मंगलवार, 7 फ़रवरी 2023
  1. समाचार
  2. करियर
  3. समाचार
  4. bpsc paper leak bpsc pt paper leaked before exam examinees at a center in ara go on protest
Written By
Last Updated: रविवार, 8 मई 2022 (22:49 IST)

बिहार : 67वीं BPSC का पेपर टेलीग्राम पर हुआ लीक, रद्द की गई परीक्षा

पटना। BPSC PT Cancelled : बिहार लोकसेवा आयोग (BPSC) की 67वीं संयुक्‍त प्रारंभिक परीक्षा (BPSC 67th. Combined Preliminary Examination) को रद्द (BPSC PT Cancelled) कर दिया गया है। परीक्षा से पहले ही विभिन्‍न टेलीग्राम ग्रुप पर प्रश्न पत्र परीक्षा से कुछ मिनट पहले वायरल किए गए थे।
 
परीक्षा खत्म होने के बाद वायरल प्रश्न पत्र मूल प्रश्न पत्र से मैच कर गए। इसके पहले आरा के वीर कुंवर सिंह कालेज परीक्षा केंद्र पर सैकड़ों परीक्षार्थियों ने पेपर लीक के आरोप में हंगामा कर दिया। उनका आरोप था कि परीक्षा केंद्र पर कुछ परीक्षार्थियों को मोबाइल के साथ अंदर जाने की अनुमति दी गई दी गई। उन्‍हें समय से पहले ही प्रश्‍नपत्र लीक कर दिए गए तथा एक खास कमरे में बैठाकर परीक्षा ली गई जबकि अन्य परीक्षार्थियों को देर से पेपर दिए गए।

पीएससी की 67वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा का आयोजन रविवार को राज्य के अलग-अलग केंद्रों पर किया गया था। इस दौरान कई जिलों के परीक्षा केंद्रों से प्रश्न पत्र लीक होने की खबर आई। परीक्षा शुरू होने से लगभग एक घंटे पहले सोशल मीडिया (टेलीग्राम और कई व्हाट्सएप ग्रुप) में बीपीएससी का लीक प्रश्न-पत्र वायरल होने लगा।
 
परीक्षा समाप्त होने के बाद वायरल प्रश्न पत्रों से परीक्षा में आए सवालों का मिलान किया गया तो वायरल प्रश्न पत्र मैच कर गए। इसके बाद कई जगहों पर अभ्यर्थियों ने पेपर लीक को लेकर हंगामा और प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस बीच वायरल प्रश्न-पत्र को लेकर बीपीएससी हरकत में आया और मामले की जांच के लिए त्रिस्तरीय टीम का गठन कर दिया। टीम ने महज 3 घंटे के अंदर अपनी रिपोर्ट सौंप दी।
 
रिपोर्ट प्राप्त होते ही बीपीएससी ने प्रश्न-पत्र लीक होने की पुष्टि करते हुए बताया कि 67वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा से संबंधित प्रश्न-पत्र वायरल होने के संबंध में आयोग के अध्यक्ष ने मामले की जांच के लिए पदाधिकारियों की त्रि-स्तरीय टीम का गठन किया। टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जांच रिपोर्ट आज ही अध्यक्ष को सौंप दी।
 
आयोग ने कहा कि रिपोर्ट के आधार पर 8 मई को आयोजित 67वीं संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया गया। साथ ही वायरल प्रश्न-पत्र मामले की जांच साइबर सेल से कराये जाने के लिए राज्य के पुलिस महानिदेशक से अनुरोध किया गया है।