INDVs ENG : सीरीज जीतने के बावजूद इस बात पर बुरी तरह से भड़के विराट कोहली

पुनः संशोधित रविवार, 28 मार्च 2021 (23:32 IST)
पुणे। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे और अंतिम एकदिवसीय मैच में सात रन की रोमांचक जीत का श्रेय गेंदबाजों को देते हुए को मैन ऑफ द मैच और को मैन ऑफ द सीरीज न मिलने पर हैरानी भी जताई।
शार्दुल ने 30 रन बनाने के अलावा 4 विकेट भी लिए जबकि भुवनेश्वर ने पूरी श्रृंखला में अच्छी गेंदबाजी की। इंग्लैंड की तरफ से नाबाद 95 रन की पारी खेलने वाले सैम करेन को मैन ऑफ द मैच और जॉनी बेयरस्टॉ को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।
कोहली ने तीसरे मैच में भारत की सात रन से जीत के बाद कहा कि जब दो शीर्ष टीमें आपस में खेलती हैं तो मैच रोमांचक होते है। सैम ने बेहतरीन पारी खेली। हमारे गेंदबाजों ने हालांकि विकेट लिए तथा हार्दिक (पंड्या) और नट्टू (नटराजन) ने आखिर में अच्छी गेंदबाजी की। हमने कैच छोड़े यह निराशाजनक था लेकिन हम आखिर में जीत दर्ज करने में सफल रहे।

उन्होंने कहा कि मुझे हैरानी है कि शार्दुल को मैन ऑफ द मैच और भुवी को मैन ऑफ द सीरीज नहीं चुना गया। सबसे अधिक श्रेय गेंदबाजों को जाता है जिन्होंने विपरीत परिस्थितियों में अच्छी गेंदबाजी की।

इंग्लैंड के कार्यवाहक कप्तान जोस बटलर ने कहा कि इस दौरे का अनुभव विश्व कप में काम आएगा। भारत इस साल टी20 विश्व कप के अलावा 2023 में वनडे विश्व कप की मेजबानी भी करेगा।
बटलर ने कहा कि बेहतरीन मैच। दोनों टीमों ने कुछ गलतियां की लेकिन बेहतरीन क्रिकेट भी खेली। हमने करेन की शानदार पारी देखी जिससे हम लक्ष्य के करीब पहुंच गए थे लेकिन भारत को इस जीत के लिए बधाई।

उन्होंने कहा कि इस दौरे में हमने एक टीम के रूप में काफी कुछ सीखा और देखा कि कई खिलाड़ी अब जिम्मेदारी निभाने के लिए तैयार हैं। हमें इन परिस्थितियों में आगे विश्व कप खेलना है और तब इसका फायदा मिलेगा।
आखिरी मुकाबले में 95 रन की पारी खेलकर इंग्लैंड को जीत के करीब ले जाने वाले सैम कर्रन को मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया। इसके अलावा सीरीज के पहले मैच में 94 और दूसरे मैच में 124 रन की पारी खेलने वाले इंग्लैंड के ओपनर जॉनी बेयरस्टो मैन ऑफ द सीरीज का खिताब जीतने में कामयाब रहे। (भाषा)



और भी पढ़ें :