विश्वकप में पाकिस्तान से मिली हार का बदला लिया : मिताली

बैंकॉक| पुनः संशोधित सोमवार, 5 दिसंबर 2016 (21:08 IST)
बैंकॉक। महिला एशिया कप ट्वंटी-20 में भारत को एशियन चैंपियन बनाने के बाद अनुभवी बल्लेबाज ने कहा कि टीम ने को हराकर ट्वंटी-20 विश्वकप में मिली हार का बदला ले लिया। 
     
  
भारत ने चिरप्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को महिला ट्वंटी-20 एशिया कप के फाइनल में 17 रनों से हराकर एशिया कप का खिताब अपने नाम किया था। इस मैच में मिताली ने सर्वाधिक 73 रन बनाए और उन्हें 'प्लेयर ऑफ द मैच' का पुरस्कार मिला। इस जीत के साथ ही भारत ने इस वर्ष मार्च में अपनी मेजबानी हुए ट्वंटी-20 विश्वकप में पाकिस्तान से दो रन से मिली हार का बदला भी चुकता कर लिया। 
         
मिताली ने बीसीसीआई टीवी से कहा, मुझे इस बात की खुशी है कि मैं निरंतर अच्छा खेल दिखा रही हूं। प्लेयर ऑफ मैच और प्लेयर ऑफ दा सीरीज बनना बहुत ही गौरवान्वित क्षण रहा। ट्वंटी-20 विश्वकप में पाकिस्तान से मिली हार को पचाना बहुत ही मुश्किल हो रहा था। लेकिन एशिया कप के फाइनल में पाकिस्तान को हराकर हमने उस हार का बदला ले लिया।
         
मिताली ट्वंटी-20 एशिया कप में 220 रनों के साथ सर्वाधिक स्कोरर रहीं। इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर आफ द टूर्नामेंट का भी खिताब मिला। 34 वर्षीय सलामी बल्लेबाज ने कहा, हम इस बात को बखूबी जानते थे कि मौजूदा भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए पिछले दो-तीन मुकाबलों में सबसे ज्यादा मजबूत टीम है। टीम ने इस बात को ध्यान में रखते हुए पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरी थी और विश्वकप ट्वंटी-20 में मिली हार का बदला ले लिया। (वार्ता)



और भी पढ़ें :