IPL 2021 के लिए टीम इंडिया के साथ UAE की फ्लाइट में बैठ सकते हैं अफगानी खिलाड़ी

Last Updated: सोमवार, 16 अगस्त 2021 (15:23 IST)
हमें फॉलो करें
कुछ ही देर पहले सनराइजर्स हैदराबाद के सीईओ ने यह बयान दिया था कि के दोनों खिलाड़ी और मोहम्मद नबी आईपीएल 2021 का हिस्सा होंगे। लेकिन अभी भी की चिंता पूरी तरह दूर नहीं हुई है।


हालांकि इस समय दोनों क्रिकेटर्स अफगानिस्तान में नहीं है और इंग्लैंड में टूर्नामेंट में भाग ले रहे हैं।जहां राशिद ट्रैंट रॉकेट्स टीम के खिलाड़ी है वहां नबी लंदन स्पिरिट्स की ओर से खेल रहे हैं।

दोनों ही खिलाड़ी अपनी स्पिन गेंदबाजी के लिए मशहूर हैं साथ में अंतिम ओवरों में बड़े शॉट्स लगाने के लिए भी जाने जाते हैं। बीसीसीआई इस पर विचार कर रही है कि कैसे सभी अफगान खिलाड़ियों को संयुक्त अरब अमीरात में होने वाले टूर्नामेंट का हिस्सा बनाया जाए।

अच्छी बात यह है कि यह दोनों खिलाड़ी इंग्लैंड में है। भारतीय टीम भी इंग्लैंड दौरे पर है जहां वह इंग्लैंड के साथ टेस्ट सीरीज खेलने में व्यस्त है। ऐसे में यह मुमकिन हो सकता है कि टीम इंडिया के साथ ही यह दोनों अफगानिस्तान खिलाड़ी भी आईपीएल खेलने के लिए यूएई के लिए उड़ान भरे।
गौरतलब है कि अफगानिस्तान टीम क्रिकेट में एशिया की उभरती हुई टीम है। तालीबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद देश का भविष्य क्या होगा यह किसी को पता नहीं है। यही बात उनकी राष्ट्रीय टीम के लिए भी कही जा सकती है। यह घटना आगे बढ़ती हुई अफगानिस्तान टीम को पीछे धकेलने में काफी है।
अफगानिस्तान कुछ मौकों पर अपने से बड़ी टीम को हरा चुकी है। बांग्लादेश को वनडे मैच हराने के बाद उसने विश्वकप 2015 में पहली बार जीत का स्वाद चखा। विश्वकप 2016 में लगभग हर मैच को वह जीतने की स्थिती में थे,लेकिन अपने अंतिम लीग मैच में उन्होंने वेस्टइंडीज की टीम को हराया जिसने टी-20 विश्वकप 2016 जीता।। एशिया कप 2018 में वह भारत के साथ मैच टाई भी कर चुके हैं। हाल ही में अफगानिस्तान को जिमबाब्वे के विरुद्ध अपनी पहली टेस्ट जीत का स्वाद मिला था।

गौरतलब है कि अफगानिस्तान टीम क्रिकेट में एशिया की उभरती हुई टीम है। तालीबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद देश का भविष्य क्या होगा यह किसी को पता नहीं है। यही बात उनकी राष्ट्रीय टीम के लिए भी कही जा सकती है। यह घटना आगे बढ़ती हुई अफगानिस्तान टीम को पीछे धकेलने में काफी है।
अफगानिस्तान कुछ मौकों पर अपने से बड़ी टीम को हरा चुकी है। बांग्लादेश को वनडे मैच हराने के बाद उसने विश्वकप 2015 में पहली बार जीत का स्वाद चखा। विश्वकप 2016 में लगभग हर लीग
मैच को वह जीतने की स्थिती में थे। लेकिन अपने अंतिम लीग मैच में उन्होंने वेस्टइंडीज की टीम को हराया जिसने टी-20 विश्वकप 2016 जीता।
एशिया कप 2018 में वह भारत के साथ मैच टाई भी कर चुके हैं। हाल ही में अफगानिस्तान को जिमबाब्वे के विरुद्ध अपनी पहली टेस्ट जीत का स्वाद मिला था।

अफगानिस्तान क्रिकेट को बढ़ाने में बीसीसीआई की अहम भूमिका
अफगानिस्तान क्रिकेट को बढ़ावा देने में बीसीसीाई की अहम भूमिका रही है। अफगानिस्तान ने दो वनडे सीरीज लगभग एक मेजबान की तरह भारत में खेली है। लखनऊ के एकाना स्टेडियम में अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच में वनडे सीरीज आयोजित हुई थी। वहीं आयरलैंड और अफगानिस्तान के बीच सीरीज दिल्ली में खेली गई थी।



और भी पढ़ें :