गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Australia wins the second ODI to take the series home
Written By
Last Updated: शनिवार, 19 नवंबर 2022 (19:21 IST)

ऑस्ट्रेलिया ने दूसरा वनडे 72 रनों से जीतकर विश्व विजेता इंग्लैंड से जीती सीरीज

ऑस्ट्रेलिया ने सिडनी पर खेले गए दूसरे वनडे में विश्व विजेता इंग्लैंड को 72 रनों से मात देकर वनडे सीरीज कब्जा ली। इससे पहले पहला वनडे ऑस्ट्रेलिया 5 विकेटों से जीता था। 3 वनडे की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया अब 2-0 से आगे है। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 280 रन बनाए जबकि इंग्लैंड 38 ओवरों में ही 208 रनों पर सिमट गई।

स्टीवन स्मिथ (94) और मारनस लबसचगने (58) के बीच तीसरे विकेट के लिये शतकीय साझेदारी के बाद एडम जंपा (45 पर चार विकेट) और मिचेल स्टार्क (47 पर चार विकेट) की कातिलाना गेंदबाजी की बदौलत आस्ट्रेलिया ने मेहमान इंग्लैंड को शनिवार को खेले गये दूसरे एक दिवसीय मैच में 72 रनो से रौंद कर तीन मैचों की श्रृखंला में 2-0 की निर्णायक बढ़त हासिल कर ली।

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में टास जीत कर पहले बल्लेबाजी करते हुये आस्ट्रेलिया ने आठ विकेट पर 280 रनों का स्कोर खड़ा किया जिसके जवाब में इंग्लैंड की पूरी टीम 38.5 ओवर के खेल में 208 रन बना कर पवेलियन लौट गयी।

जबरदस्त फार्म में चल रहे स्मिथ क्रीज ने क्रीज के दूसरे छोर पर आये नये बल्लेबाज लबसचगने के साथ मिल कर अद्वितीय खेल का मुजाहिरा किया। दोनो बल्लेबाजों ने सूझबूझ कर खेलते हुये तीसरे विकेट के लिये 101 रन जोड़े हालांकि पारी के 28वें ओवर में इंग्लैंड के फिरकी गेंदबाज आदिल राशिद ने लगातार दो गेंदो पर लबसचगने और एलेक्स कैरी को शून्य पर चलता कर रन गति पर लगाम लगायी।

स्मिथ भी राशिद के तीसरे शिकार बने। शतक पूरा करने के लिये छक्का मारने के प्रयास में वह बाउंड्री लाइन पर खडे फिल साल्ट की मुट्ठी में समा कर अपना विकेट गंवा बैठे। मिचेल मार्श (50) ने अर्धशतक जमा कर अंतिम ओवरों में रन गति को बनाये रखा जिसकी बदौलत आस्ट्रेलिया चुनौतीपूर्ण स्कोर खडा करने में सफल रहा।

जवाब में इंग्लैंड की शुरूआत बेहद निराशाजनक रही और मेहमान टीम ने पहले ओवर में ही जेसन राय और डेविड मलान के तौर पर पहले दो विकेट बगैर खाता खोले गंवा दिये। दोनो को मिचेल स्टार्क ने अपना शिकार बनाया। बाद में जेम्स विंस (60) और विकेटकीपर बल्लेबाज सैम विलिंग्स (71) ने टीम को शुरूआती झटकों से उबारने की भरपूर कोशिश की मगर एडम जंपा की कहर बरपाती गेंदों और अन्य बल्लेबाजों का सहयोग न मिलने से उनका प्रयास नाकाम साबित हुआ और अंतत: इंग्लैंड को इसका खामियाजा हार के साथ चुकाना पड़ा।