विश्वविजेता ऑस्ट्रेलिया को भारत ने 6 विकेटों से हराकर जीती टी-20 सीरीज

Last Updated: रविवार, 25 सितम्बर 2022 (22:58 IST)
हमें फॉलो करें
टी-20 विश्वकप विजेता ऑस्ट्रेलिया को ने 6 विकेटों से हराकर टी-20 सीरीज

2-1 से जीत ली। 186 रनों का पीछा करते वक्त भारत ने शुरुआत में दो विकेट गंवा दिए थे लेकिन की धुआंधार पारी ने भारत के लिए जीत की नींव रखी।

भारत ने सूर्यकुमार यादव (69) और विराट कोहली (63) के दमदार अर्द्धशतकों के बाद हार्दिक पांड्या (25 नाबाद) की विस्फोटक पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया को तीसरे टी20 मैच में रविवार को छह विकेट से मात देकर तीन मैचों की शृंखला 2-1 से जीती।

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 187 रन का लक्ष्य दिया था, जिसे भारत ने एक गेंद शेष रहते हुए हासिल कर लिया।
सूर्यकुमार ने 36 गेंदों पर पांच चौकों और पांच छक्कों की बदौलत ताबड़तोड़ 69 रन बनाये जबकि कोहली ने 48 गेंदों पर तीन चौकों और चार छक्कों के साथ 63 रन की पारी खेली। दोनों ने तीसरे विकेट के लिये 104 रन की विशाल साझेदारी करके भारत को जीत के करीब पहुंचाया और हार्दिक ने 20वें ओवर की पांचवीं गेंद पर चौका लगाकर भारत को जीत दिलायी।

ऑस्ट्रेलिया को 186 रन के मजबूत स्कोर तक पहुंचाने के लिये कैमरन ग्रीन (52) और टिम डेविड (54) ने विस्फोटक अर्द्धशतक जड़े थे लेकिन सूर्यकुमार-विराट की जोड़ी ने उनकी मेहनत पर पानी फेर दिया।
ग्रीन ने 21 गेंदों पर सात चौकों और तीन छक्कों की बदौलत 52 रन बनाये जबकि टिम डेविड ने 26 गेंदों पर दो चौकों और चार छक्कों के साथ 54 रन की पारी खेली।
लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही और सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल पहले ही ओवर में एक रन बनाकर पवेलियन लौट गये। कप्तान रोहित शर्मा ने जॉश हेजलवुड को छक्का लगाकर आक्रामकता दिखायी लेकिन वह भी दो चौकों और एक छक्के के साथ 17(14) रन बनाकर आउट हो गये।

इसके बाद सूर्यकुमार और विराट ने भारतीय पारी को संभाला और शतकीय साझेदारी से कंगारुओं के हौसले पस्त कर दिये। सूर्यकुमार ने 13वें ओवर में ऐडम ज़ैम्पा की गेंद पर छक्का लगाकर अपना अर्द्धशतक पूरा किया, हालांकि वह 14वें ओवर में छक्का लगाने के प्रयास में बाउंड्री पर कैच आउट हो गये। इसके बाद कोहली और हार्दिक ने चौथे विकेट के लिये 32 गेंदों पर 48 रन की साझेदारी की। भारत को आखिरी ओवर में 11 रन चाहिये थे। विराट पहली गेंद पर छक्का लगाकर दूसरी गेंद पर बाउंड्री पर कैच आउट हो गये, जिसके बाद हार्दिक ने ओवर की पांचवीं गेंद पर चौका लगाकर भारत की विजय पताका लहराई।

ऑस्ट्रेलिया की ओर से डैनियल सैम्स ने 3.5 ओवर में 33 रन देकर दो विकेट लिये जबकि हेजलवुड और पैट कमिंस ने अपने-अपने चार ओवर के कोटे में 40 रन देकर एक-एक विकेट लिया। कैमरन ग्रीन ने तीन ओवर में 14 रन दिये लेकिन उन्हें कोई विकेट हासिल नहीं हुआ।
इससे पहले, भारत ने टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया को पहले बल्लेबाजी के लिये बुलाया और ग्रीन पहली गेंद से ही आक्रामक नजर आये। उन्होंने पहले ओवर में भुवनेश्वर कुमार का स्वागत एक चौके और एक छक्के के साथ किया। कप्तान ऐरन फिंच (07) के तीसरे ओवर में पवेलियन लौटने के बावजूद ग्रीन ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए चौथे ओवर में ही टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचा दिया। ग्रीन ने 19 गेंदों पर अपना अर्द्धशतक पूरा किया लेकिन दो गेंदों बाद भुवनेश्वर कुमार का शिकार हो गये।

इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने तेजी से विकेट गंवाये। ग्लेन मैक्सवेल (06), स्टीव स्मिथ (09) और मैथ्यू वेड (01) बड़ा योगदान नहीं दे सके। जॉश इंग्लिस ने 22 गेंदों पर 24 बनाये लेकिन पारी की रफ्तार बढ़ाने से पहले आउट हो गये।
ऑस्ट्रेलिया के 117 रन पर छह विकेट गिरने के बाद डेविड ने डैनियल सैम्स के साथ मोर्चा संभाला और सातवें विकेट के लिये 34 गेंदों पर 68 रन की साझेदारी की। सैम्स 20 गेंदों पर एक चौके और दो छक्कों के साथ 28 रन बनाकर नाबाद रहे। हर्षल पटेल ने आखिरी ओवर में डेविड को आउट करते हुए केवल सात रन दिये और ऑस्ट्रेलिया को 200 रन के संभावित स्कोर तक पहुंचने से रोका।

अक्षर पटेल ने शानदार फॉर्म को जारी रखते हुए चार ओवर में 33 रन देकर तीन विकेट लिये, जबकि युज़वेंद्र चहल ने चार ओवर में एक विकेट लेकर सिर्फ 22 रन दिये। भुवनेश्वर कुमार को तीन ओवर में एक विकेट हासिल हुआ लेकिन उन्होंने 39 रन भी दिये। जसप्रीत बुमराह ने चार ओवर में 50 रन दिये और उन्हें कोई विकेट हासिल नहीं हुआ।



और भी पढ़ें :