BCCI की बड़ी घोषणा, 2020 का IPL यूएई में होगा, सरकार से ग्रीन सिग्नल मिलने का इंतजार

IPL Trophy
Last Updated: मंगलवार, 21 जुलाई 2020 (22:56 IST)
नई दिल्ली। क्रिकेट प्रेमियों के लिए खुशखबर...। ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवम्बर में होने वाले टी-20 विश्व कप के स्थगित हो जाने के बाद इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13वें संस्करण का संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में होना लगभग तय हो गया है। अब सिर्फ सरकार से ग्रीन सिग्नल मिलने का इंतजार है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने इसके लिए 26 सितम्बर से 7 नवम्बर तक की गैर आधिकारिक विंडो तय की है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने कल घोषणा की थी कि 18 अक्टूबर से 15 नवम्बर तक ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप को स्थगित कर दिया गया है। के चेयरमैन बृजेश पटेल ने मंगलवार को क्रिकबज को पुष्टि की कि आईपीएल का आयोजन में किया जाएगा।
पटेल ने बताया कि ने को पत्र लिखकर टूर्नामेंट को यूएई में कराने की अनुमति मांगी है और वह सरकार की मंजूरी का इन्तजार कर रहा है। बोर्ड ने साथ ही टीमों के खिलाड़ियों और अधिकारियों की यात्रा के लिए आवश्यक अनुमति भी मांगी है।
उन्होंने कहा, हमने टूर्नामेंट को यूएई में कराने की सरकार से अनुमति मांगी है। हालांकि तारीखें अभी तय नहीं की गई हैं और इनका फैसला आईपीएल की संचालन परिषद की अगली बैठक में किया जाएगा, जो अगले 7-10 दिनों में होगी। पटेल ने हालांकि साथ ही कहा कि टूर्नामेंट को भारत में आयोजित करने का विकल्प अभी खारिज नहीं किया गया है और इस बारे में अंतिम फैसला संचालन परिषद की बैठक में लिया जाएगा।

आईपीएल का आयोजन 29 मार्च से होना था लेकिन कोरोना के कारण इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया था। बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने जून में राज्य संघों को पत्र लिखकर कहा था कि बोर्ड को इस वर्ष आईपीएल कराने की उम्मीद है और खाली स्टेडियम सहित सभी विकल्प तलाशे जा रहे हैं।
विदेशी जमीन पर आईपीएल कराने की चर्चा भी उठी थी और इसके लिए यूएई, न्यूजीलैंड और श्रीलंका के नाम उठे थे लेकिन न्यूजीलैंड ने इंकार कर दिया था कि उसने आईपीएल को आयोजित करने का कोई प्रस्ताव दिया था।

पिछले महीने यूएई ने कहा था कि वह टूर्नामेंट का आयोजन कर सकता है और इसके लिए उसके पास आधारभूत ढांचा भी है। अगर आईपीएल को यूएई में कराया जाता है तो यह दूसरी बार होगा, जब आईपीएल यूएई में आयोजित होगा। इससे पहले 2014 में भारत में आम चुनाव के कारण आईपीएल का पहला चरण यूएई में आयोजित किया गया था।
संयुक्त अमीरात क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने बीसीसीआई को पत्र लिखकर आईपीएल को यूएई में कराने का विकल्प बताया था। ईसीबी के सचिव मुबाशशिर उस्मानी ने कहा था, अगर बीसीसीआई आईपीएल यूएई में कराता है तो हम इसे अपना पूरा समर्थन देंगे और प्रोटोकॉल का पालन भी करेंगे तथा सरकार से आईपीएल की मेजबानी करने की इजाजत लेंगे। हमें बीसीसीआई से लिखित पुष्टि का इंतजार है।

ऐसा माना जा रहा है कि अगर यूएई में आईपीएल कराया जाता है तो इसके मुकाबले दुबई, अबु धाबी और शारजाह में कराए जाएंगे। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि आईपीएल के मुकाबले की आईसीसी अकादमी में भी कराए जाएंगे या नहीं। ऐसी संभावना है कि यह टूर्नामेंट दर्शकों के बिना आयोजित कराया जाए।
गत 13 जुलाई को फ्रेंचाईजी की बैठक में टूर्नामेंट को यूएई में कराने पर चर्चा की गई थी। महामारी के कारण ना सिर्फ भारतीय खिलाड़ी बल्कि दुनियाभर के कई खिलाड़ी मैदान से बाहर चल रहे हैं। फ्रेंचाइजी टीमों की मुख्य चिंता इस बात को लेकर है कि छह सप्ताह चलने वाले टूर्नामेंट से पहले खिलाड़ियों को पर्याप्त प्रशिक्षण चाहिए।

समझा जाता है कि अगर आईपीएल को यूएई में कराया जाता है तो फ्रेंचाइजी टीमें वहां महीने भर पहले खिलाड़ियों के साथ पहुंचेगी ताकि यूएई सरकार के किसी भी क्वारेंटीन नियम का पालन किया जा सके।
यह भी समझा जाता है कि बीसीसीआई ने आईपीएल के फाइनल मुकाबले की संभावित तारीख सात नवंबर इसलिए चुनी है ताकि भारतीय टीम को दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज से पहले थोड़ा आराम दिया जा सके। (वार्ता)



और भी पढ़ें :