2 साल पहले छोड़ दिया था देश, अब यह गेंदबाज कोहली को गेंद डालने के लिए है उत्साहित

पुनः संशोधित शुक्रवार, 24 दिसंबर 2021 (12:28 IST)
हमें फॉलो करें
सेंचुरियन: को राष्ट्रीय टीम में वापसी की कोई उम्मीद नहीं थी लेकिन दक्षिण अफ्रीका की टेस्ट टीम में शामिल किये जाने के बाद यह तेज गेंदबाज विराट कोहली जैसे विश्व स्तरीय खिलाड़ी से मिलने वाली चुनौती के लिये पूरी तरह तैयार है।

उनतीस साल के ओलिवर ने 2017 में पदार्पण किया था और 10 टेस्ट मैचों में 48 विकेट झटक लिये थे। लेकिन इसके बाद उन्होंने ‘कोलपैक’ रास्ता (जिसके अंतर्गत खिलाड़ियों को ब्रिटेन में काउंटी क्रिकेट खेलने की अनुमति दी जाती है क्योंकि वह तब यूरोपीय संघ का हिस्सा था) अपनाकर यार्कशर का प्रतिनिधित्व किया। उन्हें एक दिन इंग्लैंड के लिये खेलने की उम्मीद थी।

लेकिन ब्रिटेन के यूरोपीय संघ छोड़ने के साथ ही ओलिवर की उम्मीद भी टूट गयी और वह अपने जन्मस्थल वापस लौट आये। वह घरेलू क्रिकेट खेल रहे थे और उन्हें रविवार से भारत के खिलाफ शुरू हो रहे तीन टेस्ट के लिये दक्षिण अफ्रीका की टीम में शामिल कर लिया गया।
ओलिवर ने क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका की मीडिया विंग से कहा, ‘‘यह विश्व स्तरीय खिलाड़ियों के खिलाफ मेरे करियर की सबसे बड़ी श्रृंखला होगी और यह रोमांचक चुनौती है। मुझे विराट कोहली को गेंदबाजी करनी होगी। यह मुश्किल होगा लेकिन यह रोमांचक भी होगा। शायद मैं विश्व क्रिकेट के शीर्ष चार बल्लेबाजों में से एक को गेंदबाजी करूंगा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरे लिये यह मौका होगा कि हम उन्हें बता सकें कि हम यहां प्रतिस्पर्धा करने के लिये। मेरे लिये पहला झटका देकर शुरूआत करना बहुत महत्वपूर्ण है। ’’

ओलिवर के 2019 में राष्ट्रीय टीम अचानक छोड़ने से हड़कंप मच गया था।ओलिवर का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका अपनी परिस्थितियों का फायदा उठा सकता है, हालांकि बाक्सिंग डे के दिन सुपरस्पोर्ट पार्क पर इस समय दिख रही घास नहीं होगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें परिस्थितियों का फायदा उठाना होगा। यह सीम ले सकती है और उछाल भी ले सकती है। मैं मानता हूं कि कुछ घास काट दी जायेगी। बारिश की भी भविष्यवाणी है, यह तैयारियों के लिये आदर्श नहीं है। ’’
virat kohli

विराट कोहली के लिए भी चुनौतीपूर्ण होगी सीरीज

साल 2018 में विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका दौरे पर खासा अच्छा प्रदर्शन किया था। लेकिन हाल में उनका फॉर्म अच्छा नहीं रहा है। खासकर विदेशी दौरों पर वह कुछ खास नहीं कर पाए हैं।

इसके अलावा लंबे समय तक उनके बल्ले से शतक नहीं निकला है दक्षिण अफ्रीका की उछाल लेती हुई पिचों पर बल्लेबाजी करना कोहली के लिए एक चुनौती होगी।

हाल ही में बीसीसीआई से चल रहे उनके विवाद का असर उनकी बल्लेबाजी पर भी पड़ सकता है। ऐसे में या तो बल्लेबाज बहुत लंबी पारी खेलता है या फिर दबाव में बिखर जाता है।

देखना होगा कि कोहली इस सीरीज में कैसा प्रदर्शन करते हैं। टेस्ट के बाद वनडे में करीब 4 साल बाद वह सिर्फ बतौर खिलाड़ी टीम इंडिया में दिख सकते हैं।



और भी पढ़ें :