1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Bangladesh pace bowler Rubel Hussain calls time on test career
Written By
पुनः संशोधित सोमवार, 19 सितम्बर 2022 (16:39 IST)

13 साल के करियर में खेले सिर्फ 27 टेस्ट, आज इस बांग्लादेशी गेंदबाज ने लिया संन्यास

ढाका:बांग्लादेश के तेज गेंदबाज रुबेल हुसैन ने सोमवार को टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने की घोषणा की।हुसैन ने सोशल मीडिया का रुख करते हुए कहा कि वह युवाओं को अधिक अवसर देने की आवश्यकता महसूस करते हैं, इसलिए उन्होंने खेल के सबसे लंबे प्रारूप से संन्यास लेने का निर्णय लिया।

हुसैन ने फेसबुक अकाउंट पर लिखा, “अस्सलाम अलैकुम। मैं आपसे कुछ बात साझा करना चाहता था। मैंने आधिकारिक तौर पर बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) को एक पत्र सौंपा है और टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने का फैसला किया है।”

उन्होंने कहा, “क्रिकेट का लंबा प्रारूप राष्ट्रीय टीम को मजबूत करने में एक बड़ी भूमिका निभाता है। मुझे लगता है कि अगर युवा तेज गेंदबाजों को ज्यादा मौके मिलते हैं तो हमारी टीम और मजबूत होगी। टेस्ट में युवाओं को अधिक अवसर प्रदान करने के लिए मैंने टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने का फैसला किया है।”

हुसैन ने 2009 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और 13 साल के लम्बे समय में उन्होंने बंगलादेश के लिए 27 टेस्ट खेले। उन्होंने पिछले दो वर्षों में कोई टेस्ट मैच नहीं खेला था, जबकि आखिरी बार वह फरवरी 2020 में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में नजर आये थे। हुसैन ने टेस्ट करियर में 5 विकेट चटककार 166 रन देकर सर्वश्रेष्ठ कारनामा किया था। टेस्ट क्रिकेट में अपने करियर के दौरान उन्होंने 36 विकेट झटके और महज एक बार पांच विकेट लेने में सफल हुए।
उन्होंने कहा, “मैं बंगलादेश के लिए 27 टेस्ट खेलने में सक्षम रहा, जो मेरे लिए एक बड़ी उपलब्धि है। जिन लोगों ने लाल गेंद क्रिकेट के साथ मेरी यात्रा के दौरान मेरी मदद की है, मैं उन सभी का आभारी हूं और मुझे उम्मीद है कि आने वाले दिनों में भी मुझे आपका साथ मिलेगा। मैंने भले ही टेस्ट क्रिकेट से सन्यास ले लिया हो, लेकिन मेरा मानना ​​है कि बंगलादेश के लिए एकदिवसीय और टी20 प्रारूप में मुझे अभी भी बहुत योगदान देना है।”

हुसैन ने कहा कि वह अन्य सफेद गेंद प्रतियोगिताओं के साथ ढाका प्रीमियर लीग (डीपीएल) और बंगलादेश प्रीमियर लीग (बीपीएल) में खेलना जारी रखेंगे।(वार्ता)
ये भी पढ़ें
ग्वालियर में जिस गेंद के खिलाफ सचिन ने बनाए थे 200 रन, वह 12 साल बाद इंदौर में मिली