक गए और विकेटकीपर वीजे वाटलिंग को पीछे कैच दे बैठे। इस तरह से कोहली की न्यूजीलैंड के वर्तमान दौरे में खराब फार्म जारी रही। वे इस दौरे में तीनों प्रारूपों की 9 पारियों में केवल 201 रन बना पाए हैं।
भारत की तरफ से सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (99 गेंदों पर 58) ने अर्द्धशतक जमाया लेकिन उनके साथी ओपनर पृथ्वी शाह (30 गेंदों पर 14) की खराब तकनीक फिर से उजागर हुई। उन्होंने बोल्ट की गेंद पर शॉर्ट स्क्वायर लेग पर टाम लैथम को कैच दिया। लैथम ने डाइव लगाकर यह कैच लिया।

अग्रवाल ने सकारात्मक बल्लेबाजी की। उन्होंने टिम साउदी (41 रन देकर एक) की लेग स्टंप से बाहर जाती गेंद पर विकेट के पीछे कैच देने से पहले 7 चौके और स्पिनर अजाज पटेल पर लांग ऑफ पर छक्का लगाया। कोहली के कहने पर अग्रवाल ने डीआरएस भी लिया था लेकिन स्निकोमीटर से पता चला कि गेंद उनके बल्ले को छूकर चली गई थी।
न्यूजीलैंड ने पहले पुजारा के खिलाफ और फिर विहारी के खिलाफ अपने रिव्यू गंवाए। रहाणे और विहारी ने अंतिम सत्र में बेहद सतर्कता बरती और विकेट बचाए रखने को प्राथमिकता दी, जिसमें वे सफल भी रहे। इन दोनों ने अब तक 19.4 ओवर में 31 रन की साझेदारी की है।

इससे पूर्व पहले सत्र में न्यूजीलैंड के पुछल्ले बल्लेबाजों ने भारतीय गेंदबाजों को परेशानी में रखा जिससे कीवी टीम 175 रन से अधिक की बढ़त हासिल करने में सफल रही।
भारत की तरफ से इशांत शर्मा ने 68 रन देकर 5 विकेट लिए। रविचंद्रन अश्विन (99 रन देकर 3) ने सुबह के सत्र में 2 विकेट लिए लेकिन काइल जेमीसन और बोल्ट सहित पुछल्ले बल्लेबाजों ने उनकी गेंदों की धुनाई भी की।

जेमीसन की 45 गेंदों पर 44 रन की पारी में 4 छक्के शामिल हैं। उन्होंने कोलिन डि ग्रैंडहोम (74 गेदों पर 43) के साथ आठवें विकेट के लिए 71 रन की साझेदारी की। बोल्ट ने 24 गेंदों पर 38 रन बनाए।
भारत ने दिन की शुरुआत अच्छी की। जसप्रीत बुमराह (88 रन देकर 1 विकेट) ने सुबह के सत्र की पहली गेंद पर ही वाटलिंग (14) को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच कराया। साउदी (6) ने इशांत की बाहर जाती गेंद खेलने के प्रयास में मोहम्मद शमी को फाइन लेग पर कैच दिया।

इसके बाद ग्रैंडहोम, जेमीसन और बोल्ट ने न्यूजीलैंड की बढ़त को 100 रन से कम स्कोर पर सीमित करने के भारत के प्रयासों पर पानी फेरा। इशांत ने बोल्ट का विकेट लेकर अपने करियर में 11वीं बार पारी में 5 या इससे ज्यादा विकेट लिए।



और भी पढ़ें :